web analytics
Sun. Sep 25th, 2022

लिवर का रामबाण इलाज पतंजलि, लिवर की दवा & घरेलू उपचार (Fatty Liver in Hindi) : हमारा शरीर बहुत सारे अंगो से मिलकर बना हुआ है, प्रत्येक अंग का अपना अलग काम और महत्व होता है, शरीर का एक प्रमुख अंग लीवर भी है। भोजन को पचाने से लेकर पित्त बनाने के साथ साथ शरीर को संक्रमण से लड़ने, ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने, शरीर से विषैले पदार्थो को बाहर निकालने में, फैट को कम करने और शरीर में प्रोटीन बनाने में अहम भूमिका निभाता है। गलत खान पीन की वजह, शराब पीने और अनुचित मात्रा में फैट युक्त भोजन करने से लिवर की परेशानी जैसे फैटी लीवर इत्यादि परेशानी हो सकती है।

फैटी लिवर की परेशानी से पीड़ित इंसान इंटरनेट पर लिवर का रामबाण इलाज पतंजलि, लिवर डैमेज ट्रीटमेंट इन हिंदी, लीवर मजबूत करने की दवा, लिवर का घरेलू इलाज, लीवर की आयुर्वेदिक दवा, लिवर की दवा पतंजलि, फैटी लीवर की आयुर्वेदिक दवा, लिवर में गांठ की दवा इत्यादि लिखकर फैटी लिवर का इलाज ढूंढ़ते है| लेकिन कया आप जानते है की फैटी लीवर का इलाज (Fatty Liver Treatment in hindi) आप घरेलू नुस्खों से भी कर सकते हैं। अधिकतर इंसानो का मानना है की शराब या अन्य मादक चीजों का सेवन करने से फैटी लिवर की समस्या होती है और फैटी लीवर का इलाज (fatty liver ka ilaj) घरेलू उपायों से नहीं हो सकता है।

तो सबसे पहले हम आपको बता दें की फैटी लीवर की परेशानी गलत खान पीन, शराब का सेवन और मोटापे की वजह से हो सकती है| अधिकतर इंसान फैटी लिवर की समस्या होने पर इंसान कई बार बहुत ज्यादा परेशान हो जाता है, फैटी लीवर का उपचार या फैटी लीवर का इलाज (fatty liver ka ayurvedic ilaj) आप आसानी से घरेलू नुस्खों के द्वारा भी कर सकते है| फैटी लिवर का इलाज करने से पहले आपको यह जानना भी बहुत जरुरी है की आखिर फैटी लिवर कया होता है? फैटी लिवर होने के कारण कया है? फैटी लिवर (fatty liver in hindi) के लक्षण कया है? चलिए सबसे पहले हम आपको बताते है की आखिर फैटी लिवर कया होता है –

Table of Contents

फैटी लीवर क्या है? (What is Fatty liver in hindi ?)

फैटी लिवर का रामबाण इलाज अपनाने से पहले आपको यह जानना भी बहुत जरुरी है की आखिर फैटी लिवर कया है? जब किसी भी इंसान के शरीर में मौजूद लीवर की कोशिकाओं में वसा या फैट मौजूद रहती है लेकिन जब अधिक मात्रा में फैट जमा हो जाता है तो इस स्थिति को फैटी लिवर की समस्या के रूप में जाना जाता है| अगर हम मात्रा की बात करें तो जब लिवर के वजन से 10 % वजन से अधिक मात्रा में वसा जमा हो जाती है तो ऐसे इंसान को फैटी लिवर की परेशानी से ग्रसित माना जाता है| फैटी लीवर सामान्य रूप से कार्य नहीं कर पाता है इसीलिए फैटी लीवर का इलाज (fatty liver ka ayurvedic ilaj) करना बहुत जरुरी होता है| फैटी लिवर के लक्षण (fatty liver ke lakshan) शुरूआती दौर में देखने को नहीं मिलते है, फैटी लिवर के लक्षण काफी समय बाद देखने को मिलते है| फैटी लिवर की समस्या अधिकतर 40 साल से लेकर 60 साल की आयु में देखने को मिलती है।

आयुर्वेद के अनुसार फैटी लीवर (fatty liver in hindi) की परेशानी पित्त की वजह से होती है अर्थात पित्त के दूषित होने की वजह से लिवर को नुक्सान पहुँचता है और लीवर सही से कार्य नहीं कर पाता है। पित्त दूषित होने की वजह से फैटी लीवर की समस्या होती है, अनुचित और असंतुलित भोजन की वजह से विषाक्त तत्व लिवर में जमा हो जाते है जिस वजह से लिवर को ज्यादा काम करना पड़ता है, अधिक कार्य करने की वजह से लीवर में सूजन आ जाती है(लिवर में सूजन होने के लक्षण)| चलिए अब हम आपको फैटी लिवर कितने प्रकार के होते है, इसकी जानकारी उपलब्ध कराते है,  फैटी लीवर दो प्रकार के होते है जो निम्न प्रकार है –

  1. एल्कोहलिक फैटी लीवर डिज़ीज इन हिंदी (Alcoholic Fatty Liver disease in hindi) – इस प्रकार का फैटी लिवर उन इंसानो में ज्यादा पाया जाता है जो इंसान बहुत ज्यादा शराब का सेवन करते है| जब इंसान शराब का सेवन ज्यादा करता है तो एल्कोहॉल की वजह से लीवर पर फैट अधिक मात्रा में जमा होने लगता है और शराब का सेवन करने से लीवर में सूजन भी आ सकती है(लिवर में सूजन होने के लक्षण) और अगर ऐसा इंसान शराब पीना बंद नहीं करता है तो लीवर क्षतिग्रस्त भी हो सकता है|
  2.  नॉन एल्कोहलिक फैटी लीवर डिज़ीज इन हिंदी (Non-Alcoholic Fatty liver disease in hindi) – इस प्रकार का फैटी लिवर ऐसे इंसानो में पाया जाता है जो बहुत ज्यादा वसायुक्त भोजन और ख़राब जीवनशैली जीते है, अनुचित खान पान की वजह से इंसान में मोटापा और मधुमेह इत्यादि रोग होने की प्रबल सम्भावना होती है| असंतुलित और अधिक वसायुक्त खाने की वजह से फैटी लीवर की परेशानी हो जाती है, इस प्रकार के फैटी लिवर को नॉन एल्कोहलिक फैटी लीवर कहा जाता है| फैटी लीवर का समय से इलाज ना किया जाए तो इस वजह से अन्य रोग होने की प्रबल संभावना होती है। चलिए अब हम आपको नॉन एल्कोहलिक फैटी लीवर डिज़ीज के चरणों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है
  • सामान्य फैटी लीवर और स्टियाटोसिस इन हिंदी (Normal fatty liver and steatosis in hindi)– इस प्रकार की अवस्था में लीवर में वसा का जमना शुरू हो जाता है लेकिन लिवर पर सूजन नहीं आती है| इस प्रकार की अवस्था में किसी भी तरह फैटी लिवर के लक्षण (Fatty Liver Symptoms in Hindi) मालूम नहीं चलते है, इस प्रकार के फैटी लिवर का रामबाण इलाज उचित आहार होता है, संतुलित भोजन करने से कुछ ही दिनों में यह परेशानी ठीक हो जाती है|
  • नॉन-एल्कोहलिक स्टियाटोहेपाटाइटिस इन हिंदी (Non-alcoholic steatohepatitis in hindi) – इस प्रकार की अवस्था में लिवर फैट जमने के साथ साथ लीवर में सूजन की परेशानी भी शुरू हो जाती है, इस स्थिति में ऐसे ऊतक या टिशू जो क्षतिग्रस्त हो जाते है उन्हें लिवर सही करने लगता है| सामान्यत इस प्रकार के फैटी लिवर के लक्षण सामने नहीं आते है और इस प्रकार के फैटी लिवर (fatty liver in hindi) का पता विशेष प्रकार के टेस्ट से ही पाता चल पाता हैं।
  • फिबरोसिस (Fibrosis in hindi)– यह स्थिति नॉन-एल्कोहलिक स्टियाटोहेपाटाइटिस के बाद आती है, इस प्रकार की अवस्था में लिवर के उत्तक प्रभावित होते है| जो उत्तक स्वस्थ होते है वो लिवर को सामान्य रूप से कार्य करने में मदद करते है। अगर समय से इस प्रकार के फैटी लिवर का इलाज किया जाए तो लीवर को सही किया जा सकता है, लेकिन अगर इलाज ना किया जाए यह सिरोसिस की स्थिति बन जाती है।
  • सिरोसिस इन हिंदी (Cirrhosis in hindi) – इस अवस्था को फैटी लिवर की सबसे गंभीर अवस्था माना जाता है, इस स्थिति में लीवर सामान्य रूप से कार्य करना बंद कर देता है और ऊत्तक क्षतिग्रस्त होने के साथ साथ लिवर की कोशिकाओं के गुच्छे से बन जाते है| इस प्रकार से पीड़ित इंसान की त्वचा और आँखों में पीलापन जैसे लक्षण (Fatty Liver Symptoms in Hindi) दिखाई देने लगते है।वैसे फैटी लिवर की यह अवस्था 60 साल की आयु के बाद ही देखने को मिलती है|

आमतौर पर अधिकतर इंसानो में सामान्य फैटी लीवर (steatosis) की समस्या ही देखने को मिलती है, इस प्रकार के फैटी लिवर का इलाज आप अपने भोजन और जीवनशैली में बदलाव लाकर भी कर सकते है|

फैटी लीवर होने के कारण (Causes of Fatty liver in Hindi)

अगर आप फैटी लिवर की समस्या से ग्रसित है और आप फैटी लीवर का रामबाण इलाज  (fatty liver ka ilaj) सर्च कर रहे है तो आपको पहले फैटी लीवर होने कारण के बारे में पता होना बहुत जरूरी है। अगर आपको फैटी लिवर होने करने के बारे में जानकारी होगी तो आप फैटी लिवर की समस्या को होने से रोक सकते है| चलिए अब हम आपको फैटी लिवर  होने के कारणों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  • फैटी लिवर (fatty liver in hindi) होने का प्रमुख कारण है अत्यधिक शराब पीना|
  • अगर आपके परिवार में आपके पिता, ताऊ और चाचा इत्यादि को फैटी लिवर की समस्या है तो आप भी इस परेशानी का सामना कर सकते है क्योंकि फैटी लिवर होने का एक कारण आनुवांशिकता भी है|
  • मोटापे की वजह से फैटी लिवर की परेशानी हो सकती है|
  • ऐसे इंसान जो फैटी फूड और अधिक मिर्च मसालेदार खाने का सेवन करते है उनमे फैटी लिवर की परेशानी ज्यादा देखने को मिलती है|
  • किसी इंसान के शरीर में मौजूद खून में वसा का स्तर ज्यादा होने की वजह से भी फैटी लिवर की परेशानी हो सकती है|
  • डायबिटीज भी फैटी लिवर (fatty liver in hindi) होने का एक कारण होता है|
  • ऐसे इंसान इंसान जो स्टेरॉयड, एस्पिरीन या ट्रेटासिलीन जैसी दवाइयों का सेवन लम्बे समय तक करते है उनमे इन दवाइयो का सेवन करने से फैटी लिवर की परेशानी हो सकती है|
  • अगर आप ऐसा पानी पीते है जिसमे क्लोरीन की मात्रा अत्यधिक होती है तो आपको फैटी लिवर की समस्या का सामना करना पड़ सकता है|
  • वायरल हेपाटाइटिस की वजह से फैटी लिवर (fatty liver in hindi) की समस्या हो सकती है|

फैटी लीवर के लक्षण (Fatty Liver Symptoms in Hindi)

अगर आपको फैटी लिवर का पता शुरूआती अवस्था में ही चल जाए तो फैटी लीवर का उपचार आसानी से किया जा सकता है| फैटी लीवर के लक्षणों (fatty liver ke lakshan) के बारे में काफी कम लोगो को पता होता है इसलिए जब फैटी लिवर की परेशानी बड़ जाती है तब इंसान को उसके बारे में पाता चलता है और इंसान फैटी लिवर का इलाज करता है| अगर आपको फैटी लिवर के लक्षण के बारे में जानकारी नहीं है तो परेशान ना हो, चलिए अब हम आपको फैटी लिवर के लक्षणों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराते है –

  • अगर आपके पेट के दाएँ भाग के ऊपरी हिस्से में दर्द की परेशानी हो रही है तो आप फैटी लिवर की परेशानी से पीड़ित हो सकते है|
  • किसी भी इंसान के वजन में गिरावट आ रही है तो वजन में गिरावट होने का एक कारण फैटी लिवर भी हो सकता है|
  • शारीरिक कमजोरी महसूस होना भी फैटी लिवर का एक लक्षण होता है|
  • अगर इंसान के शरीर की त्वचा और आँखों में पीलापन दिखाई देने लगे तो आप फैटी लिवर की समस्या से पीड़ित हो सकते है|
  • अगर आपके द्वारा ग्रहण किया गया भोजन सही प्रकार से हजम या पच नहीं रहा है तो यह भी फैटी लिवर का एक लक्षण होता है|
  • फैटी लिवर का एक लक्षण पेट में सूजन होना भी होता है|

हालाँकि बच्चो में फैटी लिवर की समस्या बहुत कम ही देखने को मिलती है, लेकिन ऐसे बच्चे जो मोटापे से ग्रसित होते है उनमे यह समस्या देखने को मिल सकती है| जंक फूड, चिप्स, चॉकलेट इत्यादि का सेवन और शारीरिक गतिविधियों के ना करने की वजह से फैटी लिवर की समस्या हो सकती है| चलिए अब हम बच्चो में फैटी लिवर के लक्षण (Fatty Liver Symptoms in Hindi) के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  • बिना किसी शारीरिक काम के किए बिना थकावट होना
  • बच्चे के पेट में दर्द की परेशानी होना
  • अगर बच्चे के शरीर में मौजूद ब्लड में लीवर एन्जाइम्स का स्तर बड़ जाने की वजह से भी फैटी लिवर की समस्या हो सकती है|

लिवर का रामबाण इलाज , फैटी लीवर के घरेलू उपचार (Home remedies For Fatty liver Treatment)

अगर आप फैटी लीवर की परेशानी से ग्रसित है और आप फैटी लिवर का रामबाण इलाज या फैटी लिवर के घरेलू नुस्ख़े (fatty liver home remedy in hindi) कौन कौन से है ? ढूंढ रहे है तो चलिए अब हम आपको ऐसे घरेलू उपाय बताने जा रहे जिनसे आप फैटी लिवर के साथ साथ लीवर की सूजन (liver ki sujan) से भी छुटकारा आसानी से पा सकते हैं।

फैटी लीवर की आयुर्वेदिक दवा है जामुन (Jambolan Benefit in Fatty Liver in Hindi)

जामुन खाने सभी को पसंद होता है लेकिन काफी कम लोग जानते है की जामुन फैटी लिवर का इलाज करने में भी मददगार साबित होता है| अगर आप फैटी लिवर का रामबाण इलाज या फैटी लिवर का घरेलू उपाय ढूंढ रहे है तो जामुन आपके लिए लाभकारी साबुत हो सकती है| जामुन में मौजूद औषधीय गन और पोषक तत्व फैटी लिवर की समस्या को समाप्त करने में सहायक होते है| नियमित रूप से सुबह खाली पेट लगभग 200 से 300 ग्राम पके हुए जामुन का सेवन करने से जल्द ही फैटी लीवर की समस्या से छुटकारा मिलता है|

फैटी लिवर का रामबाण इलाज है हल्दी (Home Remedies for Fatty Liver in hindi)

प्राचीन समय से हल्दी को महत्वपूर्ण औषधियो में से एक माना जाता है, हल्दी को सौ बीमारियो की एक दवा के रूप में भी जाना जाता है| हल्दी में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व शरीर के लिए लाभदायक होने के साथ साथ फैटी लिवर की समस्या को समाप्त करने में सहायक होती है| सबसे पहले एक गिलास दूध लेकर उसे गर्म होने के लिए रख दें फिर उसमे लगभग आधा चम्मच हल्दी डालकर दूध को अच्छी तरह से उबाल लें| जब दूध अच्छी तरह से उबल जाएं तब गैस को बंद कर दें हल्का गुनगुना होने पर पी लें, नियमित रूप से हल्दी वाला दूध पीने से बहुत जल्द फैटी लिवर की समस्या से छुटकारा मिल जाता है| हल्दी को फैटी लिवर का रामबाण इलाज या लिवर पर सूजन की दवा के रूप में भी जाना जाता है|

लीवर की आयुर्वेदिक दवा है ग्रीन टी (Home Remedies for Fatty Liver in hindi)

ग्रीन टी औषधीय गुणों से भरपूर होने की वजह से हमारे शरीर के लिए बहुत लाभकारी मानी जाती है, ग्रीन टी में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व फैटी लिवर की समस्या को समाप्त करने में मददगार साबित होते है| ग्रीन टी बनाने के लिएसबसे पहले एक कप पानी को गर्म होने के लिए रख दें, जब पानी उबलने लगें तब उसमे लगभग एक चम्मच ग्रीन टी डालकर उबलने दें, जब पानी अच्छी तरह से उबल जाएं फिर गैस को बंद करके ग्रीन टी को छान लें| फिर स्वादनुसार शहद डालकर अच्छी तरह से मिलाकर सेवन कर लें, नियमित रूप से ग्रीन टी का सेवन करने से जल्द आराम मिलता है| ग्रीन टी को आप फैटी लीवर की आयुर्वेदिक दवा या लीवर मजबूत करने की दवा भी कहा जा सकता है|

फैटी लिवर का घरेलू उपचार है सेब का सिरका (Home Remedies for Fatty Liver in hindi)

अगर आप नॉन अल्कोहॉलिक फैटी लीवर की समस्या से पीड़ित हो और आप फैटी लिवर की रामबाण इलाज ढूंढ रहे है तो सेब का सिरका आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है, सेब का सिरका नॉन एल्कोहॉलिक फैटी लिवर की समस्या को समाप्त करने में मददगार साबित होता है| सबसे पहले एक गिलास गर्म पानी लेकर उसमे लगभग एक चम्मच सेब का सिरका और एक चम्मच शहद डालकर अच्छी तरह से मिला लें फिर इस मिश्रण को पी लें| फैटी लिवर के इस घरेलू उपाय को रोजाना करने से जल्द लाभ प्राप्त होता है|

फैटी लिवर का घरेलू इलाज है नींबू (home treatment for fatty liver in hindi )

नींबू में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और हेपटोप्रोटेक्टिव गुण अल्कोहॉलिक फैटी लीवर की समस्या को समाप्त करने में मददगार साबित होते है| सबसे पहले एक गिलास गुनगुने पानी में आधा नींबू निचोड़ कर पानी को अच्छी तरह से मिलाकर पी लें, नियमित रूप से दिन में दो बार नींबू पानी पीने से जल्द अल्कोहॉलिक फैटी लीवर की समस्या से निजात मिल जाती है| नींबू को कुछ इंसान फैटी लीवर की आयुर्वेदिक दवा या लिवर में गांठ की दवा भी कहते है|

फैटी लिवर का रामबाण घरेलू इलाज है आवंला (Home Remedies for Fatty Liver in hindi)

आवंला हमारे शरीर के लिए लाभदायक होने के साथ साथ कई सारे रोगो या परेशानियो को दूर करने में सहायक होता है| आवंले में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व फैटी लिवर की समस्या को समाप्त करने में मददगार होते है, अगर आप फैटी लिवर का रामबाण इलाज या फैटी लिवर का घरेलू उपाय ढूंढ रहे है तो आवंला आपके लिए बेहतरीन विकल्प हो सकता है| सबसे पहले दो से तीन आवंले लेकर उन्हें अच्छी तरह से धो लें| फिर आवंलो को काट क्र बीज निकाल दें, फिर आवंलो के कटे हुए टुकड़े और लगभग एक गिलास पानी को ग्राइंडर में डालकर अच्छे से ग्राइंड करके छान लें| छने हुए मिश्रण में एक चम्मच शहद डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पी लें, नियमित रूप से इस घरेलू उपाय को करने से जल्द आराम मिलता है|

फैटी लिवर की रामबाण दवा है करेला (home treatment for fatty liver in hindi )

करेले की सब्जी अधिकतर लोगो को पसंद होती है, करेले में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व फैटी लिवर की समस्या को समाप्त करने में मददगार होते है| सबसे पहले दो मध्यम आकार के करेले लेकर उन्हें अच्छी तरह से धोकर करेले के छोटे छोटे टुकड़ें काट लें, करेलो के टुकड़ो में से बीज निकाल दें, फिर इन करेलो के टुकड़ो में थोड़ा सा नमक डालकर लगभग आधे घंटे के लिए रख दें| आधे घंटे बाद लगभग एक गिलास पानी और नमक लगे हुए करेले के बारीक कटे हुए टुकड़ो को ग्राइंडर में डालकर अच्छी तरह से पीस कर छान लें| छने हुए मिश्रण में थोड़ा सा नींबू का रस और स्वादनुसार नमक डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पी लें, नियमित रूप से फैटी लिवर का रामबाण इलाज अपनाने से जल्द लाभ मिलता है|

लिवर को मजबूती प्रदान करने में सहायक है व्हीट ग्रास (Home Remedies for Fatty Liver in hindi)

व्हीट ग्रास को औषधियो गुणों का खजाना भी कह सकते है, व्हीट ग्रास हमारे शरीर के साथ साथ कई आने परेशानियो को दूर करने में सहायक होती है| व्हीट ग्रास में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व लिवर को मजबूती प्रदान करने के साथ साथ फ़ेट्टी लिवर का रामबाण इलाज भी करने में मददगार होते है| सबसे पहले थोड़ी सी ताज़ी व्हीट ग्रास लेकर अच्छी तरह से धो लें फिर उस धुली हुई व्हीट ग्रास और लगभग एक गिलास पानी को ग्राइंडर की मदद से महीन पीस लें, फिर इस मिश्रण को छान कर तुरंत पी लें| नियमित रूप से दिन में दो बार व्हीट ग्रास के जूस का सेवन करने से जल्द लाभ प्राप्त होता है|

फैटी लीवर की आयुर्वेदिक दवा है अलसी के बीज (home treatment for fatty liver in hindi )

अलसी के बीजो में पाए जाने वाले औषधीय गुण और पोषक तत्व फ़ेट्टी लिवर का इलाज करने में मददगार होते है| अगर आप फैटी लिवर का रामबाण इलाज या फैटी लिवर का घरेलू उपाय सर्च कर रहे है तो अलसी के बीज आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकते है| लिवर की रामबाण दवा को बनाने के लिए सबसे पहले थोड़े से अलसी के बीजो को बारीक पीस कर चूर्ण बना लें| एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच अलसी के बीजो का चूर्ण डालकर अच्छी तरह से मिला लें, अगर आपको इस मिश्रण को पीने में परेशानी हो रही है तो स्वादनुसार थोड़ा सा नयंबु का रस और शहद डालकर अच्छी तरह से मिला कार पी लें| नियमित रूप से इस घरेलू उपाय को अपनाने से बहुत जल्द फैटी लिवर की समस्या से छुटकारा मिल जाता है|

फैटी लिवर की समस्या से लाभ दिलाने में सहायक है नारियल पानी (Home Remedies for Fatty Liver in hindi)

अधिकतर इंसानो का मानना है की नारियल पानी केवल पेट के लिए लाभकारी होता है लेकिन कया आप जानते है की नारियल पानी फैटी लिवर की समस्या से छुटकारा दिलाने में भी सहायक होता है| नारियल पानी में मौजूद औषधीय गुण फैटी लिवर की समस्या से आराम दिलाने में सहायक होते है, अगर आप मधुमेह के रोग से पीड़ित है और आपको फैटी लिवर की परेशानी हो रही है तो नियमित रूप से एक नारियल का पानी पीने से आपको बहुत जल्द आराम प्राप्त होता है|

लिवर की सूजन को कम करने की रामबाण दवा है छाछ (home treatment for fatty liver in hindi )

प्राचीन समय से छाछ को बहुत ज्यादा महत्पूर्ण बताया गया है, छाछ पेट के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी होता है लेकिन कया आप जानते है की छाछ लिवर की सूजन को कम करने की रामबाण दवा और फैटी लिवर का रामबाण इलाज भी होता है| छाछ में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व लिवर की सूजन को कम करने के साथ साथ फैटी लिवर की परेशानी को भी कम करने में मददगार साबित होते है| सबसे पहले थोड़ा सा जीरा लेकर उसे तवे पर अच्छी तरह से भून कर पीस कर चूर्ण बना लें, जीरा पॉउडर को किसी छोटी डिब्बी में स्टोर करके रख लें, एक गिलास छाछ में आधी चम्मच काला नमक और थोड़ा सा भुना हुआ जीरा पॉउडर डालकर सेवन करने से जल्द लाभ पहुँचता है|

फैटी लिवर का घरेलू दवा है टमाटर (Home Remedies for Fatty Liver in hindi)

टमाटर का उपयोग सभी घरो में सलाद से लेकर दाल या सब्जी बनाने में किया जाता है, टमाटर सब्जी या दाल का स्वाद बढ़ाने के साथ साथ हमारे शरीर के लिए भी लाभकारी होता है| टमाटर में मौजूद लाइकोपीन नमक तत्व शराब पीने की वजह से आने वाली लिवर पर सूजन और फैटी लिवर की समस्या को समाप्त (home treatment for fatty liver in hindi) करने में मददगार होता है| नियमित रूप से टमाटर का सेवन सलाद, सूप या चटनी के रूप में करने से जल्द आराम पहुँचता है|

फैटी लिवर का घरेलू उपचार है मुलेठी (home treatment for fatty liver in hindi)

यह तो सभी जानते ही है की मुलेठी गले और कफ की समस्या को समाप्त करने में मददगार साबित होती है, लेकिन कया आप जानते है की मुलेठी लिवर की सूजन को कम करने या फैटी लिवर का इलाज करने में भी असरदायक होती है| सबसे पहले आधा कप गर्म पानी लेकर उसमे आधा चम्मच मुलेठी चूर्ण डालकर 10 से 15 मिनट के छोड़ दें, फिर इस पानी छान कर पी लें| फैटी लिवर का रामबाण इलाज का पूर्ण लाभ लेने के लिए किसी वैध या चिकित्सक के परामर्श के बाद इस घरेलू उपाय (Home Remedies for Fatty Liver in hindi) को अपनाएं|

फैटी लिवर का रामबाण इलाज है पपीता (Home Remedies for Fatty Liver in hindi)

पपीता पेट के लिए बहुत लाभकारी होता है उसी तरह से पपीता लिवर के लिए लाभकारी होता है| पपीते में हेपेटोप्रोटेक्टिव, एंटीइन्फ्लेमेटरी,  हाइपोलिपिडेमिक, एंटीऑक्सिडेंट और औषधीय गुण और पोषक तत्व लिवर के लिए लाभकारी होते है, फैटी लिवर की समस्या से छुटकारा दिलाने में पपीते फायदेमंद होता है| आप चाहे तो पपीते का सेवन सीधे तोर पर या पपीता मिल्क शेक का सेवन कर सकते है, पपीता मिल्क शेक बनाने के लिए सबसे पहले पपीते को छील कर बीज निकाल कर छोटे टुकड़े कर लें, फिर एक गिलास दूध और पपीते के कटे हुए कुछ टुकड़ें ग्राइंडर में डालकर अच्छी तरह से मिक्स करके शेक बना लें, स्वादनुसार चीनी मिलकर सेवन कर लें| पपीते को लिवर का रामबाण इलाज या फैटी लिवर की रामबाण दवा भी कह सकते है, नियमित रूप से पपीते का सेवन करने से जल्द आराम (home treatment for fatty liver in hindi) प्राप्त होता है|

लीवर की आयुर्वेदिक दवा है एलोवेरा (home treatment for fatty liver in hindi)

प्राचीन समय से एलोवेरा को हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी माना जाता है, एलोवेरा लिवर की सूजन को कम करने में और फैटी लिवर का इलाज करने में असरदायक होता है| सबसे पहले एलोवेरा का एक ताजा पत्ता लेकर उसे छील कर उसका गुद्दा निकाल लें, फिर आधा गिलास पानी और एलोवेरा के गुद्दे को ग्राइंडर की मदद से अच्छी तरह से मिक्स कर लें, मिक्स होने के बाद एलोवेरा जूस को गिलास में निकालकर स्वादनुसार नमक डालकर अच्छी तरह से मिलकर पी लें(आज के समय में कई साड़ी प्रसिद्ध कंपनी एलोवेरा जूस का निर्माण भी कर रही है आप चाहे तो पतंजलि एलोवेरा जूस या किसी अच्छी कंपनी का एलोवेरा जूस भी इस्तेमाल कर सकते है) नियमित रूप से एलोवेरा जूस का सेवन करने से जल्द लाभ मिलता है, एलोवेरा को आप फैटी लिवर का रामबाण इलाज या लिवर की दवा (Home Remedies for Fatty Liver in hindi) भी कह सकते है|

लिवर को मजबूती प्रदान करने में सहायक है अदरक (Home Remedies for Fatty Liver in hindi)

शायद ही कोई घर हो जिसमे अदरक का उपयोग ना होता हो, अदरक लिवर के लिए भी लाभदायक होता है| सबसे पहले एक कप पानी को गर्म होने के लिए रख दें, फिर थोड़ा सा अदरक लेकर उसे अच्छी तरह से कूटकर पानी में दाल दें, पानी को अच्छी तरह से उबलने दें| जब पानी अच्छी तरह से उबल जाएं तो गैस बंद कर दें, अदरक के पानी को कप छान लें स्वादनुसार शहद मिलाकर चाय की तरह सिप सिप लेकर सेवन कर लें| नियमित रूप से दिन में एक बार अदरक की चाय पीने से जल्द आराम मिलता है|

लिवर का रामबाण इलाज पतंजलि – पतंजलि लीवर की दवा

अगर आप लिवर की समस्या से पीड़ित है और आप लिवर की दवा पतंजलि, लिवर की सूजन की दवा पतंजलि, लिवर की कमजोरी दूर करने के दवा, लिवर का रामबाण इलाज पतंजलि, फैटी लिवर का इलाज करने में बाबा रामदेव टिप्स (patanjali liver medicine ) सर्च कर रहे है तो हम आपकी इस परेशानी का समाधान कर रहे है| लिवर का रामबाण इलाज पतंजलि और लिवर की दवा पतंजलि का नाम है पतंजलि लिव डी 38 (Patanjali Liv D 38)| पतंजलि लिवर की दवा का सेवन करने से जल्द लाभ मिलता है, बाजार में आपको पतंजलि लिवर टैबलेट (ayurvedic medicine for fatty liver patanjali ) और पतंजलि लिवर सिरप के रूप में आसानी में मिल जाता है आप चाहे तो पतंजलि स्टोर या ऑनलाइन भी खरीद सकते है| नियमित रूप से पतंजलि लिवर की दवा का सेवन करने से लिवर के सभी प्रकार के रोगों में आराम प्राप्त होता है।

हम आशा करते है की आपको हमारा लेख लिवर का रामबाण इलाज पतंजलि या लिवर के घरेलू उपाय (home treatment for fatty liver in hindi) में दी गई जानकारी पसंद आई होगी| लेकिन अगर आप हमारे द्वारा दी गई जानकारी से संतुष्ट नहीं है और आप और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप गूगल या बिंग पर लिवर का रामबाण इलाज पतंजलि या लिवर के घरेलू उपाय (home treatment for fatty liver in hindi) लिखकर सर्च कर सकते है|

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa