web analytics
Sun. Sep 25th, 2022
lahsun ke fayde

लहसुन खाने के फायदे और नुक्सान (lahsun ke fayde aur nuksan) – लहसुन को अंग्रेजी में गार्लिक कहा जाता है और शायद ही कोई घर हो जिसमे लहसुन का इस्तेमाल ना किया जाता हो यह तो सभी जानते ही है की लहसुन खाने का स्वाद बढ़ाता है| लेकिन कया आप जानते है लहसुन खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ साथ कई सारी परेशानियो को भी दूर करने में सहायक होता है| प्राचीन समय से लहसुन का उपयोग एक महत्वपूर्ण औषधीय के रूप में होता आया है, लहसुन के औषधीय गुणों को देखते हुए आज हम आपने इस लेख में लहसुन के फायदे और नुक्सान के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है|

काफी सारे इंसान ऐसे भी है जिन्हे लहसुन के फायदों के बारे में जानकारी नहीं होते है या वो नहीं जानते की लहसुन से बीमारियो का इलाज कैसे किया जाता है ऐसे में वो इंटरनेट का सहारा लेते है और इंटरनेट पर लहसुन के फायदे, लहसुन के फायदे कया है, लहसुन के फायदे इन हिंदी, लहसुन एक फायदे और नुक्सान बताओ, गार्लिक के फायदे, लहसुन के लाभ, lahsun ke fayde aur nuksan, benefits of garlic in hindi इत्यादि लिखकर सर्च करते है| चलिए अब हम आपको लहसुन के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है|

Table of Contents

लहसुन कितने प्रकार का होता है

भारत में रहने वाले अधिकतर इंसान सफ़ेद लहसुन का इस्तेमाल ज्यादा करते है लेकिन अगर दुनिया भर की बात करें तो लहसुन की 300 से भी ज्यादा किस्मे उपलब्ध है|

राष्ट्रीय लहसुन दिवस कब मनाया जाता है ?

लहसुन के फायदों को देखते हुए राष्ट्रीय लहसुन दिवस 19 अप्रैल को मनाया जाता है।

अलग अलग भाषाओं में लहसुन के नाम (Name of Garlic in Different Languages)

लहसुन को इंग्लिश में गार्लिक के नाम से जाना जाता है| लहसुन का वानस्पतिक नाम एलियम सैटिवुम एल होता है| लहसुन  को अलग अलग भाषा में अलग अलग नामो से पुकारा जाता है, चलिए अब हम आपको अलग अलग भाषाओ में लहसुन के नाम के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

  • Garlic Name in Sanskrit or lahsun in Sanskrit – लहसुन,रसोन,उग्रगन्ध,महौषध
  • Garlic Name in Hindi  – लहसुन
  • Garlic Name in Gujarati or lahsun in Gujarati – शूनम (Shunam)
  • Garlic Name in Telugu or lahsun in Telugu – वेल्लुल्लि (Velulli)
  • Garlic Name in Tamil or lahsun in tamil – वेल्लापुंडू (Vallaipundu)
  • Garlic Name in Bengali or lahsun in Bengali – रसून (Rasoon)
  • Garlic Name in Nepali or lahsun in Nepali – लसुन (Lasun)
  • Garlic Name in Punjabi or lahsun in Punjabi – लहसुन
  • Garlic Name in Marathi or lahsun in Marathi – लसूण (Lasun)
  • lahsun Name in English – Garlic
  • Garlic Name in Arabic or lahsun in Arabic – सूम (Soom)
  • Garlic Name in Persian or lahsun in Persian – सीर (Seer)

lahsun ke fayde

लहसुन के फायदे | कच्चा लहसुन खाने के लाभ | lahsun ke fayde

लहसुन के फायदे कई सारी परेशानियो को दूर करने में देखे जा सकते है, यह तो आप समझ ही गए होंगे की लहसुन में कितने ज्यादा पोषक तत्व पाएं जाते है| चलिए अब हम आपको गार्लिक के फायदे या लहसुन के लाभ (lahsun ke fayde) के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है -,

पाइल्स में गार्लिक के फायदे (benefits of garlic in hindi)

लहसुन का लाभ (lahsun ke fayde) पाइल्स या बवासीर की परेशानी में भी देखने को मिलते है, लहसुन को पाइल्स का आयुर्वेदिक इलाज के रूप में भी जाना जा सकता है| लहसुन में मौजूद औषधीय गुण बवासीर के लक्षणों को कम करने में मददगार होते है, नियमित रूप से लहसुन का सेवन करने से जल्द आराम मिलता है| लेकिन हम आपको सलाह देंगे की बवासीर की परेशानी होने पर सबसे पहले  डॉक्टर को दिखाएं आपकी बिमारी की गंभीरता के अनुसार इलाज करने से जल्द लाभ मिलता है|

कान दर्द में लहसुन के फायदे (benefits of garlic in hindi)

कान में दर्द की समस्या बहुत ही आम है, हालाँकि कान में दर्द की समस्या होने पर सबसे पहले कान में दर्द होने का कारण जानना चाहिए| अगर कान में दर्द संक्रमण की वजह से हो रहा है तो ऐसे कान दर्द में लहसुन एक लाभ देखे जा सकते है, लहसुन में मौजूद औषधीय, दर्द निवारक गुण (lahsun ke fayde) और एंटी माइक्रोबियल गुण इंफेक्शन को कम करने के साथ साथ दर्द से भी राहत दिलाने में मददगार साबित होते है|

सबसे पहले लहसुन की कलियाँ लेकर उन्हें छीलकर बारीक काट लें, फिर थोड़ा सा सरसो का तेल गर्म होने के लिए रख दें फिर सरसो के तेल में बारीक कटे हुए लहसुन को डालकर तेल को अच्छी तरह से गर्म कर लें| जब लहसुन हल्का भूरा हो जाएं तो गैस बंद कर दें, जब तेल हल्का गुनगुना रह जाएं तो तेल की एक या दो बूँद दर्द वाले कान में डाल लें (ख्याल रखें की कान में केवल तेल डालना है लहसुन के टुकड़ें नहीं), जल्द ही कान दर्द में आराम मिल जाएगा| अगर दर्द कम नहीं हो रहा है तो डॉक्टर से जाँच और इलाज कराएं।

किडनी संक्रमण में लहसुन के फायदे (benefits of garlic in hindi)

लहसुन के मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व किडनी संक्रमण की रोकथाम करने एम्में मददगार होते है| अगर आप किडनी संक्रमण की समस्या से पीड़ित है और आप किडनी संक्रमण का घरेलु इलाज ढूंढ रहे है तो लहसुन आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकता है| नियमित रूप से लहसुन का सेवन करने से जल्द किडनी संक्रमण की समस्या में आराम प्राप्त होता है|

हाई बीपी में लहसुन के फायदे (benefits of garlic in hindi)

आज के समय में काफी सारे पुरुष और महिला हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित है, ऐसे में इंसान हाई ब्लड प्रेशर को कम करने के घरेलू उपाय सर्च करता है| लेकिन कया आप जानते है की लहसुन से हाई ब्लड प्रेशर को संतुलित किया जा सकता है, दरसल लहसुन में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व जैसे बायोएक्टिव सल्फर यौगिक और एस-एललिस्सीस्टीन इत्यादि हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में मददगार होते है| नियमित रूप से लहसुन का सेवन करने से जल्द हाई ब्लड प्रेशर की समस्या में आराम मिलता है|

कोलेस्ट्रॉल कम करने में लहसुन के फायदे (benefits of garlic in hindi)

हमारे शरीर में अच्छा और बुरा दोनों तरह के कोलेस्ट्रॉल मौजूद होते है, लेकिन जब शरीर में ख़राब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है तो इंसान को कई घातक बिमारी होने की सम्भावना रहती है| लहसुन के लाभ कोलेस्ट्रॉल कम करने में भी देखे जा सकते है, पुराने लहसुन में मौजूद औषधीय और एंटी-हाइपरलिपिडेमिया गुण कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होते है| नियमित रूप से पुराने लहसुन का सेवन करने से जल्द कोलेस्ट्रॉल की समस्या से आराम मिलता है|

कैंसर से बचाव करने में लहसुन के लाभ (benefits of garlic in hindi)

लहसुन में औषधीय गुण के साथ साथ एंटी-कैंसर गुण भी मौजूद होते है जो कैंसर से बचावव करने में मददगार साबित होते है| हम आपको बता दें की कैंसर एक जानलेवा बिमारी है और लहसुनकैंसर का इलाज नहीं कर सकता है इसीलिए कैंसर के लक्षण दिखाई देने पर लापरवाही बिलकुल ना करें तुरंत डॉक्टर से परामर्श और इलाज कराएं| नियमित रूप से लहसुन का सेवन करने से आप अपने आपको कैंसर से बचा जरूर सकते है|

हड्डियों को मजबूत बनाने में लहसुन के फायदे (benefits of garlic in hindi)

जब किसी भी महिला या पुरुष के शरीर में मौजूद हड्डियां कमजोर हो जाती है तो इंसान को कई सारी परेशानी जैसे जोड़ो में दर्द होना या गठिया रोग होना इत्यादि का सामना करना पड़ सकता है| शरीर की हड्डियों के कमजोर होने का प्रमुख कारण कैल्शियम की कमी होती है, लहसुन के लाभ हड्डियों को मजबूती प्रदान करने में भी देखे जा सकते है| लहसुन में मौजूद औषधीय गुण और एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-अर्थराइटिक प्रभाव हड्डियों को मजबूती प्रदान करने के साथ साथ गठिया की परेशानी से बचाव करने में मददगार होते है| नियमित रूप से कच्चा लहसुन खाने से जल्द हड्डियों की कमजोरी दूर होने लगती है|

लहसुन के फायदे त्वचा की खुजली में (benefits of garlic in hindi)

शरीर की किसी भी हिस्से में खुजली की समस्या हो सकती है, त्वचा में खुजली आना आम बात है| त्वचा में खुजली होना कोई गंभीर स्थिति है लेकिन अगर खुजली बार आ रही है तो आपको खुजली का इलाज करने की जरुरत है| लहसुन के लाभ खुजली में भी देखे जा सकते है, लहसुन में मौजूद गुण त्वचा की खुजली को समाप्त करने में मददगार साबित होते है| सबसे पहले लहसुन की कली लेकर उन्हें छील लें, फिर छिली हुई लहसुन की कली को खुजली वाले स्थान पर हल्के हाथो से घिसने पर जल्द खुजली से आराम मिलता है|

लहसुन के फायदे मुहांसे का इलाज़ करने में (benefits of garlic in hindi)

मुहाँसें या एक्ने की परेशानी किसी भी महिला या पुरुष के सकती है, लहसुन से मुहांसे का इलाज आसानी से किया जा सकता है| लहसुन में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व मुहांसो की समस्या से छुटकारा दिलाने में सहायक होते है, मुहांसे की परेशानी कोई गंभीर परेशानी नहीं है लेकिन कुछ मामलो में मुंहांसो में दर्द की समस्या भी हो जाती है| मुहांसो का उपचार लहसुन से करने के लिए सबसे पहले लहसुन की कली को छीलकर लहसुन पर घिसें| दिन में दो से तीन बार लहसुन घिसने से जल्द मुहांसो की समस्या से आराम मिलता है|

स्ट्रेच मार्क्स दूर करने में लहसुन के फायदे (benefits of garlic in hindi)

स्क्रेच मार्क्स की परेशानी पुरुष और महिला दोनों में देखने को मिलती है, हालाँकि स्ट्रेच मार्क्स कोई गंभीर बिमारी नहीं है लेकिन स्ट्रेच मार्क्स इंसान एक शरीर की ख़ूबसूरती कम कर देते है| लेकिन कया आप जानते है की लहसुन से स्ट्रेच मार्क्स का इलाज किया जा सकता है, सबसे पहले लहसुन की चार से पांच कलियाँ लेकर उन्हें छीलकर बारीक टुकड़ो में काट लें उसके बाद थोड़ा सा सरसो का तेल लेकर गर्म होने के लिए रख दें| फिर तेल में कटा हुआ लहसुन डालकर थोड़ा सा पका लें, फिर इस तेल से स्ट्रेच मार्क्स वाली जगह पर लगा कर हल्के हाथ से मालिश करें| नियमित रूप से इस तेल का इस्तेमाल करने से जल्द स्ट्रेच मार्क्स हल्के पढ़ने लगते है|

लहसुन के फायदे झुर्रियों के लिए (benefits of garlic in hindi)

जैसे जैसे इंसान की उम्र बढ़ती है इंसान के चेहरे पर झुर्रियों की समस्या होने लगती है, लेकिन आजकल कम उम्र में भी झुर्रियों की समस्या देखने को मिलती है| लहसुन में मौजूद औषधीय गुण और त्वचा से संबधित पपरेशानियो को दूर करने वाले तत्व झुर्रियों की समस्या को समाप्त करने में मददगार होते है| रोजाना सुबह खाली पेट एक लहसुन की कली को थोड़े से शहद के साथ खाने से कुछ दिनों में ही झुर्रियां कम होने लगती है|

लहसुन के लाभ बड़े रोमछिद्रों की समस्या को दूर करने में (benefits of garlic in hindi)

जब किसी भी महिला या पुरुष के चेहरे की त्वचा के रोमछिद्र बड़े हो जाते है तो बड़े रोमछिद्रो की वजह से इंसान को की सारी परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है| यह तो आप जानते ही है की लहसुन के फायदे त्वचा के लिए काफी सारे होते है जिनमे से एक फायदा रोमछिद्रो के लिए भी होता है| सबसे पहले तीन से चार लहसुन की कलियों को लेकर उन्हें छीलकर महीन पीस कर पेस्ट बना लें, फिर आधे टमाटर का गुद्दा निकाल लें, अब टमाटर के गुद्दे और लहसुन के पेस्ट दोनों को अच्छी तरह से मिलकर चेहरे पर अच्छी तरह से लगा लें| फिर लगभग 20 से 30 मिनट इस पेस्ट को लगा रहने दें उसके बाद चेहरे को ताजे पानी से धो लें, हफ्ते में दो से तीन बार इस मिश्रण को लगाने से जल्द परिणाम मिलते है|

लहसुन के फायदे नाखूनों को मजबूत बनाने में (benefits of garlic in hindi)

अगर आपके नाख़ून कमजोर है या नाखूनों पर पीलापन आ रहा है तो आपकी इस प्रकार की समस्याओ को समाप्त करने में लहसुन के लाभ देखे सा सकते है| अगर आप नाख़ून को मजबूत बनाने के उपाय या नाखुनो का पीलापन दूर करने के उपाय ढूंढ रहे है तो लहसुन आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है| लहसुन में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व नाखुनो को मजबूत बनाने के साथ साथ नाखुनो का पीलापन भी दूर करने में सहायक होते है| सबसे पहले लहसुन की कलियाँ लेकर उन्हें महीन पीसकर छान लें, फिर छने हुए लहसुन के रस को नाखुनो पर अच्छी तरह से लगाकर 20 से 30 मिनट के लिए छोड़ दें फिर ताजे पानी से नाखुनो को धो लें| हफ्ते में दो से तीन बार लहसुन का रस नाखुनो पर लगाने से जल्द लाभ मिलता है|

लहसुन के फायदे त्वचा के दाग धब्बे दूर करने में (benefits of garlic in hindi)

अगर आप दाग धब्बे की परेशानी से पीड़ित है और आप आप चेहरे के दाग धब्बे हटाने के उपाय ढूंढ रहे है तो लहसुन आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है| सबसे पहले लहसुन की कलियाँ लेकर छील लें, फिर इन्हे पीस कर महीन पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट को चेहरे पर दाग धब्बे वाली जगह पर अच्छी तरह से लगा लें फिर जब पेस्ट सुख जाएं तब ताजे पानी से धो लें| नियमित रूप से इस पेस्ट को सप्ताह में दो से तीन बार लगाने से जल्द आराम मिलता है|

मस्सों को हटाने के लिए लहसुन का लाभ (benefits of garlic in hindi)

मस्सों की समस्या किसी भी इंसान को हो सकती है, लेकिन मस्से की समस्या से पीड़ित इंसान मस्सो को सुखाने का उपाय या मस्से हटाने की दवा ढूंढ़ता है| लेकिन कई आप जानते है की लहसुन भी मस्सो का इलाज करने में मददगार होता है| लहसुन में मौजूद गुण और तत्व मस्से को सुखाने में मददगार होते है, सबसे पहले लहसुन की काली को छील लें फिर लहसुन की छीली हुई कली मस्से पर हल्के हल्के घिसे| नियमित रूप से लहसुन घिसने से कुछ दिनों में ही मस्से सूखने लगते है|

लहसुन के फायदे गोरी त्वचा के लिए (benefits of garlic in hindi)

यह तो हम सभी जानते है की लहसुन के फायदे त्वचा के लिए बहुत सारे है| लेकिन कई आप जानते है की लहसुन चेहरे पर निखार लाने के लिए लाभकारी होता है|लहसुन में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व त्वचा को साफ़ करने के साथ साथ निखार भी लाने में सहायक होते है| नियमित रूप से सुबह खाली पेट लहसुन की एक या दो कली खाने से जल्द चेहरे पर निखार आने लगता है|

वाइटहेड्स और ब्लैकहेड्स को खत्म करने में लहसुन के फायदे  (benefits of garlic in hindi)

लहसुन के लाभ वाइटहेड्स और ब्लैकहेड्स की समस्या से छुटकारा दिलाने में देखे जा सकते है, अगर आप वाइटहेड्स या ब्लैकहेड्स की समस्या से पीड़ित है और आप वाइटहेड्स के घरेलू उपाय या ब्लेकहेड्स की घरेलु दवा ढूंढ रहे है तो लहसुन आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है| लहसुन में मौजूद औषधीय गुण वाइटहेड्स या ब्लैकहेड्स की समस्या को समाप्त करने में मददगार साबित होते है, लहसुन की कली को वाइटहेड्स या ब्लैकहेड्स पर घिसने से बहुत ज़ल्द लाभ मिलता है|

लहसुन के फायदे स्कीन इन्फेक्शन में (benefits of garlic in hindi)

काफी सारे पुरुष और महिला में स्किन इन्फेक्शन की समस्या देखने को मिलती है, ऐसे में लहसुन आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है| लहसुन स्किन इन्फेक्शन का इलाज करने में मददगार होता है, लहसुन में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व स्किन इन्फेक्शन की समस्या को समाप्त करने में मददगार होते है| सबसे पहले लहसुन की कली को छीलकर महीन पीस लें फिर इस पेस्ट को प्रभावित त्वचा पर लगा लें, लहसुन का पेस्ट लगाने के तुरंत बाद आपको थोड़ी जलन की समस्या हो सकती है लेकिन थोड़ी देर में जलन समाप्त हो जाती है अगर जलन समाप्त ना हो तो पेस्ट को तुरंत हटा दें और प्रभावित क्षेत्र को पानी से धो लें| नियमित रूप से लहसुन का पेस्ट (lahsun ke fayde) लगाने से आपको जल्द आराम मिल जाता है|

सनबर्न का इलाज करने में लहसुन के फायदे (benefits of garlic in hindi)

ऐसी महिला या पुरुष जो धुप के सम्पर्क में बहुत ज्यादा रहते है, तो ऐसे इंसानो की त्वचा धूप की वजह से झुलस या काली पड़ जाती है, जिसे सनबर्न की परेशानी भी कहा जाता है| सनबर्न का इलाज आप लहसुन से भी कर सकते है, लहसुन में मौजूद औषधीय गुण (lahsun ke fayde) आपकी त्वचा से सनबर्न खत्म खत्म करने में मददगार साबित होते है| सबसे पहले लहसुन को छीलकर पीसकर छान लें, फिर इस निकले हुए रस को झुलसी हुई त्वचा पर लगा लें कुछ समय बाद ताजे पानी से चेहरा धो लें जल्द ही आपको त्वचा में फर्क दिखाई देने लगेगा|

लहसुन के फायदे बालों के लिए

लहसुन के लाभ बाल झड़ना रोकने में (benefits of garlic in hindi)

आज के समय में बाल झड़ने की समस्या का सामना अधिकतर महिला या पुरुष कर रहे है हालाँकि बाल झड़ने की समस्या महिलाओ के मुकाबले पुरुषो में ज्यादा देखने को मिलती है| अगर आपके बाल झड़ रहे है तो लहसुन आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है, लहसुन में मौजूद औषधीय गुण बाल झड़ना रोकने में मददगार साबित होते है| रात को सोने से पहले लहसुन का तेल हाथो में लेकर बालो की जड़ो और बालो में अच्छी तरह से लगाकर सो जाएं सुबह उठकर बालो को शेम्पू की मदद से धो लें| हफ्ते में दो से तीन बार लहसुन का तेल लगाने से जल्द लाभ (lahsun ke fayde) मिलता है|

बालों की जड़ों को मज़बूत बनाने में लहसुन के फायदे (benefits of garlic in hindi)

बाल अगर कमजोर होते है तो बहुत ज्यादा टूटते है और अगर किसी भी इंसान के बाल मजबूत होते है तो बाल झड़ते कम है| बालो को मजबूत बनाने के लिए सबसे पहले 15 से 20 लहसुन की कलियाँ लेकर उन्हें छीलकर पीस लें, फिर पीसे हुए लहसुन को छानकर रस निकाल लें| लहसुन का रस और थोड़ा सा शहद लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिलाकर बालों की जड़ों में अच्छी तरह से लगाकर लगभग 2 घटें के लिए छोड़ दें, उसके बाद बालो को शैंपू की मदद से धो लें, जल्द ही आपके बाल मजबूत (lahsun ke fayde) होने लगते है|

सफेद बालो को काला करने में लहसुन के फायदे (benefits of garlic in hindi)

बढ़ती उम्र के साथ बाल सफ़ेद होना आम बात है लेकिन अगर आपके बाल कम उम्र में सफ़ेद हो रहे है तो आपको उपचार की जरुरत है| असमय सफेद बालो को काला करने में लहसुन के लाभ (lahsun ke fayde) देखे जा सकते है| लहसुन में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व बालो को काला करने में मददगार साबित होते है, सबसे पहले आप लहसुन की कुछ कली लेकर उन्हें छील लें, फिर थोड़ा सा जैतून का तेल लेकर उसमे लहसुन की कली डालकर तेल को अच्छी तरह से गर्म कर लें| फिर गैस को बंद कर दें और जब तेल ठंडा हो जाएं तो रात को सोने से पहले उंगलियो की मदद से तेल को बालो और बालो की जड़ो में लगाकर सो जाएं| अगली सुबह बालो को पानी और शैंपू से धो लें, जल्द ही बाल काले होने लगते है|

 रुसी की समस्या में लहसुन के लाभ (benefits of garlic in hindi)

बाल कमजोर होने का एक कारण रुसी की समस्या भी होती है, अगर आप रुसी की समस्या से परेशान है तो लहसूसन का तेल आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है| लहसुन के तेल में मौजूद औषधीय गुण (lahsun ke fayde) रुसी की समस्या को समाप्त करने में सहायक होते है, नियमित रूप से रात को सोने से पहले हल्के हाथो से लहसुन का तेल बालो और बालो की जड़ो में अच्छी तरह से लगाकर सो जाएं| अगले दिन शेम्पू कर लें ऐसा करने से बहुत जल्द रुसी की समस्या समाप्त होने लगती है|

दोमुहें बालो को समाप्त करने में लहसुन के लाभ (benefits of garlic in hindi)

आज एक समय में दोमुंहे बालों की समस्या से पीड़ित इंसानो की संख्या काफी ज्यादा हो गई है, लहसुन में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व दो मुंहे बालो की समस्या को समाप्त करने में मददगार साबित होते है| सबसे पहले लहसुन को छीलकर पीस लें फिर पीसे हुए लहसुन को छानकर रस निकाल लें, फिर लहसुन के रस को बालो में अच्छी तरह से लगाकर 20 से 30 मिनट के लिए लगा रहने दें| फिर ताजे पानी और शेम्पू की मदद से बालो को धो लें, सप्ताह में दो से तीन बार लहसुन का रस (lahsun ke fayde) बालो में लगाने से जल्द दो मुंहे बालो की समस्या से छुटकारा मिल जाता है|

लहसुन का उपयोग – Garlic Uses in Hindi

यह तो आप समझ ही गए होंगे लहसुन के फायदे (lahsun ke fayde) बहुत सारे होते है| चलिए अब हम आपको लहसुन के उपयोग के बारे में जानकारी दे रहे है, लहसुन का इस्तेमाल कई प्रकार से किया जा सकता है, लहसुन का उपयोग निम्न प्रकार किया जा सकता है

  • लहसुन का इस्तेमाल खाना बनाने में भी किया जाता है, दाल छौकने से लेकर सब्जी में लहसुन का इस्तेमाल किया जाता है|
  • लहसुन का उपयोग खाली पेट या रात में भी किया जाता है, कच्चे लहसुन की कली का सेवन सिमित मात्रा में करने से कई सारी परेशानियो में आराम मिलता है|
  • कुछ इंसान लहसुन का इस्तेमाल चटनी बनाने में, पालक की स्मूदी में, सूप में इत्यादि में डालकर भी करते है, सिमित मात्रा में डालने से इन चीजों का स्वाद बहुत बेहतरीन हो जाता है|
  • काफी सारे इंसान गार्लिक टी यानी लहसुन की चाय भी पीते है|
  • कुछ बीमारियो से छुटकारा पाने के लिए लहसुन का इस्तेमाल घी में भूनकर भी किया जाता है, इसके लिए लहसुन की कली को घी में भूनकर खाया जाता है।
  • लहसुन की कली को छीलकर बारीक काट कर थोड़े से सरसों के तेल में डालकर अच्छी तरह से गर्म कर लें, फिर जब तेल गुनगुना रह जाएं तो इस तेल से मालिश करने से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है|

लहसुन खाने का सही समय और सही तरीका

अगर आपके मन में यह सवाल है की लहसुन खाने का सही समय या सही तरीका कया है? तो हम आपको बता दें की लहसुन का सेवन उचित मात्रा में करना बहुत जरुरी है| उचित मात्रा में लहसुन का सेवन सुबह, दोपहर और शाम को करने से लाभ ही मिलता है| लेकिन अगर आप किसी बीमारी से पीड़ित है या किसी प्रकार की दवा का सेवन कर रहे है तो आपको लहसुन का सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर लें, ऐसे में अपनी मर्जी से लहसुन का सेवन करना आपके लिए हानिकारक हो सकता है|

लहसुन के नुकसान – Side Effects of Garlic in Hindi

ऊपर आपने गार्लिक के फायदे के बारे में जाना, लेकिन लहसुन फायदे और नुक्सान (lahsun ke fayde aur nuksan) दोनों होते है| लहसुन का सेवन सिमित मात्रा से अधिक किया जाता है तो लहसुन के नुक्सान देखने को मिलते है| चलिए अब हम आपको लहसुन के नुक्सान के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

  • कच्चे लहसुन का सेवन करने मुंह और शरीर से बदबू आ सकती है, जिसकी वजह से आपको अजीब या बुरा लग सकता है|
  • लहसुन की तासीर गर्म होने की वजह से कुछ इंसानो में कच्चा लहसुन खाने के कारण सीने में जलन और पेट से सम्बंधित समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है|
  • अगर आपकी हाल फिलहाल में कोई या किसी प्रकार की सर्जरी होने वाली है तो आपको लहसुन का सेवन नहीं करना चाहिए|
  • लहसुन का सेवन करने से आपको एलर्जी की परेशानी भी हो सकती है।
  • लहसुन का पेस्ट या रस लगाने से त्वचा में जलन की परेशानी भी हो सकती है|

लहसुन का सेवन किन लोगों को नहीं करना चाहिए? – Who Should Avoid Garlic in Hindi

लहसुन का सेवन कुछ स्थितियों का सामना कर रहे इंसानो को नहीं करना चाहिए, चलिए अब हम आपको बताते है की किन लोगो को लहसुन का सेवन नहीं करना चाहिए

  • अगर आपको पहले से पेट सम्बंधित कोई परेशानी है तो आपको कच्चे लहसुन का सेवन करने से बचना चाहिए और अगर सेवन करना है तो पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर लें, अगर आप बिना डॉक्टर की सलाह के आप कच्चे लहसुन का सेवन करते है तो आपको नुक्सान हो हो सकता है|
  • ऐसे इंसान जो खून को पतला करने की दवाई का सेवन कर रहे है उन्हें लहसुन का सेवन करने से बचना चाहिए|
  • सिमित मात्रा में लशुन का सेवन लिवर के लिए लाभकारी होता है लेकिन अगर आप लिवर से सम्बंधित परेशानी से ग्रसित है तो आपको लहसुन का सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।
  • अगर आप माइग्रेन की समस्या से पीड़ित है तो भी आपको लहसुन का सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि लहसुन की गंध आपकी परेशानी को बड़ा सकती है|
  • हाई ब्लड प्रेशर में लहसुन के फायदे देखे जा सकते है, लहसुन का सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर नियंत्रित होता है इसीलिए अगर कोई लो ब्लड प्रेशर से पीड़ित इंसान लहसुन का सेवन करता है तो इसके परिणाम घातक हो सकते है| इसीलिए लो ब्लड प्रेशर से पीड़ित इंसान को लहसुन का सेवन करने से पहले डॉक्टर से राय जरूर लेनी चाहिए

निष्कर्ष – हम आशा करते है की आपको हमारे लेख लहसुन के फायदे (lahsun ke fayde) या लहसुन खाने के फायदे में दी गई जानकारी पसंद आई होगी| लहसुन का पूर्ण लाभ लेने के लिए लहसुन का सेवन सिमित मात्रा में कारण बहुत जरुरी है, अगर आप लहसुन से किसी बिमारी का इलाज कर रहे है तो नुस्खा अपनाने से पहले वेध या डॉक्टर से परामर्श जरूर लें| अगर आप लहसुन के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप गूगल या बिंग पर लहसुन के फायदे (lahsun ke fayde aur nuksan) लिखकर सर्च कर सकते है|

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa