web analytics
Sun. Sep 25th, 2022
Home Remedies for Cholesterol

कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय & आयुर्वेदिक दवा (Home Remedies for Cholesterol) – यह तो हम सभी जानते है की हमारे शरीर में काफी सारे तत्व मौजूद होते है, उन्ही में से एक वसायुक्त तत्व कोलेस्ट्रॉल भी होता है, कोलेस्ट्रॉल का उत्पादन लिवर के द्वारा होता है| कोलेस्ट्रॉल दो तरह के होते है जिन्हे आम भाषा में अच्छा कोलेस्ट्रॉल और ख़राब कोलेस्ट्रॉल कहा जाता है| ख़राब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने पर इंसान को कई सारी गंभीर परिस्थियों का सामना करना पड़ सकता है, हाई कोलेस्ट्रॉल कई जानलेवा समस्याओ और रोगो को पैदा कर सकता है| काफी सारे इंसान हाई कोलेस्ट्रॉल का इलाज करने में लापरवाही करते है जिसकी वजह से उन्हें कुछ मामलो भयंकर बीमारियों का सामना करना पड़ता है| आज के समय में हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित इंसानो की संख्या काफी ज्यादा हो गई है| कोलेस्ट्रॉल प्रोटीन के साथ मिलकर लिपोप्रोटीन का निर्माण करता है और लिपोप्रोटीन फैट को खून में घुलने से रोकने का काम करता है| हाई कोलेस्ट्रॉल के घरेलू उपाय अपनाकर भी आप अपनी परेशानी से छुटकारा पा सकते है|

हालाँकि आज के समय में हर इंसान अपनी परेशानी से जल्दी से जल्दी छुटकारा पाना चाहता है, हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित इंसान हाई कोलेस्ट्रॉल की अंग्रेजी दवा या हाई कोलेस्ट्रॉल की टेबलेट का सेवन कर लेते है| कुछ मामलो में इंसान को अंग्रेजी दवाओं के साइड इफ़ेक्ट भी देखने को मिलते है| काफी सारे इंसान आज भी अपने परेशानी या बिमारी को दूर करने के लिए घरेलू नुस्खे आजमाना पसंद करते है, कोलेस्ट्रॉल से पीड़ित इंसान कोलेस्ट्रॉल के घरेलू उपाय या कोलेस्ट्रॉल की घरेलू दवा अपना कर भी आसानी से आराम प्राप्त कर सकते है|

जिन इंसानो को कोलेस्ट्रॉल को कम करने के घरेलू नुस्खों के बारे जानकारी नहीं होती है वो इंटरनेट का सहारा लेते है| पीड़ित इंटरनेट पर कोलेस्ट्रॉल कया है? हाई कोलेस्ट्रॉल किसे कहते है? हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या क्यों होती है? हाई कोलेस्ट्रॉल के कारण, हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षण, हाई कोलेस्ट्रॉल का घरेलू इलाज, हाई कोलेस्ट्रॉल के घरेलू उपाय, हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने के घरेलू उपाय, Home Remedies for Cholesterol इत्यादि लिखकर सर्च करते है| चलिए अब हम आपको कोलेस्ट्रॉल के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है|

Table of Contents

हाई कोलेस्ट्रॉल क्या है? (what is High Cholesterol in hindi)

यह तो आप समझ ही होंगे की कोलेस्ट्रॉल एक वसायुक्त पदार्थ होता है, कोलेस्ट्रॉल ब्लड के साथ धमनियों में बहकर प्लेक्स का निर्माण करता है| अगर कोई इंसान हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित होता है तो ऐसे इंसान को गंभीर बीमारियों जैसे हार्ट ब्लॉकेज, हार्ट अटैक और स्ट्रोक इत्यादि जानलेवा बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है|

हम जो भोजन करते है उससे भी कोलेस्ट्रॉल की मात्रा मिलती है ऐसा माना जाता है की शरीर में मौजूद कोलेस्ट्रॉल की 30 % कोलेस्ट्रॉल भोजन से मिलता है और बाकि का निर्माण लिवर करता है| शरीर में जरूरी तत्वों, विटामिन्स और होर्मोनेस का निर्माण कोलेस्ट्रॉल ही करता है, शरीर को स्वस्थ रखने के लिए कोलेस्ट्रॉल की मात्रा संतुलित होनी बहुत जरुरी है| आयुर्वेद के अनुसार हाई कोलेस्टॉल की समस्या कफ दोष के असंतुलन की वजह से होती है, चलिए अब हम आपको कोलेस्ट्रॉल के प्रकारो के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है|   की अधिकता होने से कोलेस्ट्रॉल की उत्पत्ति होती है।

कोलेस्ट्रॉल दो तरह के होते है-

शरीर में मौजूद कोलेस्ट्रॉल की प्रवर्ति और गुणवत्ता के आधार पर दो प्रकारो भागो में बांटा गया है, जिन्हे गुड कोलेस्ट्रॉल (HDL– High Density Protine) और बैड कोलेस्ट्रॉल (LDL– Low Density Protine) के नाम से जाना जाता है| चलिए अब हम आपको कोलेस्ट्रॉल के दोनों प्रकारो के बारे में जानकारी दे रहे है

एचडीएल | हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन | गुड या अच्छा कोलेस्ट्रॉल | (HDL– High Density lipoprotein)

HDL की फुल फॉर्म High Density lipoprotein (hdl full form in hindi) होती है| जैसा की आपको नाम से ही पता चल रहा होगा की गुड कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी होता है| गुड़ कोलेस्ट्रॉल ब्लड वेसेल्स में जमे फैट को कम करने के साथ साथ रक्त धमनियों में मौजूद फालतू कोलेस्ट्रॉल को लीवर में पहुंचाता है| फिर लिवर फालतू कोलेस्ट्रॉल को शरीर से बाहर निकाल देता है|

एलडीएल | लो डेंसिटी लिपोप्रोटीन | बेड या बुरा कोलेस्ट्रॉल | (LDL– Low Density lipoprotein )

LDL की फुल फॉर्म Low Density lipoprotein (ldl full form in hindi) होती है|बेड कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा नुकसानदायक होता है| बेड कोलेस्ट्रॉल ब्लड धमनियों में प्लेक को जमा कर देता है, जिसकी वजह से धमनियों में ब्लड सर्कुलेशन धीमा होने लगता है और एक समय पर बंद हो जाता है, जिसकी वजह से इंसान को हार्ट अटैक और स्ट्रोक इत्यादि गंभीर समस्याओ का सामना करना पड़ता है|

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के कारण (Causes of Cholesterol in hindi)

ऊपर आपने कोलेस्ट्रॉल के बारे में जानकारी प्राप्त की अब हम आपको कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के कारन के बारे में बताने वाले है| हालाँकि शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की वजह ख़राब जीवनशैली और असंतुलित भोजन भी होता है, इसके अलावा भी कई आने कारण भी होते है| आपको कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के कारण के साथ साथ कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण (Cholesterol badhne ke lakshan) के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए| अगर आपको कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के करने के बारे में जानकारी होती हैए तो आपको कोलेस्ट्रॉल का इलाज करने में आसानी होती है| चलिए अब हम आपको कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के कारण के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

  • आज कल की भागदौड़ भरी जिंदगी और ख़राब जीवन शैली में अधिकतर इंसान असंतुलित भोजन करते है| कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का कारण संतृप्त वसा अर्थात ऐसा भोजन जिसमे कोलेस्ट्रॉल और फैट अधिक मात्रा में मौजूद होती है जैसे पनीर, केक, मक्खन, घी और लाल फैटी मांस इत्यादि का सेवन करना भी होता है|
  • हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या होने का कारण वंशानुगत भी होता है, अगर आपके परिवार के किसी भी सदस्य को पहले से हाई कोलेस्ट्रॉल की परेशानी होती है तो आपको भी हाई कोलेस्ट्रॉल की परेशानी होने की प्रबल सम्भावना रहती है|
  • कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का कारण शराब का सेवन भी होता है| जो भी इंसान शराब का सेवन ज्यादा करता है तो अधिक शराब पीने की वजह से लीवर और हार्ट की मांसपेशियों को नुकसान पहुँचता है, जिसकी वजह से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाती है और शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा भी बढ़ने लगती है|
  • आजकल की जिंदगी में हर इंसान किसी ना किसी प्रकार के तनाव का सामना कर रहे है, लेकिन कया आप जानते है की तनाव भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का कारण होता है| काफी इंसान तनाव होने पर धूम्रपान और शराब इत्यादि का सेवन करने लगते है जिसकी वजह से भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ने लगता है| तनाव अगर लम्बे समय तक रहें तो इंसान के शरीर पर काफी नकारात्मक प्रभाव पढता है|
  • अगर कोई इंसान किडनी की बिमारी से ग्रसित है तो किडनी की बिमारी की वजह से भी कोलेस्ट्रॉ बढ़ने लगता है|
  • कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का कारण डायबिटीज की बीमारी भी होती है|
  • एड्स और एचआईवी की समस्या से पीड़ित इंसानो में भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की समस्या ज्यादा देखने को मिलती है|
  • थाइरोइड की परेशानी भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का कारण होता है|

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण (Symptoms of Cholesterol in Hindi)

ऊपर आपने कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के कारण के बारे में जानकारी प्राप्त की है, अब हम आपको कोलेस्ट्रॉल के लक्षण या कोलेस्टॉल बढ़ने के लक्षण के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है| अगर आपको कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण (Cholesterol badhne ke lakshan) पता होते है तो आप कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की समस्या का इलाज शुरूआती दौर में ही कर सकते है

  • सिर दर्द भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का लक्षण होता है, हालाँकि सिर दर्द की परेशानी आम है| सिर दर्द होने के कारण काफी सारे होते है, लेकिन अगर आपको सिर दर्द के साथ साथ सिर बहुत हल्का महसूस हो रहा है तो आपको सावधानी की जरुरत है क्योंकि यह कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का संकेत हो सकता है| जब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने लगती है तो सिर की नसों में ब्लड सर्कुलेशन सही से नहीं हो पाता है जिसकी वजह से सिर दर्द और चक्कर जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है|
  • अगर आपकी सांस थोड़ा सा काम करने पर फूल जाती है तो इसकी वजह बढ़ा कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol badhne ke lakshan) भी हो सकता है| हालाँकि सांस फूलने के कारण अन्य भी हो सकते है| दरसल जब किसी भी इंसान के शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने लगता है तो इंसान की शारीरिक क्षमता कम होने के साथ साथ सांस जल्द फूलने लगती है,इसीलिए अगर कम मेहनत का काम करने पर आपकी साँस भी फूल रही है तो कोलेस्ट्रॉल की जांच जरूर करवा लें|
  • जब किसी भी इंसान का अचानक से वजन बढ़ने लगता है तो उसे समझ में नहीं आता है की अचानक से वजन बढ़ने का कारण कया है? तो हम आपको बता दें की कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की वजह से भी मोटापा आने लगता है| अगर आपको पेट में भारीपन और सामान्य से ज्यादा गर्मी या पसीना आ रहा है तो इसके पीछे का कारण कोलेस्ट्रॉल बढ़ना (Cholesterol badhne ke lakshan) हो सकता है, इसीलिए कोलेस्ट्रॉल जरूर चेक करवा लें|
  • सीने में दर्द या बेचैनी होने का कारण बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल भी हो सकता है| कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से दिल से सम्बंधित परेशानियो के होने का खतरा ज्यादा रहता है, इसलिए अगर आपको सीने में दर्द, बेचैनी या दिल बहुत जोर-जोर से धड़कने की समस्या हो रही हो तो लापरवाही बिलकुल ना करें तुरंत डॉक्टर से परामर्श लें और अपना कोलेस्ट्रॉल भी चेक करवाएं| थोड़ी सी लापरवाही जानलेवा साबित हो सकती है|

Home Remedies for Cholesterol

कोलेस्ट्रोल कम करने के घरेलू उपाय (Home Remedies for Cholesterol in Hindi)

अधिकतर इंसान कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करना ज्यादा पसंद करते है| अगर आप घरेलू नुस्खे का का उपयोग सही मात्रा और सही समय पर करते है तो आपको बहुत जल्द परिणाम देखने को मिलते है| चलिए अब हम आपको कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय या कोलेस्ट्रॉल कम करने की दवा के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

कोलेस्ट्रॉल कम करने में घरेलू उपाय है ओट्स (Oats : Home Remedies for Cholesterol in Hindi)

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर इंसान सबसे पहले कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय (indian home remedies for high cholesterol) या कोलेस्ट्रॉल कम करने की दवा सर्च करता है ऐसे में ओट्स आपके लिए लाभकारी साबित हो सकते है| दरसल ओट्स में मौजूद बीटा ग्लूकॉन नामक तत्व हमारी आंतों की सफाई करने के साथ साथ कब्ज की परेशानी को दूर करने में मददगार होता है, आंतो की सफाई होने पर शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल का अवशोषण नहीं हो पाता है। नियमित रूप से ओट्स का सेवन करने से बहुत जल्द बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल की समस्या से आराम मिलता है|

कोलेस्ट्रॉल कम करने का घरेलू इलाज है सोयाबीन (SoyaBeans : Home Remedies for Cholesterol in Hindi)

सोयाबीन के बारे में तो सभी जानते ही है, सोयाबीन में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को बाहर निकालने में मदद करते है| दरसल ब्लड में मौजूद एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को लिवर बाहर निकालता है, ऐसे में सोयाबीन में मौजूद तत्व लिवर की मदद करने के साथ साथ गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में भी सहायक होते है। सोयाबीन को आप कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय या कोलेस्ट्रॉल कम करने की दवा (indian home remedies for high cholesterol) भी कह सकते है|

कोलेस्ट्रॉल कम करने की आयुर्वेदिक दवा है नींबू (Lemon : indian Home Remedies for Cholesterol in Hindi)

गर्मियों में निम्बू पानी का सेवन सभी को पसंद होता है, निम्बू हमारे शरीर के काफी लाभकारी होता है| अगर आप बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित है और कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय या कोलेस्ट्रॉल कम करने की दवा (indian home remedies for high cholesterol) सर्च कर रहे है तो नींबू आपके लिए बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है| नींबू में मौजूद विटामिन्स और घुलनशील फाइबर रक्तवाहिका नलियों की सफाई करने के साथ साथ बैड कोलेस्ट्रॉल को शरीर से बाहर निकालने में मददगार साबित होते है| नियमित रूप से नींबू पानी का सेवन करने से बहुत जल्द बढे हुए कोलेस्ट्रॉल की समस्या से आराम मिलता है|

कोलेस्ट्रॉल काम करने की आयुर्वेदिक दवा है प्याज का रस (Onion : indian Home Remedies for Cholesterol in hindi)

प्याज का इस्तेमाल सभी घरो में होता है, लेकिन कया आप जानते है की प्याज से भी बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल का इलाज करने में सहायक होता है| दरसल प्याज में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व कोलेस्ट्रॉल की मात्रा संतुलित करने में मददगार साबित होते है| सबसे पहले एक प्याज लेकर उसे छीलकर बारीक पीस कर छान लें, फिर एक चम्मच प्याज का रस और एक चम्मच शहद लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिलकर सेवन कर लें| रोजाना दिन में दो से बार मिश्रण का सेवन करने से जल्द आराम मिलता है, प्याज के इस नुस्खे को कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय (cholesterol kam karne ke upay) या कोलेस्ट्रॉल कम करने की रामबाण दवा भी कहा जाता है|

हाई कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय तुलसी और नीम के पत्ते (Home Remedies for Cholesterol in hindi)

तुलसी और नीम दोनों ही औषधीय गुणों से भरपूर होते है, हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए आप तुलसी और नीम के पत्तो का उपयोग कर सकते है| सबसे पहले चार से पांच तुलसी और नीम के ताजो पत्तो को लेकर अच्छी तरह से कूट कर मिश्रण को निचोड़ और छान कर रस निकाल लें, फिर निकले हुए रस को एक गिलास पानी या जूस में मिलाकर पी लें| नियमित रूप से इस नुस्खे को पीने से जल्द लाभ मिलता है| इस घरेलू उपाय को हाई कोलेस्ट्रॉल कम करने की दवा (high cholesterol kam karne ki dawa) भी कह सकते है|

हाई कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय है धनिए के बीज (Home Remedies for Cholesterol in hindi)

धनिए के बीजो में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से छुटकारा दिलाने में सहायक होते है| सब पहले आधा लीटर पानी लेकर उसे गर्म होने के लिए रख दें, फिर इस पानी में दो चम्मच धनिए के बीज डालकर पानी को अच्छी तरह से उबाल लें, जब पानी अच्छी तरह से उबाल जाएं तो गैस बंद कर दें| ठंडा होने पर मिश्रण को छान लें और इस मिश्रण को तीन भागो में बाँट कर सुबह दोपहर और शाम को पीने से जल्द आराम मिलता है| धनिए के बीजो को आप हाई कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय (high cholesterol kam karne ke upay) या हाई कोलेस्ट्रॉल की दवा भी कह सकते है|

कोलेस्ट्रॉल में लाभकारी अलसी के बीज (Flaxseed : indian Home remedies for high Cholesterol in Hindi)

अलसी के बीजो में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या को समाप्त करने में मददगार होते है| नियमित रूप से अलसी के बीज (flax seeds in hindi) या अलसी के बीजो के पॉउडर (flax seeds powder) का सेवन करने से जल्द हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या में आराम मिलता है| अलसी के बीजो के पॉउडर का इस्तेमाल आप छाछ के साथ भी कर सकते है, एक गिलास छाछ में थोड़ा सा अलसी के बीजो का पॉउडर डाल कर अच्छी तरह से मिलाकर पीने से जल्द आराम मिलता है| अलसी के बीजो को कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय (cholesterol kam karne ke upay) या कोलेस्ट्रॉल कम करने की दवा के रूप में भी जाना जाता है|

हाई कोलेस्ट्रॉल का रामबाण इलाज है आंवला (Amla : Home Remedies for Cholesterol in Hindi)

आवंला भी हमारे शरीर के लिए लाभकारी होता है, आवंले का सेवन कच्चा, जूस के रूप में और मुरब्बे रूप में किया जाता है| आवंले में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व जैसे विटामिन-सी और साइट्रिक एसिड इत्यादि कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होते है| नियमित रूप से सुबह खाली पेट एक चम्मच आवंले का रस और एक चम्मच एलोवेरा जूस लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिलाकर सेवन करने से जल्द कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम होने लगता है| काफी सारे इंसान आवंले को कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय (cholesterol kam karne ke upay) या कोलेस्ट्रॉल कम करने की अचूक दवा भी कहते है|

हाई कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज है काला चना (Bengal Gram : Home Remedies for Cholesterol in Hindi)

काले चने शरीर के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी माने जाते है, अधिकतर इंसान शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए काले चने का सेवन करने की सलाह देते है| अगर आप हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित है और आप हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने के घरेलू उपाय या कोलेस्ट्रॉल कम करने की दवा (indian home remedies for high cholesterol) सर्च कर रहे है तो काले चने आपके लिए बेहतरीन विकल्प साबित हो सकते है|

दरसल काले चनो में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व जैसे विटामिन-ए, बी.सी, डी, फाइबर, आयरन, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट और मैग्नीशियम इत्यादि कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को संतुलित करने में सहायक होते है| लगभग एक मुठी काले चनो को पानी में भिगो कर रात भर के लिए रख दें, फिर अगली सुबह खाली पेट भीगे चनो को पानी में से निकालकर खा लें, फिर जिस पानी में चने भीगे हुए थे उस पानी को ऊपर से पी लें| इस नुस्खे को अपनाने से कुछ दिन में ही आपको फर्क दिखाई देने लगता है|

कोलेस्ट्रॉल के लिए फायदेमंद किशमिश (Raisin : Home Remedies for Cholesterol in Hindi)

शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने का पता आप कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण के द्वारा कर सकते है| अगर आपको कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण दिखाई दे रहे है तो तुरंत कोलेस्ट्रॉल की जांच कराएं और कोलेस्ट्रॉल बड़ा हुआ है तो कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय (cholesterol kam karne ke upay) अपनाकर कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को नियंत्रित करें| कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए आप किशमिश का इस्तेमाल भी कर सकते है|

किशमिश हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी मानी जाती है, लेकिन काफी कम इंसान जानते है की किशमिश से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को संतुलित (indian home remedies for high cholesterol) किया जा सकता है| सबसे पहले दस से बारह किशमिश और पांच से छह बादाम लेकर पानी में भिगो कर रात भर के लिए रख दें| फिर अगली सुबह खाली पेट पानी में से किशमिश और बादाम निकालकर खा लें| रोजाना इस नुस्खे को अपनाने से जल्द लाभ मिलता है, लेकिन अगर आपको मधुमेह की परेशानी है तो आप इस नुस्खे का उपयोग बिलकुल ना करें क्योंकि किशमिश शुगर को बड़ा सकती है|

कोलेस्ट्रॉल के इलाज में लाभकारी सरसों का तेल (Mustard Oil : Home Remedies for Cholesterol Level in Hindi)

प्राचीन समय में घरो में खाना केवल सरसो के तेल में ही बनाया जाता था लेकिन अब समय काफी बदल गया है अधिकतर घरो में खाना बनाने के लिए रिफाइंड या अन्य आयल का इस्तेमाल किया जाता है| सरसों के तेल में मौजूद मोनोअनसैचुरेटिड फैट और पॉली अनसैचुरेटिड फैटी एसिड हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी होते है| सरसो का तेल कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को संतुलित रखने में मददगार होता है, इसीलिए अगर आप कोलेस्ट्रॉल की समस्या (indian home remedies for high cholesterol) से बचना चाहते है तो खाना सरसो के तेल में ही बनाएं|

कोलेस्ट्रॉल जल्दी कम करने का रामबाण उपाय है अर्जुन की छाल (Bark of Arjun : indian Home Remedies for high Cholesterol in Hindi)

अर्जुन की छाल का नाम अधिकतर इंसानो ने सुना होगा, अर्जुन की छाल कई सारी बीमारियो का इलाज करने में लाभदायक होती है| अर्जुन की छाल आपको आसानी से पंसारी की दूकान पर मिल जाती है, सबसे पहले एक गिलास पानी लेकर उसे गर्म होने के लिए रख दें फिर उस पानी में थोड़ी सी अर्जुन की छाल डालकर पानी को उबलने दें| पानी तब टाक उबालें जब तक पानी आधा ना रह जाएं| जब पानी आधा रह जाएं तो गैस बंद कर दें और ठंडा होने पर इस मिश्रण को एक कप में छान लें, फिर इस काढ़े को चाय की तरह सिप सिप लेकर पी लें| नियमित रूप से इस चाय का सेवन करने से जल्द कोलेस्ट्रॉल की समस्या में आराम मिलता है| अर्जुन की छाल को कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय (cholesterol kam karne ke upay) या कोलेस्ट्रॉल काम करने की रामबाण दवा भी कहा जाता है|

कोलेस्ट्रॉल कम करने का अचूक इलाज है अखरोट (Walnut : Home Remedies for Cholesterol in Hindi)

अखरोट खाना सभी को अच्छा लगता है, अखरोट हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होते है| लेकिन कया आप जानते है की अखरोट हाई कोलेस्ट्रॉल का इलाज (cholesterol kam karne ke upay) करने में भी मददगार होता है, दरसल अखरोट में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व कैल्शियम, मैग्नीशियम, कॉपर, फाइबर, ओमेगा-3 और फॉस्फोरस इत्यादि कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को संतुलित करने में मददगार साबित होते है| रोजाना सुबह तीन से चार अखरोट खाने से बहुत आराम मिलता है, हालाँकि अखरोट का सेवन मात्रा में करने से लाभ मिलता है अधिक मात्रा में खाने से आपको नुक्सान भी हो सकता है|

निष्कर्ष – हम आशा करते है की आपको हमारे लेख कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय (indian home remedies for high cholesterol) या कोलेस्ट्रॉल कम करने की दवा में दी गई जानकारी फायदेमंद लगी होगी| लेकिन अगर आप हमारे द्वारा दी गई जानकारी से संतुष्ट नहीं है तो आप गूगल या बिंग पर कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय (cholesterol kam karne ke upay) या कोलेस्ट्रॉल कम करने की दवा (cholesterol kam karne ki dawa) लिखकर सर्च कर सकते है|

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa