web analytics
Sun. Sep 25th, 2022

Home Remedies for Ear Pain in Hindi : कान में दर्द की परेशानी बच्चो, युवा और बुजुर्ग किसी को भी हो सकती है, कान में दर्द (kaan me dard) की परेशानी जुकाम, किसी प्रकार का संक्रमण या आने कारणों की की वजह से हो सकता है| हालाँकि कान में दर्द की परेशानी कोई गंभीर समस्या नहीं होती है लेकिन कई बार दर्द काफी तीव्र होने की वजह से इंसान बेचैन हो जाता है| कान के बीच से लेकर गले के पीछे तक एक नली होती है जो कान और गले को एक दूसरे से जोड़ती है, जिसे यूस्टेशियन ट्यूब के नाम से जाना जाता है| जब यूस्टेशियन ट्यूब में किसी प्रकार अवरुद्ध उत्पन्न हो जाता है तो नली में तरल पदार्थ का निर्माण अधिक मात्रा में होने की वजह से कान में दर्द की परेशानी होने लगती है| बच्चे कानो में ऊँगली डालकर खुजा लेते है या कोई चीज कान में डाल लेते है या धुल मिटटी इत्यादि की वजह से कान में संक्रमण हो जाने की वजह से बच्चो में कान दर्द की परेशानी हो जाती है|

अगर बच्चो या बड़ो के कान में साबुन, शैम्पू या पानी के चले जाने से भी कई बार कान दर्द की शिकायत हो जाती है, अक्सर कान में दर्द की परेशानी होने पर इंसान कान दर्द का तुरंत इलाज, कान में भारीपन और दर्द, कान में दर्द का घरेलू उपाय, बच्चों के कान में दर्द का घरेलू उपचार कान में डालने की दवा कान दर्द की दवा, कान में सूजन की दवा इत्यादि ढूंढ़ता है| लेकिन कान में दर्द का तुरंत इलाज सर्च करने से पहले आपको कान में दर्द होने के कारन और लक्षणों के बारे में जानना जरुरी है क्योंकि अगर आपको बड़ो या बच्चों के कान में दर्द (kaan me dard) होने के कारणों के बारे में पता होगा तो कान में दर्द का इलाज (Home Remedies for Ear Pain in Hindi) करने में आसानी होती है|

अधिकतर इंसान कान में दर्द होने पर अपनी मर्जी या मेडिकल से कान दर्द की ड्राप या दवा लेकर इस्तेमाल करते है हालाँकि उस दवा से आराम तो मिल सकता है लेकिन यह बीमारी का स्थाई इलाज नहीं होता है| किसी भी इंसान को किसी भी दवा या कान दर्द की दवा का उपयोग अपनी मर्जी से कभी नहीं करना चाहिए| कान दर्द से तुरंत छुटकारा दिलाने के लिए घरेलू उपाय सबसे ज्यादा लाभदायक होते है, कान दर्द से तुरंत इलाज के लिए घरेलू उपाय काफी ज्यादा असरदायक और लाभदायक होने के साथ साथ दुष्परिणाम रहित होते है| इसीलिए अधिकतर इंसान कान दर्द के लिए घरेलू उपाय को अपनाना ज्यादा पसंद करते है, चलिए अब हम आपको कान दर्द के बारे में जानकारी उपलब्ध कराते है –

Table of Contents

कान का दर्द क्या होता है? (What is Ear Pain in Hindi?)

कान में दर्द की परेशानी किसी भी इंसान को कभी हो सकती है, कान में पानी, शेम्पू, साबुन, धुल, मिटटी, कान किसी चीज से खुजाने की वजह से या किसी प्रकार का संक्रमण की वजह से हो सकता है| आयुर्वेद के अनुसार शरीर में होने वाली किसी भी प्रकार की परेशानी तीनो दोषो में असंतुलन की वजह से होती है, कान में दर्द की परेशानी वात, पित्त, कफ के असंतुलन की वजह से हो सकती है| कान में दर्द होने पर घरेलू उपाय अपनाकर भी इस दर्द से मुक्ति पाई जा सकती है| बच्चो के कान में दर्द की समस्या ज्यादा देखने को मिलती है, बच्चे खेलते समय कान में खुजली आने पर उंगली या किसी चीज से कान को तेजी से खुजा लेते है, जिसकी वजह से उनके कान में दर्द की परेशानी हो जाती है|

कान दर्द के कारण (Causes of Ear Pain in Hindi)

कान में दर्द का घरेलू उपाय जानने से पहले आपको कान में दर्द कयो हो रहा है यह जानना बहुत जरुरी होता है, चलिए अब हम आपको कान में दर्द होने के कारणों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  • अगर आपको सर्दी और जुकाम की परेशानी काफी दिनों से हो रही है तो यह भी कान में दर्द होने का एक कारण हो सकता है।
  • अगर आपने कान में कोई वस्तु या नुकीली चीज कान में डाली हो और उस वस्तु की वजह से कान के परदे को किसी प्रकार की नुकसानी पहुंची हो तो इस वजह से भी कान में दर्द की परेशानी हो सकती है|
  • सिर पर गंभीर चोट लगने की वजह से भी कान में दर्द की शिकायत हो सकती है|
  • कान में संक्रमण होने की वजह से भी कान में दर्द की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है|
  • बच्चो के कान में दर्द होने का एक कारण ओटाइटिस मीडिया संक्रमण भी होता है, हालाँकि इस संक्रमण के अन्य लक्षण जैसे तेज बुखार होना, लगातार कान में दर्द की शिकायत होना, सुनने में दिक्कत होना इत्यादि होते है, इस प्रकार के संक्रमण की वजह से कई बार बच्चो के कान में बहुत तेज दर्द की परेशानी भी हो सकती है|
  • नहाते समय या मुंह हाथ धोते समय अगर कान में पानी चला जाता है तो इस वजह से भी कान में दर्द की परेशानी हो सकती है।
  • बच्चों में इन्फेक्शन की समस्या ज्यादा देखने को मिलती है, कई बार इन्फेक्शन की वजह से भी बच्चो के कान में दर्द की समस्या हो जाती है|
  • बाल धोते समय शैम्पू या नहाते समय साबुन कान में चला जाता है, कान में शैम्पू या साबुन चले जाने की वजह से भी कान में दर्द की शिकायत हो सकती है|
  • ऐसे इंसान जो स्काइडाइविंग, स्कूवा डाइविंग या हवाई जहाज में यात्रा करते है तो उनके कान में दर्द की समस्या हो सकती है क्योंकि जब इंसान हवा में उड़ता है तो वायुमंडलीय दबाव का असर कान के परदे पर पड़ता है जिसकी वजह से कान का दर्द (kaan ka dard) होता है।
  • किसी भी कारणवश अगर कान का पर्दा फट जाता है या क्षतिग्रस्त हो जाने की वजह से कान में दर्द की परेशानी होती है|
  • जब हम किसी ऐसी जगह जाते है जहाँ पर बहुत तेज ध्वनि हो रही हो तो उस तेज ध्वनि की वजह से भी कान में दर्द की समस्या हो सकती है|
  • अक्सर बच्चो के कान में जब खुजली आती है तो वो ऊँगली से कान को खुजा लेते है, नाख़ून से खुजाने की वजह कान या कान के परदे को नुक्सान पहुँच जाता है जिसकी वजह से भी कान में दर्द हो जाता है बच्चो के कान में दर्द होने का प्रमुख कारण यही होता है|
  • साइनस की परेशानी से पीड़ित इंसान के कान में दर्द की परेशानी हो सकती है, कान में दर्द होने का कारण साइनस भी होता है|
  • अगर आपके दाँत में बैक्टिरीयल इंफेक्शन हो रहा हो तो इस इन्फेक्शन की वजह से कान में दर्द की परेशानी हो सकती है|
  • जबड़े में सूजन आने की वजह से भी कान में दर्द होने लगता है।
  • कान के अंदर या कान के बाहर की त्वचा में अगर फुंसी की समस्या हो जाती है तो इस फुंसी की वजह से भी कान का दर्द (kaan ka dard) होता है।
  • कान में किसी कीड़े के घुसने या काटने की वजह से भी कान में दर्द की समस्या हो जाती है।

कान के दर्द से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपाय (Home Remedies for Ear Pain in Hindi)

कान में दर्द की परेशानी होने का एक कारण मौसम या मौसम में बदलाव भी होता है, कान दर्द का तुरंत इलाज या कान में भारीपन और दर्द का इलाज आप घरेलू नुस्खों (Home Remedies for Ear Pain in Hindi) से भी कर सकते है, चलिए जानते है की कान में दर्द का घरेलू उपाय कौन कौन से है ?

कान दर्द का तुरंत इलाज है लहसुन (Garlic: Home Remedies for Ear Pain in Hindi)

शायद ही कोई घर हो जिसमे लहसुन का उपयोग ना होता हो, लहसुन खाने में स्वाद बढ़ाने के साथ साथ हमारे शरीर के लिए भी लाभकारी होता है, लहसुन को दर्द निवारक के रूप में जाना जाता है| लेकिन कया आप जानते है की लहसुन को कान दर्द की दवा के रूप में भी जाना जाता है, सबसे लहसुन की दो से तीन लहसुन की कलियाँ लेकर उन्हें छील कर बारीक काट लें, फिर थोड़ा सा सरसो का तेल लेकर उसे गर्म होने के लिए रख दें|| फिर उस तेल में बारीक कटा हुआ लहसुन डालकर पकाएं, जब लहसुन के टुकड़े हल्के ब्राउन हो जाएं गैस को बंद कर दें ठंडा होने पर तेल को छान लें, छने हुए तेल में से 2-3 बूँद कान में डालने से दर्द से तुरन्त आराम प्राप्त होता है|

कान दर्द की घरेलू दवा है प्याज का रस (Onion: Home Remedies for Ear Pain in Hindi)

प्याज में मौजूद औषधीय गुण कान दर्द की समस्या को समाप्त करने में सहायक साबित होते है, अगर आप कान में दर्द की समस्या का सामना कर रहे है तो प्याज का रस आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है| सबसे पहले प्याज को छीलकर काट लें, फिर इन टुकड़ो को महीन पीसकर छान कर रस निकाल लें, प्याज के रस को हल्का सा गर्म करके कान में दो या तीन बूँद डाल लें, दिन में दो से तीन बारे प्याज का रस डालने से जल्द ही दर्द से आराम मिलता है| प्याज के रस को आप कान दर्द का घरेलू उपाय या कान दर्द की घरेलू दवा भी कह सकते है|

कान में दर्द का घरेलू उपचार है अदरक (Ginger: Home Remedies for Ear Pain in Hindi)

अगर आप कान दर्द (kaan ka dard) का घरेलू इलाज ढूंढ रहे है तो अदरक आपके लिए बेहतर साबित हो सकता है, अदरक में मौजूद औषधीय गुण कान में दर्द की समस्या से छुटकारा दिलाने में सहायक होते है| सबसे पहले थोड़ा सा अदरक का टुकड़ा लेकर उसके छोटे टुकड़े करके उसे महीन पीसकर छानकर रस निकाल लें| निकले हुए अदरक के रस में से दो से तीन बूंदे कान में डालने से कान दर्द से छुटकारा मिलता है, अदरक को कान दर्द का घरेलू इलाज और अदरक के रस को कान दर्द की दवा के रूप में भी जाना जाता है|

कान में भारीपन और दर्द का घरेलू इलाज है जैतून का तेल (Olive Oil : Home Remedies for Ear Pain in Hindi)

कान दर्द की समस्या से छुटकारा दिलाने में जैतून का तेल काफी लाभकारी होता है, जैतून के तेल में मौजूद औषधीय गुण कान दर्द को समाप्त करने में मददगार साबित होते है| सबसे पहले थोड़े से जैतून के तेल को हल्का सा गर्म कर लें, फिर इस हल्के गुनगुने तेल में कान में दो से तीन बूँद डाल कर लेट जाएं, जैतून का तेल डालने से जल्द ही कान दर्द से आराम मिलता है| k

कान दर्द का घरेलू उपाय है मेथी (Fenugreek: Home Remedies for Ear Pain in Hindi)

अगर आपके कान में दर्द है और आप कान दर्द का घरेलू उपाय सर्च कर रहे हैं तो मेथी आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है| मेथी में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व कान दर्द से मुक्ति दिलाने में मददगार साबित होते है, सबसे पहले थोड़ी सी मेथी को दूध के साथ पीस कर छान लें| फिर इस मिश्रण को छान लें छने हुए रस में से दो या तीन बूँद कान में डाल लें| यह नुस्खे को आप कान दर्द का घरेलू उपाय या कान दर्द का दवा भी कह सकते है।

कान दर्द की रामबाण दवा है पिपरमेंट के पत्ते (Peppermint: Home Remedies for Ear Pain in Hindi)

पिपरमेंट के पत्तो को कान में दर्द (kaan me dard) का घरेलू उपाय के रूप में भी जाना जाता है, पिपरमेंट के पत्तो में मौजूद औषधीय और दर्दनिवारक गुण कान में दर्द की परेशानी को खत्म करने में सहायक होते है| सबसे पहले पिपरमेंट के ताजे पत्तो को अच्छी तरह से धो लें, उसके बाद पत्तो को महीन पीसकर छानकर उनका रस निकाल लें, छने हुए रस में से दो बूँद कान में डालने से बहुत जल्द दर्द से आराम प्राप्त होता है| इस नुस्खे को आप कान दर्द का तुरंत इलाज और कान दर्द की दवा या कान में दर्द का घरेलू उपाय भी कह सकते है|

कान में दर्द का घरेलू उपचार है नीम से (Neem Leaf: Home Remedy for Ear Pain in Hindi)

प्राचीन समय से नीम को महत्वपूर्ण औषधि के रूप में जाना जाता है, नीम बहुत सारी समस्याओ को दूर करने लाभदायक होता है| लेकिन कया आप जानते है की नीम कान दर्द की परेशानी को दूर करने में सहायक होता है, नीम में मौजूद औषधीय गुण कान दर्द को समाप्त करने में मददगार होते है| सबसे पहले थोड़ी सी नीम की पत्तियों को लेकर अच्छी तरह से धो लें, फिर उन्हें पीसकर छान लें छने हुए रस में से दो या तीन बूँद कान में डालने से जल्द दर्द से राहत मिलती है। नीम को कान दर्द की दवा या कान में दर्द का घरेलू उपाय भी कह सकते है|

कान में दर्द का घरेलू इलाज है आम के पत्ते (Mango Leaves: Home Remedies for Ear Pain in Hindi)

आम खाना किसे पसंद नहीं है लेकिन कया आप जानते है की आम के पत्ते भी कई सारी परेशानियो को दूर करने में मददगार होते है| आम के पत्तो में मौजूद औषधीय गुण कान दर्द को समाप्त करने में सहायक होते है, थोड़े आम के ताजे पत्तों को अच्छी तरह से धोकर उन्हें पीस लें, फिर उन्हें छानकर रस निकाल लें| निकले हुए रस में से दो से तीन बूँद कान में डालने से कान दर्द का इलाज होता है, आम के पत्तो को कान दर्द की दवा या कान में दर्द का घरेलू उपाय भी कह सकते है|

कान के दर्द की रामबाण दवा है अजवाइन (Carom Seed Oil: Home Remedies for Ear Pain in Hindi)

अजवाइन का इस्तेमाल लगभग सभी घरो में किसी न किसी रूप में किया जाता है, अजवाइन में मौजूद औषधीय और दर्द निवारक गुण कान दर्द की परेशानी को समाप्त करने में सहायक होते है| अजवाइन को कान दर्द की दवा या कान में दर्द का घरेलू उपाय भी कहा जाता है, थोड़ा सा सरसो का तेल लेकर उसे गर्म कर लें तेल गर्म होने पर उसमे थोड़ी सी अजवाइन डालकर गर्म कर लें फिर गैस को बंद कर दें, हल्का गुनगुना रहने पर तेल को छान लें| छने हुए तेल में से दो से तीन बूँद कान में डालने से कान दर्द का इलाज हो जाता है।

कान में दर्द का घरेलू उपाय है केले का तना (Banana Stem: Home Remedy for Ear Pain in Hindi)

कुछ लोग केले के तने को कान दर्द की दवा के रूप में भी जानते है, केले के तने में मौजूद औषधीय गुण कान दर्द की परेशानी को दूर करने में सहायक होते है| सबसे पहले केले के तने का छोटा सा टुकड़ा लेकर उसे पीसकर रस निकाल लें, फिर केले के तने के रस में से दो या तीन बूँद कान में डालकर कर सो जाएं| कान में दर्द का घरेलू अपनाने से बहुत जल्द दर्द से मुक्ति मिल जाती है इस उपाय को कान दर्द की दवा या कान में दर्द का घरेलू उपाय के रूप में भी जाना जाता है|

बच्चों के कान में दर्द का घरेलू उपचार

कान में दर्द की परेशानी ज्यादा होती है क्योंकि छोटे बच्चे कान की देखभाल करने में असमर्थ होते है, बच्चो में कान दर्द की परेशानी होने के प्रमुख कारण जैसे इन्फेक्शन होना, नहाते समय कान में पानी जाना, खेल खेल में कान को किसी वस्तु से खुजा लेना, कान में धुल मिटटी जाना इत्यादि होते है| बच्चो के कान में दर्द का इलाज आप घरेलू नुस्खों से भी कर सकते है लेकिन पहले आप बच्चे के कान में दर्द होने का कारण जरूर जान लें, चलिए अब हम आपको कुछ ऐसे घरेलू उपाय बताने जा रहे है जिन्हे अपनाकर आप आसानी से बच्चो के कान में दर्द की परेशानी से छुटकारा पा सकते हो-

1 – बच्चो के कान दर्द का घरेलू इलाज है सिकाई (Home Remedies for Ear Pain in Hindi)

अगर आपके बच्चे के कान में दर्द की परेशानी हो रही है तो गर्म सिकाई आपके बच्चे के लिए लाभकारी साबित हो सकती है| सबसे पहले तवे को गैस पर रख कर गर्म कर लें, जब तवा गर्म हो जाएं तो तौलिया को तवे पर गर्म कर लें, जितना गर्म आपका बच्चा सहन कर सकता हो उतना गर्म करके तौलिए को कान पर रखते हुए सिकाई करें| ऐसा करने से बच्चे को कान दर्द की परेशानी से आराम मिल सकता है, सिकाई के लिए आप हीटिंग पैड या गर्म पानी से भरी प्लास्टिक की बोतल का भी इस्तेमाल कर सकते है| दिन में दो से तीन बार गर्म सिकाई करने से जल्द कान दर्द की परेशानी से छुटकारा मिल जाता है|

2 – बच्चो के कान दर्द की घरेलू दवा है तुलसी की पत्तियां

प्राचीन समय से तुलसी को महत्पूर्ण औषधि के रूप में जाना जाता है, तुलसी के पत्तो में मौजूद औषधीय गुण कान दर्द की परेशानी को समाप्त करने में सहायक होते है| तुलसी का पौधा आपको लगभग सभी घरो में देखने को मिलता है, सबसे पहले तुलसी के 10 से 15 पत्तो को लेकर उन्हें अच्छी तरह से धो लें| तुलसी के पत्तो को अच्छी तरह से मसलकर या पीसकर उनका रस निकाल लें, फिर तुलसी के पत्तो के रस में से दो या तीन बूँद कान में डालने से जल्द कान दर्द की परेशानी में लाभ प्राप्त होता है|

3 – बच्चो के कान दर्द की दवा है जैतून का तेल

अगर आपके बच्चे के कान में दर्द की समस्या हो रही है और आप बच्चो के कान दर्द की घरेलू दवा ढूंढ रहे है तो जैतून का तेल आपके लिए बेहतरीन दवा साबित हो सकती है| जैतून के तेल में मौजूद औषधीय गुण कान के संक्रमण का इलाज करने के साथ साथ कान दर्द की समस्या को समाप्त करने में मददगार साबित होते है| सबसे पहले थोड़ा सा जैतून का तेल लेकर उसे हल्का गर्म कर लें, फिर इस तेल को कान के आसपास और अंदर हल्के से लगाने से कान दर्द से आराम प्राप्त होता है|

4 – बच्चो के कान में दर्द का रामबाण इलाज है सरसों का तेल

कान में मैल जमा होने की वजह से भी कान में दर्द की समस्या हो सकती है, हालाँकि कान से स्वाभाविक रूप से मैल बाहर निकल जाता है लेकिन कई बार कान में मैल जमा हो जाता है| मैल अगर बाहर नहीं निकलता है तो वो कान के अंदर जम जाता है ऐसे में कान दर्द की परेशानी हो सकती है| कान में जमे मैल को बाहर निकलने की घरेलू दवा है सरसो का तेल| सबसे पहले थोड़ा सा सरसो का तेल लेकर उसे हल्का गर्म कर लें, फिर गुनगुने सरसों के तेल की कुछ बूंदें कान में डालकर सो जाएं, नियमित रूप से सरसो का तेल डालने से बहुत जल्द कान दर्द से छुटकारा मिलने के साथ साथ कान में जमा मैल भी बाहर निकल आता है और कान साफ़ हो जाता है|

कान के दर्द से बचने के उपाय (How to Prevent Ear Pain in Hindi)

कान में दर्द की परेशानी एक आम समस्या होती है, जिसका सामना किसी भी इंसान को कभी भी करना पड़ सकता है| लेकिन अगर हम कुछ सावधानियां रखे तो कुछ हद तक कान के दर्द की परेशानी से बच सकते है, चलिए अब हम आपको कुछ सावधानियो के बारे में जानकारी उपलब्ध कराते है –

  • यह तो आप ऊपर पड़ चुके है की साइनस भी कान में दर्द (kaan me dard) होने का एक कारण होता है, इसीलिए अगर आपके कान में दर्द की समस्या हो रही है तो आपको ठंडी चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • ऐसे आहार जो कफ को बढ़ाते है, ऐसी चीजों को सेवन नहीं करना चाहिए।
  • अगर आप जंकफूड खाने के शौकीन है तो कोशिश करें की कम से कम जंक फ़ूड का सेवन करें|
  • नहाते समय इस बात का ख़ास ख्याल रखे की पानी या साबुन कान के अंदर ना जाने पाएं क्योंकि कान में साबुन या पानी चले जाने से दर्द की परेशानी हो सकती है|
  • कान में खुजली होने पर कान को किसी तेज या नुकीली वस्तु से ना तो खुजाना चाहिए और ना ही कान को साफ करना चाहिए।
  • ऐसी जगह जाने बचें जहाँ पर बहुत तेज ध्वनि हो रही हो या बहुत तेज आवाज में गाने इत्यादि सुनने से बचना चाहिए|

पतंजलि कान की दवा : Patanjali Kaan Ki Dawa

अधिकतर इंसान कान में दर्द होने पर पतंजलि कंपनी की दवा पतंजलि कान की दवा का नाम कया है? पतंजलि में कान की दवा कौन सी आती है? पतंजलि कान की दवा इत्यादि लिखकर सर्च करते है| पतंजलि कंपनी के द्वारा निर्मित डावाओ पर लोगो को अधिक विश्वास इसीलिए है क्योंकि पतंजलि की दवा का असर स्थाई होता है| चलिए हम आप पतंजलि कान की दवा का नाम बताते है पतंजलि कान की दवा (Patanjali Kaan Ki Dawa) का नाम है दिव्य सारिवादी वटी (DIVYA SARIVADI VATI ) | कंपनी ने पतंजलि कान की दवा (Patanjali Kaan Ki Dawa) का निर्माण कई सारी जड़ी बूटियो के द्वारा किया है, पतंजलि कान की दवा का सेवन वेध या चिकित्सक के परामर्श से करने जल्द और पूर्ण लाभ प्राप्त होता है| पतंजलि कान की दवा दिव्य सारिवादी वटी को आप ऑनलाइन या पतंजलि स्टोर से भी खरीद सकते है

हम आशा करते है की आपको हमारा लेख कान में दर्द के घरेलू उपाय और पतंजलि कान की दवा  (Patanjali Kaan Ki Dawa )  में दी गई जानकारी पसंद आई होगी लेकिन अगर आप कान दर्द की घरेलू दवा (Home Remedies for Ear Pain in Hindi) के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप गूगल या बिंग पर कान में दर्द का घरेलू उपाय (Home Remedies for Ear Pain in Hindi) और पतंजलि कान की दवा (Patanjali Kaan Ki Dawa ) लिखकर सर्च कर सकते है|

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa