web analytics
Sun. Sep 25th, 2022
mote hone ki homeopathic dawa

वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा (mote hone ki homeopathic dawa ) – जब कोई भी महिला या पुरुष का वजन कम होता है तो वो अपना वजन बढ़ाने के लिए बहुत ज्यादा परेशान रहते है। पतले इंसान मोटे होने के लिए अलग अलग उपाय अपनाते है, कुछ इंसान मोटे होने का पॉउडर या मोटे होने की अंग्रेजी दवा का उपयोग करते है। कुछ मामलो में देख गया है वजन बढ़ाने का पॉउडर या वजन बढ़ने की एलोपेथिक दवा का सेवन करने के साइड इफेक्ट देखने को मिल सकते है इसीलिए साइड इफेक्ट से बचने के लिए आज भी अधिकतर मोटे होने के घरेलू उपाय और होम्योपैथिक दवा का सहारा लेना ज्यादा पसंद करते है,  वजन बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय और होम्योपैथिक दवा को सबसे सुरक्षित इलाज माना जाता है|

जिन इंसानो को मोटे होने की बेस्ट होम्योपैथिक दवा के बारे में जानकारी नहीं होती है वो इंटरनेट का सहारा लेते है, ऐसे महिला या पुरुष इंटरनेट पर मोटे होने की होम्योपैथिक दवा, वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा, जल्दी मोटा होने की होम्योपैथिक दवा का नाम, तेजी से वजन बढ़ाने की दवा का नाम, मोटे होने की बेस्ट होम्योपैथिक दवा, मोटे होने की होम्योपैथिक दवा का नाम बताओ, वजन बढ़ाने की सबसे अच्छी होम्योपैथिक दवा का नाम कया है? mote hone ki homeopathic dawa, vajan badhane ki homeopathic dawa इत्यादि लिखकर सर्च करते है।

अगर आप अपना वजन सुरक्षित तरीके बढ़ाना चाहते है तो आपके लिए मोटे होने की होम्योपैथिक दवा (mote hone ki homeopathic dawa )  सबसे ज्यादा फायदेमंद हो सकती है। आज हम आपको अपने इस लेख में तेजी से वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है। लेकिन वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा का सेवन करने से पहले होम्योपैथिक डॉक्टर से परामर्श जरूर लें

Table of Contents

वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा,  mote hone ki homeopathic dawa

मोटे होने के लिए होम्योपैथिक इलाज को सबसे ज्यादा कारगार मन जाता है, मोटे होने की होम्योपैथिक दवा का सेवन करने से प्राकृतिक रूप से वजन बढ़ता है। चलिए अब हम आपको वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा या मोटे होने बेस्ट होम्योपैथिक दवा के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है, जल्दी वजन बढ़ाने के लिए निम्न दवाओं का सेवन होम्योपैथिक डॉक्टर से परामर्श लेने के बाद करें

1 – मोटे होने की सबसे अच्छी होम्योपैथिक दवा का नाम है नेट्रम मुर – vajan badhane ki homeopathic dawa

जब किसी भी इंसान का वजन कम होता है तो उसे कही ना कही अंदर अंदर वजन कम होने की टेंशन रहती है कुछ मामलो में दुबला इंसान अपने आपको दुनिया से भी अलग कर लेता है। हालाँकि दुबले होने या वजन कम करने के पीछे काफी सारे कारण हो सकते है हालाँकि दुबले इंसान को सबसे पहले वजन कम होने के कारण की जानकारी होना बहुत जरुरी है। आज के समय में अधिकतर इंसान किसी ना किसी प्रकार के मानसिक तनाव से गुजर रहे है, मानसिक तनाव से पीड़ित इंसान का मन किसी भी काम में नहीं लगता है और ना ही भूख लगती है। अगर पीड़ित इंसान जल्दी तनाव से बाहर ना निकलें तो इंसान का वजन कम होने लगता है ऐसे में इंसान मोटे होने की होम्योपैथिक दवा (mote hone ki homeopathic dawa) का सहारा ले सकता है।

अगर आपका वजन तनाव की वजह से कम हो रहा है तो आपके लिए वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा नेट्रम मुर फायदेमंद साबित हो सकती है। रोजाना सुबह और शाम इस इस होम्योपैथिक दवा का सेवन करने से बहुत जल्द तनाव से आराम मिलने के साथ साथ भूख भी बढ़ने लगती है और जब किसी भी इंसान की भूख बढ़ने लगती है तो धीरे धीरे वजन भी बढ़ने लगता है। हालाँकि इस होम्योपैथिक दवा के साइड इफेक्ट मुश्किल से देखने को मिलते है लेकिन फिर भी हम सलाह देंगे की मोटे होने होम्योपैथिक दवा (weight gain homeopathic medicine in hindi) का सेवन करने से पहले होम्योपैथिक डॉक्टर से परामर्श जरूर ले।

2  –  दुबलेपन को दूर करने की होम्योपैथिक दवा का नाम है लाइकोपोडियम – मोटे होने की होम्योपैथिक दवा

कुछ इंसान खाना सही खाते है लेकिन फिर भी वो पतले होते है या उनका वजन नहीं बढ़ रहा है तो इसके पीछे का कारण आपका पाचन तंत्र सही से काम ना करना भी हो सकता है। अगर आपका खाना सही से हजम नहीं हो रहा है या आपका लिवर ठीक से काम नहीं कर रहा है तो मोटा होने की होम्योपैथिक दवा ( teji se vajan badhane ki homeopathic dawa ) पैन लाइकोपोडियम आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है। वजन बढ़ाने में सहायक होती है होम्योपैथिक दवा लाइकोपोडियम का निर्माण लाइकोपोडियम क्लैवाटम पौधे के बीजो के द्वारा होता है।

रोजाना इस होम्योपैथिक दवा का सेवन करने से कुछ दिनों में ही आपका पाचन तंत्र मजबूत होने के साथ साथ लिवर भी मजबूत हो जाता है, जब किसी भी इंसान का पाचन तंत्र बेहतर तरीके से काम करता है तो इंसान को खाया पिया लगता है। जब इंसान को खाया पिया लगता है तो वजन भी बढ़ने लगता है अगर आप अपना वजन तेजी से बढ़ाना चाहते है तो मोटे होने की होम्योपैथिक दवा (weight gain homeopathic medicine in hindi) का सेवन होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह से करें।

3  –  जल्दी मोटे होने की होम्योपैथिक दवा का नाम है आर्सेनिकम एल्बम – teji se vajan badhane ki homeopathic dawa

काफी इंसानो को खाना खाने के बाद पेट में जलन या दर्द की परेशानी होती है हालाँकि इस जलन और दर्द के कई सारे कारण हो सकते है, अगर आपको खाना सही से पांच नहीं रहा है तो आप जो भी खाते है उसका लाभ आपके शरीर को नहीं लगता है| ऐसे इंसान चाहे जितना खा लें लेकिन उनका वजन नहीं बढ़ता है, अगर आप भी ऐसी ही समस्या से पीड़ित है तो आपके लिए मोटे होने का होम्योपैथिक इलाज फायदेमंद हो सकता है| होम्योपैथिक में कई सारी ऐसी दवा मौजूद है जो पेट से सम्बंधित परेशानियो को दूर करने में सहायक होती है, मोटे होने की होम्योपैथिक दवा (mote hone ki homeopathic dawa) आर्सेनिकम एल्बम भी काफी प्रसिद्ध दवा है|

नियमित रूप से सुबह और शाम वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा का सेवन करने से बहुत जल्द आपका पाचन तंत्र बेहतर होने लगेगा और जो भी खाते है वो भी शरीर पर लगने लगेगा और जब किसी भी इंसान को खाई पिया लगता है तो धीरे धीरे इंसान का वजन भी बढ़ने लगता है, जल्दी वजन बढ़ाने (weight gain homeopathic medicine in hindi) के लिए इस दवा का सेवन होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह से करें|

4  –  जल्दी वजन बढ़ाने की बेस्ट होम्योपैथिक दवा है पल्सेटिला – दुबलेपन की होम्योपैथिक दवा

पतला इंसान अपना वजन बढ़ाने के लग अलग उपाए अपनाता है कुछ इंसान बहुत ज्यादा खाने की कोशिश करने लगता है क्योंकि उन्हें लगता है की ज्यादा खाना खाने से उनका वजन जल्दी बढ़ने लगेगा| हालाँकि यह सच नहीं है मोटे होने के लिए सबसे जरुरी यह है की जो आप खा रहे है वो आपके शरीर को लगना भी चाहिए, अगर आप अपना वजन तेजी से बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा सर्च कर रहे है तो आपके लिए मोटे होने की होम्योपैथिक दवा (teji se vajan badhane ki homeopathic dawa) पल्सेटिला काफी लाभकारी साबित हो सकती है| रोजाना सुबह और शाम इस दवा का सेवन सिमित मात्रा में करने से जल्द आपको अपने वजन में फर्क दिखाई देने लगता है, फिर भी हम सलाह देंगे की होम्योपैथिक डॉक्टर के परामर्श से इस दवा का सेवन करने से जल्द लाभ मिलता है|

5  – मोटे होने की बेस्ट होम्योपैथिक दवा का नाम है चेलिडोनियम माजुस – मोटा होने की होम्योपैथिक दवा

मोटे होने की होम्योपैथिक दवा (mote hone ki homeopathic dawa) चेलिडोनियम वजन बढ़ाने के लिए काफी ज्यादा लाभकारी दवा मानी जाती है, रोजाना सुबह और शाम वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा का सेवन करने से जल्द वजन में फर्क दिखाई देने लगता है| दुबलेपन को दूर करने की होम्योपैथिक दवा वजन बढ़ाने के साथ साथ कई अन्य परेशानियो जैसे दिन भर सुस्ती रहने की समस्या को समाप्त करने में, भूख बढ़ाने में, लीवर की परेशानी को दूर करने में, पित्त से सम्बंधित परेशानी को दूर करने में, मुंह में कड़वापन और पेट में जलन इत्यादि परेशानियो को दूर करने में सहायक होती है| रोजाना मोटे होने की होम्योपैथिक दवा चेलिडोनियम माजुस का सेवन सुबह और शाम करने से जल्द लाभ मिलता है, होम्योपैथिक दवा का सेवन करने से पहले होम्योपैथिक डॉक्टर से परामर्श लें|

मोटे होने की होम्योपैथिक दवा के फायदे व नुकसान

पतले इंसान मोटे होने के लिए या वजन बढ़ाने के लिए बहुत ज्यादा परेशान रहते है, अगर आप भी वजन बढ़ने के लिए होम्योपैथिक इलाज को अपना रहे है तो आपको होम्योपैथिक दवा का सेवन करते समय कुछ बातो का खास ख्याल रखना चाहिए| अगर आप वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा (weight gain homeopathic medicine in hindi) का सेवन कर रहे है तो एक बात का ख़ास ख्याल रखें की होम्योपैथिक दवा का सेवन करने से आधा घंटा पहले और आधा घंटा बाद तक किसी भी प्रकार के खाद्य पदार्थ का सेवन नहीं करना है| चलिए अब हम आपको मोटे होने की होम्योपैथिक दवा के फायदे और नुक्सान के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

मोटा होने की होम्योपैथिक दवा के फायदे

यदि आप अपने वजन बढ़ाने के लिए किसी होम्योपैथिक इलाज का सहारा लेते हैं तो होम्योपैथिक दवा आपके लिए बेहतर साबित हो सकती है। नियमित रूप से वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा का सेवन करने से कुछ दिनों में ही फर्क दिखाई देने लगता है| चलिए अब हम आपको मोटे होने की होम्योपैथिक दवा के फायदे (weight gain homeopathic medicine in hindi) के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

  • मोटे होने की होम्योपैथिक दवा एलोपैथिक दवा के मुकाबले ज्यादा सुरक्षित मानी जाती है, होम्योपैथिक दवा का असर एलोपेथिक दवा की तुलना में थोड़ी देर से देखने को मिलता है|
  • होम्योपैथिक दवा के साइड इफेक्ट्स एलोपेथिक दवा के मुकाबले काफी कम होते हैं।
  • अगर आप मोटा होना चाहते है तो मोटे होने की होम्योपैथिक दवा आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकता है|

मोटा होने की होम्योपैथिक दवा के नुकसान

जिस तरह से होम्योपैथिक दवा के फायदे होते है उसी तरह उसके कुछ नुक्सान भी होते है, वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा का सेवन करते समय कुछ सावधानी रखना बहुत जरूरी है| अगर आप उन सावधानियो को नहीं अपनाते है तो आपको होम्योपैथिक दवा के नुक्सान भी देखने को मिल सकते है| दवा का सेवन करते समय निम्न चीजों का ध्यान जरूर रखें

  • अगर आप मोटे होने की दवा का सेवन कर रहे है तो आपको उस समय पर किसी भी प्रकार की अन्य दवाओं का सेवन करने से बचना चाहिए|
  • होम्योपैथिक दवा खाने से लगभग आधा घंटा पहले और बाद तक कुछ भी खाना नहीं चाहिए|
  • मोटे होने की होम्योपैथिक दवा का सेवन करते समय खट्टे पदार्थों का सेवन करने से बचना चाहिए|

निष्कर्ष – हम आशा करते है की आपको हमारे लेख मोटे होने की होम्योपैथिक दवा (weight gain homeopathic medicine in hindi) या वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा में दी गई जानकारी पसंद आई होगी ऊपर बताई गई होम्योपैथिक दवा वजन बढ़ाने में काफी असरदायक होती है लेकिन अगर आप इन दवाओं के अलावा के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप गूगल या बिंग पर मोटे होने की होम्योपैथिक दवा (mote hone ki homeopathic dawa) या वजन बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा लिखकर सर्च कर सकते है|

अन्य बीमारियो के लिए होम्योपैथिक दवा

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa