web analytics
Mon. Jan 30th, 2023
cbc test in hindi

CBC Test Kya hota hai? (cbc test in hindi) : वर्तमान में आपको बहुत सारे ब्लड टेस्ट देखने को मिलते है लेकिन आज हम आपको एक ऐसे ब्लड टेस्ट के बारे में बताने जा रहे है, जिसकी मदद से आपके सम्पूर्ण ब्लड की जाँच हो जाती है, इस ब्लड टेस्ट का नाम है सीबीसी टेस्ट| प्राचीन समय में लगभग सभी इंसान अपने आपको स्वस्थ रखना चाहते थे, इसलिए सभी इंसान स्वस्थ रहने के लिए अपने खान पान से लेकर अपनी दैनिक दिनचर्या का भी खास ख्याल रखते थे, लेकिन आज का समय बिलकुल अलग हो गया है| आज की मॉडर्न दुनिया में लगभग सभी इंसान पैसे कमाने के लिए परेशान है, पैसे कमाने के चक्कर में इंसान अपने स्वास्थ की तरफ देखना और सोचना भी भूल गया है, दूषित खान पान और अनियमित दैनिक दिनचर्या की वजह से इंसानो में कई तरह की बीमारियां देखने को मिल रही है| बीमारियो का पता लगाने के लिए डॉक्टर ब्लड टेस्ट कराने की सलाह देते है लेकिन सीबीसी ब्लड टेस्ट एक ऐसा टेस्ट है जिससे सम्पूर्ण शरीर के रोगो के बारे में जानकारी प्राप्त हो सकते है| सीबीसी टेस्ट को अंग्रेजी में CBC Test के नाम से पुकारा जाता है|

हालाँकि कुछ लोगो को सीबीसी टेस्ट के बारे में जानकारी होती है लेकिन अधिकतर इंसानो को सीबीसी टेस्ट के बारे में जानकारी नहीं होती है, जिन इंसानो को सीबीसी टेस्ट के बारे में जानकारी नहीं होती है वो अक्सर इंटरनेट पर सीबीसी टेस्ट क्या होता है?, CBC Test Kya hota hai, CBC Test Kya hota hai), सीबीसी टेस्ट से क्या पता चलता है, cbc test normal range, cbc test report, cbc test full form in hindi, cbc test in hindi price इत्यादि लिखकर सर्च करता है| अगर आपको CBC Test के बारे में जानकारी नहीं है तो परेशान ना हो क्योंकि हमारा यह पेज आपके बहुत ज्यादा लाभकारी साबित होने वाला है, आज हम अपने इस लेख में सीबीसी टेस्ट (CBC Test Kya hota hai) के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध करा रहे है, चलिए सबसे पहले हम आपको बताते है की आखिर सीबीसी टेस्ट क्या होता है

Table of Contents

सीबीसी टेस्ट क्या होता है? (CBC Test Kya hai) | what is cbc test in hindi

काफी सारे लोगो को यह नहीं पता होता है की सीबीसी टेस्ट कया है और सीबीसी टेस्ट किसलिए किया जाता है? तो हम आपको बता दें की सीबीसी टेस्ट एक तरह का ब्लड टेस्ट होता है, जिसमे ब्लड की सम्पूर्ण जांच की जाती है| कम्पलीट ब्लड काउंट टेस्ट पीड़ित की उम्र और लिंग के आधार पर की जाती है इसीलिए जब भी कोई इंसान सीबीसी टेस्ट करने जाता है तो उससे उसकी उम्र और लिंग के बारे में जानकारी ली जाती है, सीबीसी टेस्ट रिपोर्ट में टेस्ट में सामान्य गणना (cbc test report in hindi) को आपके ब्लड टेस्ट में आई गणना से तुलना की जाती है, जिससे यह पता चलता है की आपके ब्लड में कौन सी चीज बढ़ गई या कम हो गई है|

सीबीसी टेस्ट से ब्लड में मौजूद लाल रक्त कोशिकाएं(RBC), श्वेत रक्त कोशिकाएं (WBC), प्लेटलेट्स(Platelets), हीमोग्लोबिन (Hemoglobin), हेमेटोक्रिट, Mean Platelet Volume (MPV) इत्यादि के बारे में जानकारी प्राप्त होती है| cbc test report से एनीमिया, शरीर में संक्रमण और कैंसर इत्यादि बीमारियो के बारे में जानकारी प्राप्त होती है| चलिए अब हम आपको सीबीसी टेस्ट की फुल फॉर्म अंग्रेजी और हिंदी में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

CBC Test का फुल फॉर्म क्या है? (CBC test full form)

ऊपर आपने पढ़ा की सीबीसी टेस्ट कया होता है? अधिकतर लोगो को सीबीसी टेस्ट की फुल फॉर्म के बारे में जानकारी नहीं होती है, चलिए अब हम आपको CBC टेस्ट की फुल फॉर्म हिंदी और अंग्रेजी के बारे में नीचे जानकारी दे रहे है

CBC test full form in English – Complete Blood Count
CBC test full form in Hindi – संपूर्ण रक्त गणना

cbc test in hindi

CBC Test किन किन रोगों में करने की सलाह दी जाती है ? | CBC Test किस लिए किया जाता है?

यह तो आप समझ ही गए की सीबीसी टेस्ट खून की जाँच होती है, लेकिन बहुत सारे लोगो को यह नहीं पता होता है की CBC test किन बीमारियो के बारे में जानकारी करने के लिए किया जाता है या सीबीसी (cbc test in hindi) टेस्ट किन किन रोगो के कराने की सलाह दी जाती है? वैसे सीबीसी टेस्ट कब और किस बिमारी में करवाया जाता है इसकी सटीक जानकारी डॉक्टर ही बताते है| चलिए अब हम आपको उन रोगो के बारे में बता रहे है जिनमे सीबीसी टेस्ट करवाने की सलाह दी जाती है

  •  किसी भी इंसान के शरीर में किसी प्रकार का आम संक्रमण या शरीर में सूजन आ रही हो तो इनके पीछे का कारण जानने के लिए सीबीसी टेस्ट (cbc test in hindi) कराने की सलाह दी जाती है|
  • खून की कमी या एनीमिया रोग के बारे में पता करने के लिए सीबीसी (cbc test in hindi) टेस्ट करवाया जाता है|
  •  अगर किसी इंसान को बार बार बुखार आ रहा है तो कुछ मामलो में बुखार आने के पीछे का कारण जानने के लिए डॉक्टर सीबीसी टेस्ट (cbc test in hindi) कराने के लिए बोल देते है|
  • जब किसी भी इंसान को चक्कर आने की समस्या होती है तो चक्कर आने के कारण बहुत सारे होते है लेकिन कुछ कारणों का पता लगाने के लिए सीबीसी टेस्ट (cbc test in hindi) करवाया जाता है|
  •  पॉलिसाइथिमिया रोग के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए सीबीसी टेस्ट (cbc test in hindi) किया जाता है|
  •  सीबीसी टेस्ट (cbc test in hindi) के माध्यम से इस्नोफीलिया बिमारी के बारे जानकारी मिलती है|
  •  ल्यूकेमिया बीमारी के बारे जानकारी प्राप्त करने के लिए भी सीबीसी टेस्ट (cbc test in hindi) किया जाता है|
  • जब कोई भी इंसान ह्रदय से सम्बंधित परेशानी से पीड़ित होता है तो उसके कई सारे टेस्ट करवाए जाते है लेकिन कुछ चीजों के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए सीबीसी टेस्ट (cbc test in hindi) भी किया जाता है|
  •  यह तो हम सभी जानते है की कैंसर एक जानलेवा बिमारी होती है, कैंसर के बारे में पता करने के लिए डॉक्टर सीबीसी टेस्ट (cbc test in hindi) करवाते है|
  •  भूख कम लगने के कारणों के बारे में पता करने के लिए सीबीसी टेस्ट (cbc test in hindi) किया जाता है|
  •  सीबीसी टेस्ट (cbc test in hindi) के जरिए रक्तस्राव सम्बंधित विकारो के बारे में जानने के लिए भी किया जाता है|

सीबीसी टेस्ट से क्या पता चलता है | cbc test report in hindi

सीबीसी टेस्ट के बारे में आप ऊपर पढ़ चुके है, अब हम आपको बताते है की सीबीसी टेस्ट से आपको किन चीजों के बारे में जानकारी मिलती है| यह तो हम सभी अच्छी तरह से जानते है की शरीर में मौजूद ब्लड के अंदर कई सारी चीजे मौजूद होते है जिनकी कमी या बढ़ोतरी होने से कई सारे रोग हो जाते है| चलिए अब हम आपको बताते है की सीबीसी टेस्ट रिजल्ट (cbc test report in hindi) में किन किन चीजों के बारे में जानकारी प्राप्त होती है

सफेद रक्त कोशिका (White Blood Cell या WBC या ल्यूकोसाइट) की संख्या

ब्लड में सफ़ेद रक्त कोशिकाएं मौजूद होती है, सफ़ेद रक्त कोशिकाओं को अंग्रेजी में White Blood Cell कहा जाता है| सफ़ेद रक्त कोशिका हमारे शरीर में होने वाले संक्रमण को रोकने का काम करती है, शरीर में संक्रमण होने का प्रमुख कारण बैक्टीरिया या वायरस ही होता है, सफेद रक्त कोशिका बैक्टीरिया और वायरस को समाप्त करने का काम करती है| ब्लड में सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या के बारे में पता करने के लिए सीबीसी टेस्ट करवाया जाता है| सीबीसी टेस्ट रिपोर्ट (cbc test report in hindi) में अगर सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या कम आती है तो इंसान को संक्रमण या आने परेशानियां होने की प्रबल संभावना होती है| सफेद रक्त कणिकाएं पांच प्रकार की पाई जाती है जिनके नाम बेसोफिल, मोनोसाइट्स, न्यूट्रोफिल, ईोसिनोफिल और लिम्फोसाइट्स|

लाल रक्त कोशिका (Red Blood Cell या RBC)

ब्लड में लाल रक्त कोशिका भी मौजूद होती है, शरीर में मौजूद फेफड़ों से शरीर के सभी भागो तक ऑक्सीजन पहुँचाने का काम लाल रक्त कोशिका ही करती है| शरीर के सभी भागो से ऑक्सीजन पहुँचाने के साथ साथ कार्बन डाइऑक्साइड को वापस फेफड़ो तक पहुँचाने का काम लाल रक्त कोशिका ही करती है| सीबीसी टेस्ट (cbc test report in hindi) में ब्लड में मौजूद लाल रक्त कोशिका के संख्या के बारे में जानकारी मिलती है, रिपोर्ट में लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या कम हो जाती है तो इंसान को कई सारी बीमारियां होने की संभावना काफी ज्यादा होती है|

हीमोग्लोबिन (HB) की मात्रा

सीबीसी टेस्ट रिपोर्ट से ब्लड में हीमोग्लोबिन की मात्रा के बारे में जानकारी प्राप्त होती है, हीमोग्लोबिन ब्लड में मौजूद तत्वों में से महत्वपूर्ण तत्व होता है| हीमोग्लोबिन एक तरह का प्रोटीन होता है जो लाल रक्त कोशिकाओं को लाल रंग देने के साथ साथ शरीर में ऑक्सीजन पहुँचाने का काम करता है| सीबीसी टेस्ट रिजल्ट (cbc test report in hindi) में अगर हीमोग्लोबिन की मात्रा कम आती है तो इंसान के अंदर खून की कमी या एनीमिया रोग होने की प्रबल संभावना होती है| पुरुष और महिलाओ के शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा अलग अलग होती है|

हेमेटोक्रिट

हेमेटोक्रिट को पीसीवी पैक्ड सेल वॉल्यूम के नाम से भी जाना जाता है, सीबीसी टेस्ट रिपोर्ट (cbc test report in hindi) से हेमेटोक्रिट के बारे जानकारी प्राप्त होती है| हेमेटोक्रिट लाल रक्त कोशिका के रेश्यो के बारे में पता चलता है, अगर टेस्ट में हेमाटोक्रिट की मात्रा नार्मल से कम आती है तो इंसान के शरीर में आयरन या अन्य कमी हो सकती है और अगर हेमेटोक्रिट की मात्रा बढ़ी हुई आती है तो इंसान को डिहाइड्रेटेड और अन्य बीमारियां होने की संभावना होती है|

प्लेटलेट की संख्या

ब्लड में मौजूद सबसे छोटी रक्त कोशिका को प्लेटलेट्स कहा जाता है, सीबीसी रिपोर्ट (cbc test report in hindi) से इंसान के शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या के बारे में जानकारी मिलती है| ब्लड में मौजूद प्लेटलेट्स ब्लड में थक्के बनाने का काम करती है, थक्के की वजह से रक्तस्राव रुकता है| दरसल जब किसी भी वजह से हमारे शरीर में से खून बहने लगता है तो इस स्थिति में प्लेटलेट्स ही बहते हुए खून को रोकने का काम करती है|

मीन प्लेटलेट वॉल्यूम (Mean Platelet Volume या MPV)

सीबीसी रिपोर्ट (cbc test report in hindi) के माध्यम से मीन प्लेटलेट वॉल्यूम या MPV के बारे में जानकारी मिलती है, ब्लड में मौजूद प्लेटलेट्स की औसत और आकार और मात्रा के बारे में जानकारी CBC टेस्ट से पता चलता है| प्लेटलेट काउंट की मदद से कई सारी परेशानियां या बीमारियो के बारे में जानने के लिए CBC टेस्ट किया जाता है।

Mean Corpuscular Volume या MCV

सीबीसी टेस्ट रिपोर्ट (cbc test report in hindi) के जरिए Mean Corpuscular Volume के बारे में जानकारी मिलती है, Mean Corpuscular Volume से लाल रक्त कोशिका के आकार के बारे में पता चलता है|

सीबीसी टेस्ट के परिणाम और सामान्य सीमा – CBC test results or cbc test normal range

जब कोई भी इंसान CBC टेस्ट करवाता है तो रिपोर्ट आने के बाद इंसान को समझ में नहीं आता है की सीबीसी टेस्ट रिपोर्ट में कौन सी चीज बढ़ी हुई आई है या कम आई है| आमतौर पर देखा गया है की सीबीसी रिपोर्ट में नार्मल रेंज (cbc test normal range) की जानकारी दी हुई होती है, लेकिन फिर भी हम आपको सलाह देंगे की रिपोर्ट देखकर कभी खुद इलाज या किसी भी प्रकार की दवा का सेवन नहीं करना चाहिए| रिपोर्ट डॉक्टर को दिखानी चाहिए क्योंकि आपको कौन सी बिमारी या परेशानी है इसके बारे में सटीक जानकारी केवल डॉक्टर ही दे सकता है, चलिए अब हम आप सीबीसी टेस्ट नार्मल रेंज के बारे में बताते है

  • हीमोग्लोबिन – सबसे पहले हम आपको शरीर में हीमोग्लोबिन की नार्मल रेंज के बारे में बताते है| पुरुषो के शरीर में अगर हीमोग्लोबिन की मात्रा 13 से लेकर 16 g/dL के बीच में और महिला के शरीर में 11.5 से लेकर 14.5 g/dL के बीच में आती है तो शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा नार्मल (cbc test normal range) मानी जाती है
  • आरबीसी – सीबीसी रिपोर्ट में आरबीसी की मात्रा पुरुष में 4.32 से लेकर 5.72 million/ml और महिला में 3.92 से लेकर 5.13 million/ml आती है तो ऐसे में आरसीबी को नार्मल (cbc test normal range) कहा जाता है|
  • प्लेटलेट – किसी भी महिला या पुरुष के शरीर में मौजूद ब्लड में 1.5 से लेकर 4.5 lakh/ml के बीच में आती है तो प्लेटलेट की संख्या नार्मल (cbc test normal range) मानी जाती है|

सीबीसी टेस्ट कैसे होता है?

यह तो आप समझ ही गए होंगे की सीबीसी टेस्ट खून की जांच होती है| काफी सारे पुरुष और महिलाओ के मन में यह सवाल भी होता है की सीबीसी टेस्ट खाली पेट होता है या नहीं? आमतौर पर सीबीसी टेस्ट (cbc test in hindi) कराने के लिए मरीज को खाली पेट होने की जरूरत नहीं है। सीबीसी जांच करने के लिए इंसान आराम से खा पीकर जा सकता है लेकिन हम आपको सलाह देंगे की एक बार डॉक्टर से टेस्ट के बारे में पूछ लें की टेस्ट खाना खाकर करवाना है या खाली पेट करवाना है| सीबीसी टेस्ट करवाने में ज्यादा समय नहीं लगता है लेकिन इस टेस्ट की रिपोर्ट आने में एक से दो दिन का समय लग सकता है| सीबीसी जाँच कराने के लिए सबसे पहले लैब में जाना होगा जहाँ पर सीबीसी खून की जाँच होती है, लैब में पहुँचने के बाद नर्स या लैब टेक्नीशियन निडिल की मदद से थोड़ा ब्लड सैंपल के रूप में निकाल लेते है| फिर इस ब्लड सैंपल को टेस्ट करने के लिए लैब में भेज देते है, फिर एक से दो दिन के बाद टेस्ट की रिपोर्ट आ जाती है|

CBC Test की जांच किस आधार पर होती है

सीबीसी जाँच हमारे शरीर जानकारी प्राप्त करने के लिए बहुत ज्यादा जरुरी होता है, लेकिन कया आप जानते है की हमारे ब्लड में कितने तरह के सेल्स पाए जाते है? तो हम आपको बता दें की ब्लड में तीन तरह के ब्लड सेल्स लाल रक्त कोशिका (Red Blood Cells in hindi), सफेद रक्त कोशिका (White Blood Cells in hindi) और प्लेटलेट्स (Platelets in hindi) मौजूद होते है| ब्लड में मौजूद इन तीनो सेल्स के आधार पर ही सीबीसी टेस्ट किया जाता है और इन्ही सेल्स के आधार पर बीमारियो के बारे में जानकारी मिलती है|

प्रेग्नेंसी में सीबीसी टेस्ट – CBC Test in Pregnancy

प्रेग्नेंसी के दौरान महिला की कई तरह जाँच की जाती है, गर्भावस्था में महिला के शरीर कई तरह के बदलाव देखने को मिलते है| प्रेग्नेंसी में महिला को संक्रमित होने की संभावना काफी ज्यादा होती है, अधिकतर मामलो में स्त्री रोग विशेषज्ञ प्रेग्नेंट महिला की सीबीसी जाँच करवाती है| सीबीसी जाँच (cbc test in hindi) कराने के पीछे का मुख्य कारण मां और शिशु दोनों की सुरक्षा का ख्याल रखते हुए किया जाता है, माँ के शरर में किसी भी प्रकार की कमी का असर शिशु के शरीर पर पढता है, प्रेग्नेंट महिला के शरीर में संक्रमण या खून की कमी या इत्यादि कमियों के बारे में जानकारी सीबीसी रिपोर्ट से पता चलता है| सीबीसी रिपोर्ट में आने वाली कमियों को दूर करने के लिए महिला को दवा दे दी जाती है, प्रेग्नेंसी में निम्नलिखित कमी देखने को मिल सकती है

  1. लाल रक्त कोशिकाएं – प्रेग्नेंसी में माँ के द्वारा ही उसके अंदर पल रहे शिशु को ऑक्सीजन मिलती है, गर्भवती महिला के शरीर में होने वाले ब्लड सर्कुलेशन से शिशु को ऑक्सीजन प्राप्त होती है| लाल रक्त कोशिकाओं के द्वारा भ्रूण को ऑक्सीजन और पोषक तत्वों पहुँचते है, प्रेग्नेंट महिला की सीबीसी (cbc test in hindi) रिपोर्ट में आरबीसी कम आता है तो इसका मतलब महिला के शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होती है जिसकी वजह से महिला को थकान की परेशानी हो सकती है|
  2. सफेद रक्त कोशिकाएं – खून में लाल के साथ साथ सफेद रक्त कोशिका भी होती है, प्रेगनेंट महिला के शरीर में ब्लड से सम्बंधित परेशानियो के बारे में जानकारी सफेद रक्त कोशिका के द्वारा ही पता चलता है| सीबीसी (cbc test in hindi) रिपोर्ट से प्रेग्नेंट महिला के शरीर में मौजूद सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्याओ के बारे में पता चलता है|
  3. प्लेटलेट्स की सँख्या – किसी भी गर्भवती महिला के शरीर में प्लेटलेट्स की मात्रा कम नहीं होनी चाहिए, सीबीसी (cbc test in hindi) रिपोर्ट में प्लेटलेट्स की सँख्या ज्यादा आती है तो इसकी वजह से आंतरिक रक्त के थक्के और रक्तस्राव की परेशानी हो सकती है| प्लेटलेट्स की सँख्या कम होने की वजह से ब्लड के थक्के बनने की परेशानी को बाधित कर सकता है|

बच्चों का CBC Test

वर्तमान में बच्चो के शरीर में भी कई तरह की परेशानियां या बीमारियां देखने को मिलती है, ऐसे में जब बच्चे को डॉक्टर के पास लेकर जाया जाता है तो डॉक्टर बच्चे की बिमारी देखकर कुछ मामलो में सीबीसी टेस्ट करवाने की सलाह देते है| सीबीसी टेस्ट रिपोर्ट (cbc test in hindi) से बच्चे में खून की कमी या संक्रमण या अन्य परेशानियो के बारे में जानकारी मिलती है, जिससे बच्चे की बिमारी का पता चल जाती है| आमतौर पर बच्चो में CBC टेस्ट कम ही देखने को मिलता है लेकिन कुछ खास मामलो में सीबीसी टेस्ट किया जाता है|

CBC टेस्ट का प्राइस कितना होता है? | cbc test in hindi price

सीबीसी टेस्ट  के बारे में आप ऊपर पढ़ चुके है, अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा की सीबीसी टेस्ट कितने रूपए में होता है? दरसल CBC टेस्ट के प्राइस भारत के अलग अलग शहरो में अलग अलग हो सकती है, आमतौर सीबीसी टेस्ट की कीमत 300 रूपए से लेकर 800 रूपए तक होती है| लेकिन बड़े हॉस्पिटल या लैब की कीमत छोटी लैब के मुकाबले थोड़ी अधिक होती है, इसीलिए सीबीसी टेस्ट के प्राइस के बारे में सही जानकारी आपको आपके पास की लैब से पता चलती है|

निष्कर्ष – हम आशा करते है की आपको हमारे लेख cbc test in hindi | सीबीसी टेस्ट क्या है? | CBC Test Kya hota hai? | cbc test normal range में बताई गई जानकारी अच्छी लगी होगी, लेकिन अगर आप हमारे लेख में दी गई जानकारी से संतुष्ट नहीं है तो आप गूगल या बिंग पर सीबीसी टेस्ट क्या है? लिखकर और अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते है|

error: Content is protected by DCMA !!