web analytics
Sun. Sep 25th, 2022

कब्ज का परमानेंट इलाज (Home Remedies for Constipation in Hindi) : आज के समय में अधिकतर महिला और पुरुष कब्ज (constipation in hindi) की समस्या का सामना कर रहे है, कब्ज की परेशानी से पीड़ित इंसान का पेट ठीक और पूर्ण रूप से साफ नहीं होता है| पेट साफ़ ना होने की वजह से इंसान को बार बार शौच करने जाना पड़ता है, पूरी तरह से पेट साफ ना होने की वजह से इंसान के शरीर में पूरे दिन आलस भरा रहता है। कब्ज की परेशानी से पीड़ित इंसान को मल त्यागने के लिए काफी समय तक बैठना पड़ता है या ज्यादा जोर लगाना पड़ता है| कब्ज की समस्या किसी भी उम्र के इंसान के साथ हो सकती है|

कब्ज की समस्या किसी भी उम्र के इंसान के साथ हो सकती है, जब किसी भी इंसान को कब्ज की परेशानी होती है तो वो कब्ज का इलाज घरेलू उपाय से करना पसंद करता है क्योंकि घरेलू नुस्खों का नुक्सान कुछ नहीं होता है और फायदा स्थाई होता है| कुछ इंसान कब्ज का रामबाण इलाज पतंजलि, कब्ज की दवा पतंजलि, बाबा रामदेव कब्ज का इलाज, पुरानी से पुरानी कब्ज की दवा,  कब्ज को जड़ से इलाज, कब्ज का परमानेंट इलाज, कब्ज का रामबाण इलाज, प्रेगनेंसी में कब्ज का इलाज इत्यादि लिखकर अपनी परेशानी का समाधान सर्च करते है| अगर आप कब्ज की समस्या (constipation in hindi) से पीड़ित है तो हमारा यह पागे आपके लिए लाभकारी साबित होगा क्योंकि आज हम अपने इस लेख में कब्ज के बारे में जानकारी देने के साथ साथ कब्ज को जड़ से खत्म करने के घरेलू उपाय और कब्ज की घरेलू दवा के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है|

कब्ज का जड़ से इलाक़ के बारे में जानने से पहले आपको यह जनाना बहुत जरुरी है की आखिर कब्ज कया होता है? कब्ज के लक्षण (Kabj ke lakshan) कौन कौन से है ? कब्ज होने कारण (kabj hone ke karan) कया है?| आयुर्वेद में कब्ज की परेशानी को समाप्त करने के लिए काफी सारे घरेलू उपाय (Kabj ke Gharelu Upay) के बारे में जानकारी दी गई है, जिन्हे अपनाकर आप आसानी से कब्ज की परेशानी से छुटकारा प्राप्त कर सकते है| घरेलू नुस्खों से आप आसानी से कब्ज का घरेलू उपचार अपने घर पर ही कर सकते हैं। किसी भी इंसान को अगर लम्बे समय तक कब्ज की समस्या रहती है तो इंसान आने कई साड़ी परेशानियां होने की सम्भावना होती है इसीलिए कब्ज का इलाज जितनी जल्दी हो जाए उतना बेहतर होता है| कब्ज की रामबाण दवा या कब्ज के घरेलू उपचार के बारे में जानने से पहले हम आपको कब्ज के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

Table of Contents

कब्ज क्या होती है? (What is Constipation in Hindi?)

आमा भाषा में कहे तो अगर किसी भी इंसान को मल का त्याग करते समय दर्द हो रहा है या पेट एक बार में साफ़ नहीं हो रहा है तो इस परेशानी को कब्ज कहा जाता है| कब्ज (constipation in hindi) की परेशानी में मल या स्टूल बहुत ज्यादा सूखा और सख्त हो जाता है, स्टूल के सख्त और कठोर होने की वजह से इन्सान को दर्द का सामना करना पड़ता है| दूसरी तरफ आयुर्वेद की माने तो जब किसी भी इंसान के शरीर में मौजूद वात, पित्त और कफ दोषों में असंतुलन की स्थिति होने पर इंसान के शरीर में कई सारी परेशानियां या रोग उत्पन्न हो जाते है| आज कल की भागदौड़ भरी जिंदगी में असंतुलित खान-पान और ख़राब जीवनशैली की वजह से वात दोष असंतुलित हो जाता है जिसकी वजह से कब्ज की परेशानी हो जाती है|

कब्ज होने के कारण कौन कौन से है ? ( Causes of Constipation in Hindi)

ऊपर आपने कब्ज के बारे में जाना, कब्ज होने के कई सारे कारण हो सकते है, चलिए अब हम आपको कब्ज होने के कारणों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है-

  • अगर आप पानी कम पीते है तो शरीर में पानी की कमी हो सकती है, शरीर में पानी की कमी होने की वजह से इंसान के शरीर में कई सारी परेशानियां हो सकती है| पानी की कमी भी कब्ज (constipation in hindi) होने का एक कारण है क्योंकि पानी की कमी से मल सूख जाता है|
  • ऐसे इंसान जो मैदा से बनी हुई चीजों का सेवन अधिक मात्रा में करते है उनमे कब्ज की सांसी होने की प्रबल सम्भावना रहती है|
  • अधिक तला हुआ या मिर्च-मसालेदार भोजन भी कब्ज होने का कारण होता है|
  • अगर आप नियमित रूप से समय पर भोजन नहीं करते है तो यह भी कब्ज होने का एक कारण होता है|
  • रात में देर तक जागना या रात में काफी देर से भोजन करने की वजह से भी कब्ज की समस्या हो सकती है|
  • अगर आप अधिक मात्रा में चाय और कॉफी का सेवन करते है तो चाय या कफ कब्ज होने का एक कारण हो सकते है|
  • तंबाकू, सिगरेट या आने मादक पदार्थो का सेवन करने की वजह से भी कब्ज (constipation in hindi) की समस्या हो सकती है|
  • ऐसे इंसान जो भोजन पचे बिना ही दोबारा भोजन करते है अर्थात भोजन करने के बाद तुरंत या बहुत कम समय अंतराल में दोबारा भोजन कर लेते है तो यह भी कब्ज का कारण हो सकता है|अगर आप किसी भी प्रकार के मानसिक तनाव से गुजर रहे है तो तनाव का असर आपके शरीर पर पड़ता है, जिसकी वजह से कब्ज की परेशानी हो सकती है|
  • किसी भी इंसान के शरीर में अगर हार्मोन्स का असंतुलन हो रहा है तो उस इंसान को हार्मोन्स में बदलाव या असंतुलन की वजह से कब्ज की परेशानी हो सकती है|
  • कब्ज होने का एक कारण थायराइड की परेशानी भी होती है|
  • अगर आप काफी ज्यादा मात्रा में या लम्बे समय से दर्द निवारक दवाइयों का सेवन कर रहे है तो दर्द निवारक दवाइयो की वजह से भी कब्ज (constipation in hindi) की परेशानी हो सकती है|

कब्ज के लक्षण कौन कौन से है ? (Constipation Symptoms in Hindi)

ऊपर आपने कब्ज कया है और कब्ज होने के करने के बारे में जानकारी प्राप्त की है, अब हम आपको कब्ज के लक्षणों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराते है| मल कठोर या सूखा होने के अलावा भी कब्ज के लक्षण होते है, चलिए जानते है कब्ज के लक्षण कौन कौन से है –

  • मल त्याग्ने के बाद पूरे दिन पेट में दर्द एवं भारीपन की समस्या रहना भी कब्ज का एक लक्षण होता है।
  • कब्ज (constipation in hindi) का एक पेट में गैस बनना भी होता है।
  • अगर स्टूल सख्त और सूखा हो रहा है तो इसकी वजह कब्ज भी हो सकती है।
  • दिन भर सिर में दर्द की शिकायत होना।
  • दिन भर बदहजमी की परेशानी होना|
  • अगर बिना किसी मेहनत का काम किए हुए दिन भर शरीर में आलस बना रहता है, कुछ भी करने का मन नहीं करता है तो आप कब्ज की समस्या से पीड़ित हो सकते है|
  • कब्ज का एक लक्षण पिण्डिलियों में दर्द रहना भी होता है।
  • दिन भर मुंह से दुर्गन्ध आने की वजह कब्ज (constipation in hindi) भी हो सकती है।
  • अगर आपके मुँह में छाले की समस्या हो रही है तो आप कब्ज की समस्या से ग्रसित हो सकते है|
  • कब्ज की वजह से त्वचा में मुँहासे या फुंसियाँ की परेशानी भी हो सकती है|

कब्ज को जड़ से खत्म करने का रामबाण इलाज & घरेलू दवा (Home Remedies for Constipation in Hindi)

कब्ज का जड़ से इलाज करने के लिए घरेलू नुस्खों को सबसे ज्यादा असरदायक माना जाता है, चलिए अब हम आपको कब्ज के इलाज के घरेलू उपाय (Kabj ke Gharelu Upay) के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

कब्ज का परमानेंट इलाज है मुनक्का (Raisin: Home Remedies to Treat Constipation in Hindi)

जो भी इंसान कब्ज की परेशानी से पीड़ित होता है वो कब्ज को जड़ से खत्म करने का इलाज या कब्ज की रामबाण दवा ढूंढ़ते है, ऐसी स्थिति में मुनक्का आपके लिए वरदान साबित हो सकती मुनक्का में मौजूद औषधीय गन कब्ज की परेशानी को समाप्त करने में सहायक होते है| सबसे पहले लगभग 10 ग्राम मुनक्का लेकर उन्हें रात भर के लिए पानी में भिगो कर रख दें, अगली सुबह मुनक्का को पानी में से निकाल लें और मुनक्का के बीज भी निकाल दें| एक गिलास दूध को गर्म होने के लिए रख रख उस दूध में बीज निकली हुई मुनक्का डालकर दूध को अच्छी तरह से पका लें| फिर गैस को बंद कर दें हल्का गुनगुना होने पर मुनक्का को अच्छी तरह चबा कर खा लें ऊपर से दूध पी लें| नियमित रूप से कब्ज के घरेलू उपाय को करने से बहुत जल्द लाभ प्राप्त होता है, मुनक्का को आप कब्ज का रामबाण इलाज (constipation treatment at home in hindi) भी कह सकते है|

कब्ज को जड़ से इलाज है एरण्ड का तेल (Castor oil: Home Remedies for Constipation in Hindi)

एरण्ड का तेल कई सारी परेशानियो को दूर करने में सहायक होता है लेकिन कया आप जानते है की एरण्ड का तेल कब्ज का रामबाण इलाज भी होता है| नियमित रूप से रात में सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध में लगभग एक चम्मच एरण्ड का तेल डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पीने से सुबह पेट साफ़ होता है| कब्ज की समस्या को दूर करने में यह घरेलू नुस्खा (Kabj ka ilaj) बहुत लाभदायक होता है।

कब्ज का रामबाण इलाज है बेल (Bael: Home Remedies for Constipation Treatment in Hindi)

बेल का सेवन करना सभी को पसंद होता है बेल को पेट के लिए अमृत माना जाता है, पेट से सम्बंधित परेशानियो को दूर करने में बेल बहुत लाभकारी होती है| कब्ज की समस्या से छुटकारा पाने के लिए सबसे पहले एक बेल का गुद्दा निकाल कर उसमे थोड़ा सा गुड़ मिलाकर सुबह और शाम सेवन करने से लाभ मिलता है आप चाहे तो बेल का शरबत या जूस भी पी सकते है| बेल को कब्ज का रामबाण इलाज या कब्ज को जड़ से खत्म करने की दवा (constipation treatment at home in hindi) के रूप में भी जाना जाता है|

कब्ज का घरेलू इलाज है जीरा और अजवायन (Jeera and Ajwain: Home Remedies to Treat Constipation in Hindi)

शहीद ही कोई घर हो जिसमे जीरा और अजवायन का इस्तेमाल ना होता हो, कब्ज को जड़ से खत्म करने की रामबाण दवा (kabjiyat ki dava) बनाने के लिए सबसे पहले एक चम्मच जीरा और एक चम्मच अजवाइन लेकर दोनों को हल्की आंच पर तवे पर भून लें, थोड़ा सा भून जाने पर अजवाइन और जीरे को बारीक पीस कर चूर्ण बना लें फिर इस चूर्ण में लगभग एक चम्मच काला नमक डालकर अच्छी तरह से मिला लें, नियमित रूप से आधा चम्मच मिश्रण को आधे गिलास गुनगुने पानी में डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पीने से बहुत जल्द कब्ज की सांसे से छुटकारा मिल जाता है| इस घरेलू नुस्खे को पुरानी से पुरानी कब्ज को दूर करने का रामबाण नुस्खा या कब्ज का रामबाण इलाज (Kabj ka ilaj) भी माना जाता है।

कब्ज की बीमारी का घरेलू इलाज है मुलेठी (Mulethi: Home Remedy for Constipation Disease in Hindi)

यह बात तो सभी जानते है की मुलेठी कफ और गले के लिए लाभकारी होती है लेकिन कया जानते है मुलेठी कब्ज की समस्या को समाप्त करने में फायदेमंद होती है| मुलेठी में मौजूद औषधीय गुण कब्ज की समस्या से निजात दिलाने में सहायक होते है, कब्ज की रामबाण दवा (kabjiyat ki dava) बनाने के लिए सबसे पहले थोड़ी सी मुलेठी को महीन पीस कर चूर्ण बना लें या आप चाहे तो बाजार से मुलेठी पॉउडर भी खरीद सकते है| एक गिलास हल्के गुनगुने पानी में लगभग एक चम्मच मुलेठी पॉउडर और एक चम्मच गुड़ डालकर अच्छी तरह से मिला लें, बस कब्ज की दवा तैयार है सेवन कर लें,  इस उपाय को करने से जल्द ही लाभ (constipation treatment in hindi) मिलता है|

कब्ज को जड़ से खत्म करने का रामबाण इलाज है सौंफ (Saunf: Home Remedies for Constipation in Hindi)

सौंफ का उपयोग माउथ फ्रेशनर के रूप में किया जाता है और सौंफ हमारे पेट के लिए भी काफी लाभकारी साबित होती है| लेकिन कया आप जानते है की सौंफ कब्ज को जड़ से खत्म करने की दवा भी होती है, सौंफ में मौजूद औषधीय गुण कब्ज की समस्या को समाप्त करने में सहायक होते है| सबसे पहले थोड़ी सी सौंफ को तवे पर भून लें, नियमित रूप से रात को सोने से भुनी हुई सौंफ को अच्छी तरह से चबाकर खाने के बाद गर्म पानी पी लें| सौंफ को कब्ज की रामबाण दवा या कब्ज का परमानेंट इलाज (kabjiyat ki dava) के रूप में भी जाना जाता है|

कब्ज को दूर करने का घरेलू उपचार है चना (Gram: Home Remedies to Treatment Constipation in Hindi)

कब्ज की समस्या को दूर करने में चना काफी लाभकारी माना जाता है, चने में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व कब्ज की परेशानी को दूर करने में मददगार (Home Remedies for Constipation in Hindi) साबित होते है| चने का उपयोग आप उबालकर या भिगोकर कर सकते है|

कब्ज की रामबाण दवा है अलसी के बीज (Alsi Benefits in Constipation in Hindi)

अलसी के बीज को कब्ज की रामबाण दवा भी कह सकते है, अलसी के बीज काफी सारी परेशानियो को दूर करने में सहायक होने के साथ साथ शरीर के लिए भी फायदेमंद होते है, लेकिन कई आप जानते है की अलसी के बीज कब्ज की रामबाण दवा भी होती है| अलसी के बीजो में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व कब्ज की समस्या को समाप्त करने में सहायक होते है, सबसे पहले थोड़े से अलसी के बीजों को पीसकर पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट में से लगभग एक चम्मच अलसी के बीज के पेस्ट का सेवन पानी के साथ रात को सोने से पहले करने से जल्द ही कब्ज की समस्या से मुक्ति (constipation treatment in hindi) मिल जाती है|

कब्ज की घरेलू दवा है त्रिफला चूर्ण  (Triphala Benefits in Constipation Treatment in Hindi)

प्राचीन समय से त्रिफला चूर्ण को महत्वपूर्ण औषधि के रूप में जाना जाता है, त्रिफला चूर्ण बहुत सारी परेशानियो को दूर करने में लाभकारी होता है| त्रिफला चूर्ण में मौजूद औषधीय गुण पाचन तंत्र को बेहतर बनाने के साथ साथ कब्ज की परेशानी को दूर करने में सहायक साबित होता है| नियमित रूप से रात को सोने से पहले एक ग्लास गर्म पानी के साथ थोड़े से त्रिफला चूर्ण का सेवन करने से जल्द ही कब्ज की समस्या से छुटकारा मिल जाता है| त्रिफला चूर्ण को पुरानी से पुरानी कब्ज का रामबाण इलाज या कब्ज की रामबाण दवा के रूप में भी जाना जाता है।

कब्ज की समस्या को दूर भगाने में सहायक है पालक (Home Remedies for Constipation in Hindi)

शायद ही कोई घर या कोई इंसान हो जिसे पालक किसी ना किसी रूप में पसंद ना हो हो, पालक औषधीय गुणों से भरपूर होने की वजह पालक शरीर के लिए लाभकारी माना जाता है| यह तो हम सभी भली भांति जानते ही है की अगर आप अपना खान पीन सही रखेंगे तो आप कब्ज की परेशानी से मुक्त रह सकते है| अगर आप कब्ज की समस्या से परेशान है तो पालक आपकी इस परेशानी को दूर करने में सहायक हो सकता है, नियमित रूप से पालक का सेवन किसी भी रूप अर्थात पालक की भुज्जी, साग इत्यादि में करने से जल्द ही आराम मिलता है| पालक को कब्ज की रामबाण दवा या कब्ज को जड़ से खत्म करने का उपाय (constipation treatment in hindi) भी कह सकते है|

कब्ज की परेशानी का तुरंत इलाज है पपीता (constipation treatment at home in hindi)

पपीता हमारे पेट के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी होता है, पपीते में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व पेट से सम्बंधित परेशानियो को दूर करने के साथ साथ पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में मददगार साबित होते है| अगर आप कब्ज की समस्या से पीड़ित है तो पपीता आपके लिए कब्ज की रामबाण दवा साबित हो सकती है, अधिकतर इंसान रात में पपीता खाने के फायदे के बारे में नहीं जानते है दरसल रात में पका हुआ पपीता खाने से कब्ज की समस्या (constipation treatment at home in hindi) से मुक्ति मिलती है|

नवजात शिशु में कब्ज का इलाज,  शिशुओं में कब्ज के लिए दवा,

कब्ज की समस्या बच्चो या नवजात शिशु को भी हो सकती है हालाँकि ऐसे नवजात शिशु जो अपनी का माँ दूध पीते है उनमे कब्ज की समस्या कम ही देखने को मिलती है लेकिन जो बच्चे फार्मूला मिल्क या पॉउडर वाला दूध पीते है उनमे कब्ज की परेशानी देखने को काफी मिलती है|   शिशु या छोटे बच्चो को बार बार दवा देना सही नहीं माना जाता है ऐसे में इंसान घरेलू नुस्खों की तरफ रुख करता है क्योंकि इनका कोई नुक्सान नहीं होता है|

अधिकतर माँ बाप बच्चे की कब्ज की दवा, नवजात शिशु में कब्ज के लिए घर उपचार, शिशुओं में कब्ज के लिए दवा, बच्चों का पेट साफ करने के उपाय या कुछ इंसान बच्चे की उम्र के हिसाब से जैसे 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 साल के बच्चे की कब्ज की दवा या घरेलू इलाज सर्च करते है| चलिए अब हम आपको बच्चो में कब्ज की समस्या को समाप्त करने के लिए घरेलू उपाय और इलाज के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है, लेकिन हम आपको सलाह देंगे की बच्चो को कब्ज की दवा देने से पहले वेध या बच्चो के डॉक्टर से परामर्श जरूर लें-

शिशु या बच्चे में कब्ज की रामबाण इलाज और घरेलू दवा है एक्सरसाइज

जब भी किसी छोटे बच्चे को कब्ज की परेशानी होती है तो माँ बाप काफी परेशान हो जाते है, अधिकतर माँ बाप अपने बच्चे को दवा देना नहीं चाहते है| लेकिन कया आप जानते है की बिना किसी दवा के भी बच्चो की कब्ज का इलाज कर सकते है, शिशु या बच्चे के पैर को थोड़ा सा मोड़ें और उसके दोनों पैरो को दोनों हाथो से साइकिल के मोशन में चलाएं, कुछ देर इसी मोशन में बच्चे के पैर चलाने से कब्ज की समस्या से छुटकारा मिल जाता है, एक्सरसाइज़ को बच्चो की कब्ज की रामबाण दवा या इलाज भी कहा जा सकता है|

बच्चो में कब्ज की घरेलू दवा है सेब का रस

बच्चों् में कब्ज होने का कारण फाइबर की कमी भी होती है, सेब में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है| सेब को बारीक पीस कर उसे छान लें, छने हुए रस को दिन में एक बार बच्चे को पिलाने से कब्जम की समस्या से छुटकारा मिल जाता है| लेकिन अगर आपका बच्चा 6 महीने से कम है तो बच्चे को सेब का रस देने से पहले चाइल्ड स्पेशलिस्ट से सलाह जरूर लें|

नवजात शिशु में कब्ज की समस्या का इलाज है नारियल तेल

अगर आपके नवजात शिशु को कब्ज की समस्या हो रही है और आप नवजात शिशु में कब्ज के लिए घरेलू उपचार ढूंढ रहे है तो नारियाल का तेल आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है| नवजात शिशु में कब्ज का इलाज करने के लिए उसकी गुदा के आसपास दिन में दो से तीन बार नारियल तेल लगाने से कब्ज की समस्या से आराम मिलता है|

बच्चो में कब्ज का घरेलू उपचार है सौंफ (Home Remedies for Constipation in Hindi)

यह तो हम सब भली भांति जानते ही है की सौंफ पाचन से संबंधित समस्या ओं को दूर करने में लाभकारी होती है| लेकिन कया आप जानते है की सौंफ बड़ो के साथ साथ बच्चो में कब्ज का घरेलू इलाज करने में मददगार साबित होती है, बच्चो में कब्ज की रामबाण दवा बनाने के लिए सबसे पहले एक कप पानी को गर्म होने के लिए रख दें फिर उसमे लगभग एक चम्म च सौंफ डालकर अच्छी तरह से उबाल लें, जब पानी अच्छी तरह से उबल जाएं तो गैस बंद कर दें| ठंडा होने पर पानी को छान लें और छने हुए पानी को बच्चे को दिन में तीन से चार देने से जल्द लाभ मिलता है| अगर बच्चा 6 महीने से छोटा है तो माँ को सौंफ का सेवन करना चाहिए|

बच्चो की कब्ज की घरेलू दवा है पपीता (Home Remedies for Constipation in Hindi)

पपीता पेट के लिए लाभकारी होता है पपीते में मौजूद औषधीय गुण और तत्व कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाने में सहायक होते है| बच्चो को पपीता खिलाने से उनमे कब्ज की समस्या नहीं होती है, लेकिन अगर आपके बच्चे की उम्र 6 महीने से कम है तो उसे पपीता खाने को नहीं देना चाहिए|

शिशु में कब्ज का घरेलू उपचार है तरल पदार्थ

अक्सर देखा गया है की बच्चो के शरीर में पानी की कमी होने की वजह से कब्ज की समस्या हो जाती है, इसीलिए बच्चो को तरल पदार्थ जैसे सूप, फलो का रस इत्यादि देते रहना चाहिए, अगर आपका बच्चे की उम्र 6 महीने से कम है तो उसे सूप या फलो का रस देने से पहले बच्चो के डॉक्टर से परामर्श जरूर लें|

कब्ज का रामबाण इलाज पतंजलि,  कब्ज की दवा पतंजलि

आज के समय कब्ज की परेशानी हो या आने किसी भी प्रकार की परेशानी की दवा सबसे पहले पतंजलि में सर्च करता है| बाबा रामदेव और उनकी कंपनी पतंजलि पर लोगो को सबसे ज्यादा विश्वास है और सही भी है क्योंकि पतंजलि की सभी दवा बहुत ज्यादा असरदायक होती है|

कब्ज की परेशानी होने पर इंसान कब्ज का रामबाण इलाज पतंजलि, कब्ज को जड़ से इलाज, पेट साफ करने की होम्योपैथिक दवा, पुरानी कब्ज के लिए होम्योपैथिक दवा, कब्ज की दवा पतंजलि, बाबा रामदेव कब्ज का इलाज, पुरानी से पुरानी कब्ज की दवा, कब्ज तोड़ने की दवा, कब्ज का रामबाण इलाज राजीव दीक्षित इत्यादि लिखकर सर्च करता है| चलिए अब हम आपको कब्ज का रामबाण इलाज पतंजलि या पतंजलि में कब्ज की दवा के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

पतंजलि में कब्ज की दवा है पतंजलि दिव्य चूर्ण

पतंजलि कंपनी के द्वारा निर्मित सभी दवा पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक होती है, अगर आप कब्ज की बेस्ट आयुर्वेदिक दवा सर्च कर रहे है तो पतंजलि दिव्य चूर्ण आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है| कब्ज को दूर करने वाले पॉउडर का निर्माण कई सारी जड़ी बूटियो के द्वारा किया गया है जो कब्ज की समस्या को समाप्त करने में मददगार होती है| नियमित रूप से इस चूर्ण का सेवन करने से स्टूल मुलायम होता है मल का त्याग करते समय दर्द की परेशानी भी नहीं होती है या चूर्ण कब्ज की समस्या को समाप्त करने के साथ साथ सीने में जलन, गैस और अपच इत्यादि समस्याओ को दूर करने में सहायक होता है, पूर्ण और जल्दी लाभ लेने के लिए चूर्ण का सेवन वेध या चिकित्सक की सलाह से लें| पतंजलि दिव्य चूर्ण को आप पतंजलि स्टोर या ऑनलाइन भी खरीद सकते है –

कब्ज की आयुर्वेदिक रामबाण दवा है पतंजलि शुध्दि चूर्ण

कब्ज की समस्या होने पर अधिकतर इंसान कब्ज की रामबाण दवा या कब्ज को जड़ से खत्म करने की दवा सर्च करते है, अगर आप भी कोई ऐसी ही दवा सर्च कर रहे है तो पतंजलि शुध्दि चूर्ण आपके लिए बेहतरीन विकल्प हो सकता है| पतंजलि शुद्धि चूर्ण को अन्य दवाइयो के मुकाबले सबसे अच्छा और असरदायक माना जाता है, इस चूर्ण का निर्माण कई सारी औषधियो के द्वारा किया गया है इसीलिए इसके दुष्परिणाम देखने को नहीं मिलती है| नियमित रूप से कब्ज का पाऊडर पतंजलि शुद्धि चूर्ण का सेवन करने से कब्ज की परेशानी दूर होने के साथ पेट फूलने की समस्या से राहत मिलती है और भूख भी बढ़ने लगती है|

कब्ज तोड़ने की दवा का नाम है पतंजलि दिव्य उदरकल्प चूर्ण

अगर आप कब्ज की समस्या से पीड़ित है और आपको कब्ज की समस्या से आराम नहीं मिल रहा है और आप पतंजलि कब्ज की दवा या कब्ज का रामबाण इलाज पतंजलि सर्च कर रहे है तो पतंजलि दिव्य उदरकल्प चूर्ण आपके लिए लाभककारी हो सकता है| नियमित रूप से पतंजलि उदरकल्प चूर्ण का सेवन करने से कब्ज का इलाज होने के साथ साथ पेट में जलन और दर्द जैसी समस्याओ से भी मुक्ति मिल जाती है। इस चूर्ण का सेवन बच्चे, महिलाऐं और बुजुर्ग कोई भी कर सकता है बस अलग अलग इंसान या उम्र के हिसाब से खुराक की मात्रा कम हो जाती है| कब्ज की आयुर्वेदिक रामबाण दवा का सेवन करने से पुरानी से पुरानी कब्ज की समस्या से छुटकारा मिल जाता है, पतंजलि दिव्य उदरकल्प चूर्ण को आप ऑनलाइन या पतंजलि स्टोर से भी खरीद सकते है –

कब्ज की दवा है पतंजलि त्रिफला चूर्ण

त्रिफला चूर्ण कब्ज की समस्या को दूर करने में बहुत ज्यादा लाभकारी होता है, त्रिफला चूर्ण का सेवन करने से कब्ज की समस्या बहुत जल्द समाप्त हो जाती है| पतंजलि त्रिफला चूर्ण को आप पतंजलि स्टोर से खरीद सकते है|

हम आशा करते है की आपको हमारा लेख कब्ज का रामबाण इलाज (Home Remedies for Constipation in Hindi) पसंद आया होगा लेकिन अगर आपको कब्ज के बारे में और अधिक जानकारी चाहिए तो आप गूगल या बिंग पर कब्ज का रामबाण इलाज (Home Remedies for Constipation in Hindi) लिखकर सर्च कर सकते है|

best Home Remedies for Constipation in Hindi, latest Home Remedies for Constipation in Hindi

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa