web analytics
Sun. Sep 25th, 2022

इनगुइनल हर्निया & अंडकोष में हर्निया का देसी इलाज (home remedies Inguinal Hernia in Hindi) – हर्निया की परेशानी अंडकोष में, पेट में या नाभि और कमर के आसपास के अंगों में देखने को मिलती है| हालाँकि हर्निया अलग अलग तरह का होता है जिसके बारे में आप हमारे दूसरे लेख में पढ़ सकते है, आज हम अपने इस लेख में वंक्षण हर्निया या अंडकोष में हर्निया या इनगुइनल हर्निया (Inguinal Hernia in Hindi) के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है| पुरुषो के शरीर में अंडकोष बहुत ही नाजुक जगह होती है इसमें थोड़ी सी परेशानी भी इंसान के लिए झेलनी भारी होती है| हर्निया की शुरुआत पेट के किसी हिस्से की मांसपेशियां या आंत से शुरू होती है, लेकिन जब पेट या आंत का हिस्सा नीचे की तरफ खिसक कर अंडकोष में पहुँच जाता है तो हर्निया की परेशानी अंडकोष में हो जाती है| अगर किसी भी इंसान को वंक्षण हर्निया या इनगुइनल हर्निया की परेशानी हो जाती है तो पीड़ित को काफी सारी परेशानियो का सामना करना पड़ता है| पीड़ित को झुकते समय या खांसते समय या किसी भी भारी चीज को उठाते समय अंडकोष में बहुत तेज दर्द का सामना करना पड़ सकता है| आमतौर पर पुरुषो में हर्निया की बात करें तो 70 से 80% पुरुषो में अंडकोष में हर्निया की परेशानी देखी जाती है|

काफी सारे इंसानो को अंडकोष में हर्निया के बारे में जानकारी नहीं होती है ऐसे में इंसान इंटरनेट पर अंडकोष में हर्निया कया होता है, अंडकोष हर्निया क्यों होता है, अंडकोष में हर्निया होने के कारण, अंडकोष में हर्निया के लक्षण, अंडकोष में हर्निया का आयुर्वेदिक इलाज इत्यादि लिखकर सर्च करता है

Table of Contents

अंडकोष में हर्निया कया होता है | वंक्षण हर्निया क्या है? | What is Inguinal Hernia in Hindi | इनगुइनल हर्निया इन हिंदी

काफी सारे इंसानो को अंडकोष में हर्निया के बारे में पता होता है लेकिन आज ही काफी सारे पुरुष ऐसे होते है जिन्हे इनगुइनल हर्निया इन हिंदी के बारे में जानकारी नहीं होती है| चलिए अब हम आपकी इस परेशानी को दूर करने की कोशिश करते है, दरसल अंडकोष में हर्निया या वंक्षण हर्निया की परेशानी तब देखने को मिलती जब पेट की मांसपेशियां या आंत का संक्रमित हिस्सा नीचे खिसक कर अंडकोष में पहुँच जाता है| संक्रमित हिस्सा जब अंडकोष में पहुँच जाता है तो वंक्षण में उभार आने लगता है, जिसकी वजह से अंडकोष में हर्निया (Inguinal Hernia in Hindi) की परेशानी हो जाती है| चलिए अब हम आपको अंडकोष में होने वाले हर्निया के प्रकार के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

वंक्षण (इनगुइनल) हर्निया 2 प्रकार के होते हैं | Types of Inguinal Hernia in Hindi

ऊपर आपने इनगुइनल हर्निया या अंडकोष में हर्निया के बारे में जानकारी प्राप्त की है, चलिए अब हम आपको अंडकोष में हर्निया के प्रकार के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है,  वंक्षण हर्निया दो प्रकार के होते है

1 – इनडायरेक्ट इनगुइनल हर्निया इन हिंदी (Indirect inguinal hernia in hindi) –

इनडायरेक्ट इनगुइनल हर्निया अंडकोष में होने वाले हर्निया का पहला प्रकार होता है, इनडायरेक्ट इनगुइनल हर्निया (Indirect inguinal hernia in hindi) होने के कारण कई सारे होते है लेकिन मुख्य कारण पेट की दीवार में एक जन्म दोष होता है, यह दोष इंसान के जन्म के समय से होता है। इस प्रकार के हर्निया की पहचान शुरुआत में नहीं हो पाती है, कुछ मामलो में हर्निया की पहचान शुरुआत में ही हो जाती है|

2 – डायरेक्ट इनगुइनल हर्निया इन हिंदी (Direct inguinal hernia in hindi )

डायरेक्ट इनगुइनल हर्निया अंडकोष में हर्निया का दूसरा प्रकार होता है| यह हर्निया इनडायरेक्ट इनगुइनल हर्निया से बिलकुल अलग होता है, डायरेक्ट इनगुइनल हर्निया (direct inguinal hernia in hindi) की परेशानी आमतौर पर वयस्क पुरुषों में देखने को मिलती है| इस प्रकार के हर्निया के होने का कारण अक्सर पेट की दीवार की मांसपेशियों में कमजोरी होता है, मांसपेशियो में कमजोरी होने का कारण तनाव या भारी वजन उठाना इत्यादि होते है|

आपको बता दें की हर्निया की परेशानी पेट के एक तरफ या दोनों तरफ हो सकती है। डायरेक्ट इनगुइनल हर्निया की परेशानी आमतौर पर बढ़ती उम्र में देखी जाती है क्योंकि जैसे जैसे इंसान की उम्र बढ़ती है वैसे वैसे शरीर और पेट की दीवार कमजोर होने लगती है। आमतौर पर वंक्षण हर्निया या अंडकोष में हर्निया की परेशानी कोई गंभीर बिमारी नहीं होती है, लेकिन इस प्रकार के हर्निया में होने वाला दर्द काफी तीव्र होता है| अंडकोष में हर्निया की परेशानी से पीड़ित इंसान को वजन उठाने में, झुकने में, बैठने में, खांसने में और मल त्यागने में दर्द की परेशानी होती है| ऐसे पुरुष जिनके पेट की मांसपेशियां कमजोर हो जाती है उनमे डायरेक्ट इनगुइनल हर्निया की परेशानी होने प्रबल संभावना होती है|

वंक्षण हर्निया किसे होता है? | अंडकोष में हर्निया किस उम्र में होता है?

अगर आपके मन में यह सवाल है की अंडकोष में हर्निया किस उम्र में होता है तो हम आपको बता दें की आमतौर पर अंडकोष में हर्निया की परेशानी  40 वर्ष से अधिक आयु के वयस्क पुरुषों में ज्यादा देखने को मिलती है| वैसे तो इस प्रकार का हर्निया पुरुषो में ही देखने को मिलती है लेकिन कुछ मामलो में इस प्रकार का हर्निया महिलाओ में देखने को भी मिल जाता है| चलिए अब हम आपको डायरेक्ट इनगुइनल हर्निया (direct inguinal hernia in hindi) होने के कारण के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

अंडकोष में हर्निया होने के कारण | इनगुइनल हर्निया के कारण (Causes Of Inguinal Hernia)

ऊपर आपने अंडकोष में हर्निया के बारे में जानकारी प्राप्त की है, अब हम आपको अंडकोष में हर्निया (inguinal hernia in hindi) की परेशानी होने के कारणों के बारे में बताते है| इनगुइनल हर्निया के कारण काफी सारे होते है, जिनमे से कुछ कारणों के बारे में हम आपको बता रहे है, अंडकोष में हर्निया होने के कारण निम्न प्रकार है

  • अंडकोष में हर्निया (inguinal hernia in hindi) की परेशानी होने कारण जेनेटिक भी हो सकता है
  • इनगुइनल हर्निया की परेशानी पुरुषों के लिए आम रोग है
  • अंडकोष में हर्निया होने का कारण प्रीमेच्योंर भी होता है अर्थात ऐसे बच्चे जिनका जन्म समय से पहले हो जाता है उनमे इनगुइनल हर्निया होने की सम्भावना काफी ज्यादा होती है|
  • अंडकोष में हर्निया होने का एक कारण सिस्टिक फाइब्रोसिस भी होता है|
  • जिस किसी पुरुष को खांसी लम्बे समय से है या आप कह सकते है की पुरानी खांसी से पीड़ित इंसान को अंडकोष में हर्निया की परेशानी आने पुरुषो के मुकाबले ज्यादा देखने को मिलती है|
  • अंडकोष में हर्निया होने का कारण पुरानी कब्ज भी होती है
  • जब कोई पुरुष बहुत ज्यादा भारी चीज या भारी वजन उठाता है तो भारी वजन उठाने का असर पेट, अंडकोष या आंतो पर पड़ता है जिसकी वजह से अंडकोष में हर्निया की परेशानी हो सकती है|
  • आज के समय में जिम में जाकर एक्सरसाइज़ करना अधिकतर पुरुषो को पसंद होता है, कुछ मामलो में या कुछ पुरुष जल्दी बॉडी बनाने के चक्कर में बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करते है या बहुत ज्यादा वजन उठा लेते है जिसकी वजह से भी अंडकोष में हर्निया (inguinal hernia in hindi) की समस्या हो सकती है|
  • जब किसी भी पुरुष के किसी भी काम को करते वक़्त या झुकते समय पेट और आंत पर बहुत ज्यादा दबाव पड़ने की वजह से अंडकोष में हर्निया की परेशानी हो सकती है|
  • जब किसी भी पुरुष के पेट की मांसपेशियां कमजोर हो जाती है तो ऐसे इंसान को काफी साड़ी परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है| पेट की मांसपेशियां कमजोर होने पर वो थोड़ा नीचे खिसक जाती है जिसकी वजह से अंडकोष में हर्निया (inguinal hernia in hindi) की परेशानी देखने को मिलती है|

अंडकोष में हर्निया के लक्षण या इनगुइनल हर्निया के लक्षण (Symptoms Of Inguinal Hernia in hindi)

ऊपर हमने आपको अंडकोष में हर्निया होने के कारणों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई है, अब हम आपको अंडकोष में हर्निया के लक्षण के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है| अगर आपको इनगुइनल हर्निया के लक्षण के बारे में पता होता है तो आप इस बिमारी का पता शुरूआती दौर में ही कर सकते है, जिससे आपको इलाज में काफी आसानी हो जाती है| चलिए अब हम आपको इनगुइनल हर्निया के लक्षण या अंडकोष में हर्निया के लक्षण (Symptoms Of Inguinal Hernia in hindi)
के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

  • अगर आपके शरीर में लगातार दर्द की शिकायत हो रही है तो सबसे पहले आपको शरीर में दर्द होने का कारण जानना चाहिए, शरीर दर्द होने के कारण काफी सारे होते है लेकिन अंडकोष में हर्निया की वजह से भी शरीर में दर्द की परेशानी हो सकती है|
  • अंडकोष में हर्निया के लक्षण (Symptoms Of Inguinal Hernia in hindi)
    में शामिल है छाती में जलन महसूस होना
  • अगर आपके शरीर के जोड़ों में दर्द की परेशानी है तो आपको सावधान होने की जरुरत है जोड़ो में दर्द इनगुइनल हर्निया के लक्षण (Symptoms Of Inguinal Hernia in hindi) में शामिल है, हालाँकि जोड़ो में दर्द होने के अन्य कारण भी होते है|
  • अगर आपके पेट और जांघ के बीच वाले हिस्सें में दर्द की परेशानी हो रही है तो इस दर्द का कारण अंडकोष में हर्निया की परेशानी हो सकती है|
  • किसी भी चीज को उठाते समय आपको परेशानी हो रही है या झुकने में दर्द की शिकायत होना भी अंडकोष में हर्निया के लक्षण (Symptoms Of Inguinal Hernia in hindi) में शामिल है|
  • अगर आपको शौच करते समय गंभीर दर्द की परेशानी हो रही है तो इसके पीछे की वजह इनगुइनल हर्निया भी हो सकता है|
  • इनगुइनल हर्निया के लक्षण (Symptoms Of Inguinal Hernia in hindi) में तेज बुखार और उल्टी की समस्या भी शामिल है लेकिन तेज बुखार या उल्टी होने पर डॉक्टर से परामर्श लें, क्योंकि तेज बुखार या उल्टी होने के कई अन्य कारण भी हो सकते है|
  • अगर किसी भी पुरुष के अंडकोष में सूजन की समस्या या और चलने में दर्द की परेशानी हो रही है तो इसके पीछे की वजह अंडकोष में हर्निया की परेशानी भी हो सकती है|

अंडकोष में हर्निया का इलाज – Inguinal Hernia Treatment in Hindi

ऊपर हमने आपको अंडकोष में हर्निया के लक्षण के बारे में जानकारी दी है, जिनसे आप अंडकोष में हर्निया (inguinal hernia in hindi) की समस्या को शुरूआती दौर में ही पहचान सकते है| बिमारी का पता अगरशुरुआती दौर में ही चल जाएं तो इलाज में आसानी हो जाती है| जब किसी भी पुरुष के अंडकोष में हर्निया की परेशानी हो जाती है तो सबसे पहले अंडकोष का आकार बढ़ जाता है। अंडकोष का आकार बढ़ने की वजह से पीड़ित को चलने-फिरने में या बैठने उठने में परेशानी और गंभीर दर्द का सामना करना पड़ सकता है। शुरुआत में हर्निया के लक्षण की पहचान हो जाने पर डॉक्टर के द्वारा दी गई दवाइयो से बहुत जल्द आराम मिल जाता है|

लेकिन जिन पुरुषो में अंडकोष का हर्निया की परेशानी बहुत ज्यादा बढ़ जाती है उनका इलाज केवल सर्जरी के द्वारा ही किया जा सकता है। डॉक्टर पहले आपके हर्निया की जांच करते है उसके बाद सर्जरी करनी है या नहीं इसके बारे में बताते है, आमतौर पर अंडकोष में हर्निया का इलाज करने के लिए ओपन हर्निया रिपेयर और लैप्रोस्कोपिक सर्जरी का सहारा लिया जाता है| हर्निया की सर्जरी कराने के बाद अपने खानपान और डॉक्टर द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करने से पीड़ित बहुत जल्दी ठीक हो जाता है।

इनगुइनल हर्निया का देसी इलाज | अंडकोष में हर्निया का देसी इलाज | home remedies Inguinal Hernia in Hindi

आज भी इनगुइनल हर्निया या अंडकोष में हर्निया की परेशानी होने पर काफी इंसान देसी इलाज करना पसंद करते है| लेकिन हर्निया की परेशानी काफी ज्यादा हो गई है या गंभीर स्थिति हो गई है तो आपको सर्जरी करनी पड़ती है, लेकिन एक बार घरेलू नुस्खे आजमाने में कोई नुक्सान नहीं है क्योंकि इनके दुष्प्रभाव नहीं होते है| किसी वैध की सलाह से अंडकोष में हर्निया के घरेलू उपाय अपनाने से जल्द लाभ मिलता है, चलिए अब हम आपको इनगुइनल हर्निया का देसी इलाज (home remedies Inguinal Hernia in Hindi) या अंडकोष में हर्निया के घरेलू उपाय के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

अंडकोष में हर्निया का घरेलू इलाज है तम्बाकू के पत्ते (home remedies Inguinal Hernia in Hindi)

अगर आप इनगुइनल हर्निया की परेशानी से पीड़ित है और आप इनगुइनल हर्निया का घरेलू इलाज (home remedies Indirect inguinal hernia in hindi) या अंडकोष में हर्निया की देसी दवा ढूंढ रहे है तो तम्बाकू के पत्ते आपके लिए लाभकारी साबित होते है| इनगुइनल हर्निया की देसी दवा बनाने के लिए सबसे पहले तम्बाकू के पत्ते लेकर उन पर अरंडी का तेल अच्छी तरह से लगा कर हल्का सा सेक या गर्म कर लें, फिर हल्के गर्म पत्तो को अंडकोष में बाँध लें| इस नुस्खे को रात में सोने से पहले कर लें तम्बाकू के पत्तो को रात भर बंधा रहने दें, इस नुस्खे को रोजाना करने से अंडकोष में दर्द या सूजन की समस्या से आराम मिलता है|

अंडकोष में हर्निया का घरेलू इलाज है कैमोमाइल चाय (home remedies Inguinal Hernia in Hindi)

कैमोमाइल का नाम सभी ने सुना ही होगा इसमें सूजन को कम करने वाले गुण मौजूद होते है, कैमोमाइल प्राकृतिक रूप से सूजन को कम करने में मददगार साबित होती है। कैमोमाइल सूजन को काम करने के साथ साथ पेट दर्द और पेट में जलन की समस्या को कम करने में मददगार होने के साथ साथ पाचन क्रिया को दुरुस्त कर मांसपेशियों को मजबूती प्रदान करने में सहायक होती है| सबसे पहले एक कप पानी लेकर उसे गर्म होने के लिए रख दें फिर पानी में कैमोमाइल को उबाल लें, जब पानी अच्छी तरह उबल जाएं तो गैस बंद कर दें| हल्का गर्म होने पर छान लें फिर इसमें थोड़ा सा शहद डालकर अच्छी तरह से मिलाकर चाय की तरह पी लें|

अंडकोष में हर्निया का घरेलू इलाज है बथुआ (home remedies Inguinal Hernia in Hindi)

बथुए का सेवन किसी ना किसी रूप में करना सभी को पसंद होता है, लेकिन काफी कम इंसान जानते है की बथुआ में मौजूद औषधीय गुण और तत्व हर्निया की परेशानी से आराम दिलाने में सहायक होते है| इनगुइनल हर्निया का इलाज करने के लिए सबसे पहले बथुआ लेकर अच्छी तरह से साफ़ करके धो कर उबाल लें, फिर जब बथुआ उबल जाएं तो पानी में से निकाल कर निचोड़ लें| फिर बथुए को दही या छाछ में डालकर अच्छी तरह से फेंट लें, बस बथुए का रायता बन कर तैयार है, स्वाद के लिए आप इसमें थोड़ा भुना हुआ जीरा और स्वादानुसार सेंधा नमक डालकर अच्छी तरह से मिला लें| बथुए की तासीर गर्म होती है इसीलिए बथुए का सेवन सिमित मात्रा में करना चाहिए अधिक मात्रा में सेवन करने से आपको नुक्सान भी हो सकते है|

अंडकोष में हर्निया का आयुर्वेदिक इलाज है बहेड़ा (home remedies Inguinal Hernia in Hindi)

प्राचीन समय से बहेड़ा को महत्वपूर्ण औषधि के रूप में जाना जाता है, अगर इनगुइनल हर्निया की परेशानी से पीड़ित है और आपको इस परेशानी का पता शुरूआती दौर में ही चल जाता है| तो आपकी इस परेशानी से राहत दिलाने में बहेड़ा फायदेमंद साबित हो सकती है, बहेड़ा को इनगुइनल हर्निया की आयुर्वेदिक दवा के रूप में भी जाना जाता है| अंडकोष में हर्निया की घरेलू दवा बनाने के लिए सबसे पहले बहेड़ा का छिलका उतार लें, फिर छिलका उतरे बहेड़ा को अच्छी तरह पीस कर महीन चूर्ण बना लें।

बहेड़ा का चूर्ण लेकर इसमें जामुन का सिरका डालकर अच्छी तरह से मिलाकर लेप जैसा बना लें, फिर इस लेप को हर्निया से प्रभावित क्षेत्र पर अच्छी तरह से लगाकर एक से दो घंटे के लिए लगा रहने दें| उसके बाद हल्के गुनगुने पानी से धो लें, नियमित रूप से इस नुस्खे को करने से लाभ मिलता है लेकिन या उपाय सामान्य हर्निया के लिये लाभकारी साबित हो सकता है अगर हर्निया की परेशानी ज्यादा या गंभीर हो चुकी है तो यह उपाय कारगार साबित नहीं होता है| हम आपको सलाह देंगे की इस नुस्खे को अपनाने से पहले वेध या डॉक्टर से परामर्श जरूर लें|

इनगुइनल हर्निया या वंक्षण हर्निया से बचाव | Inguinal Hernia Prevention in Hindi

हालाँकि इनगुइनल हर्निया की परेशानी बच्चो और बड़ो दोनों में देखने को मिलती है, बच्चो में यह परेशानी काफी कम होती है| कुछ सावधानियां रख कर आप अपने आपको इनगुइनल हर्निया की परेशानी से बचा सकते है, अगर आप अंडकोष में हर्निया की परेशानी से बचना चाहते है तो निम्न सावधानियो का ख्याल रखें

  • अगर आप अपने आपको इनगुइनल हर्निया की परेशानी से बचाना चाहते है तो अपने शरीर का वजन सामान्य रखें, क्योंकि वजन बढ़ने या कम होने की वजह से काफी परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है|
  • पुरुषो को अपने पेट की मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए नियमित रूप से योग और व्यायाम करना चाहिए।
  • पुरुषो को शौच करते समय या पेशाब करते समय जोर नहीं लगाना चाहिए क्योंकि जोर लगाने से मांसपेशियो पर दबाव या जोर पड़ता है।
  • ज्यादा भारी सामान उठाने से बचना चाहिए, ज्यादा भरी वजन उठाने की वजह से मांसपेशियो पर दबाव या खिचाव पड़ सकता है|

निष्कर्ष – हम आशा करते है की आपको हमारे लेख इनगुइनल हर्निया का घरेलू इलाज (home remedies Inguinal Hernia in Hindi) या अंडकोष में हर्निया की देसी दवा में दी गई जानकारी पसंद आई होगी| अंत में हम आपको सलाह देंगे की इनगुइनल हर्निया की परेशानी होने पर सबसे पहले डॉक्टर या वैध से परामर्श लेने के बाद ही घरेलू उपचार अपनाएं, अपनी मर्जी से किसी भी प्रकार का इलाज या दवा का सेवन ना करें| अगर आपको हमारे द्वारा जानकारी पसंद नहीं आई है आप गूगल या बिंग पर इनगुइनल हर्निया का घरेलू इलाज (home remedies Inguinal Hernia in Hindi) या अंडकोष में हर्निया की देसी दवा लिखकर सर्च कर सकते है|

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa