web analytics
Sun. Sep 25th, 2022
home remedies for back pain in women

home remedies for back pain in women in hindi – आज के समय में अधिकतर महिलाओं को कमर दर्द की परेशानी का सामना करना पड़ता है, महिलाओ में कमर दर्द की परेशानी बहुत ही आम है, 30 से 55 वर्ष की आयु में कमर दर्द की परेशानी होती है| महिलाएं कमर दर्द पर ज्यादा ध्यान नहीं देती है कमर दर्द होने पर महिलाऐं कमर दर्द की दवा या पेन किलर दवा का सेवन कर लेती है| महिलाओ का शरीर अलग होता है इसीलिए कमर में दर्द होने के कारण भी अलग होते है, काफी सारी महिलाऐं कमर में दर्द की परेशानी से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपाय अपनाना पसंद करती है| लेकिन महिलाओं में कमर दर्द के घरेलू उपाय जानने से पहले आप महिलाओं में कमर दर्द के कारण के बारे में जाना बहुत जरुरी है|

आज का जमाना इंटरनेट का है इसीलिए महिलाऐं इंटरनेट पर महिलाओं में कमर दर्द होने कारण, महिलाओं में कमर दर्द के कारण कौन कौन से है?  महिलाओं में पीठ में दर्द होने के कारण कौन कौन से है? महिलाओं में कमर दर्द के कारण बताएं? महिलाओं में कमर दर्द के घरेलू उपाय, महिलाओ में कमर दर्द की घरेलू दवा, महिलाओं में कमर दर्द का घरेलू इलाज, महिलाओं में पीठ दर्द के घरेलू उपचार, महिलाओं में कमर दर्द का रामबाण इलाज और महिलाओं में कमर दर्द की आयुर्वेदिक दवा इत्यादि लिखकर सर्च करती है| कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए कुछ महिलाऐं एलोपेथिक दवा का सेवन करती है एलोपेथिक दवा या कमर दर्द की टेबलेट खाने से दर्द को आराम मिल जाता है लेकिन यह असर स्थाई नहीं होता है और कई बार कमर दर्द की टेबलेट या दवा खाने से दवा के कुछ साइड इफ़ेक्ट भी देखने को मिल सकते है|

कमर दर्द से छुटकारा दिलाने में घरेलू नुस्खे भी काफी उपयोगी साबित होते है, चलिए आज हम आपको महिलाओ में कमर दर्द के घरेलू उपाय के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है लेकिन पहले हम आपको महिलाओं में कमर दर्द के कारण के बारे में जानकारी दे रहे है|

Table of Contents

महिलाओं में कमर दर्द के कारण (Causes of Back Pain in Females in hindi)

जब किसी भी महिला की कमर में दर्द की परेशानी होती है तो महिला कमर दर्द की परेशानी से छुटकारा पाने के लिए महिलाओ में कमर दर्द के घरेलू उपाय अपनाकर दर्द से निजात पा लेते है| महिलाओ में कमर दर्द के घरेलू उपाय के बारे में जानने से पहले आपको महिलाओ में कमर दर्द होने के कारण के बारे में जानकारी होना बहुत जरुरी है क्योंकि अगर आपको कमर दर्द होने के कारण के बारे में पता होता है तो इलाज करने में आसानी हो जाती है| चलिए अब हम आपको महिलाओं में कमर दर्द के कारण के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

महिलाओं में कमर दर्द के कारण है ओवरस्ट्रैचिंग (Causes of Back Pain in Females in hindi)

जब किसी भी महिला के शरीर में मौजूद मांसपेशियों में ओवरस्ट्रैचिंग की परेशानी हो जाती है तो महिला को कमर में दर्द की परेशानी हो सकती है| महिलाओ पर काम का प्रेशर ज्यादा होता हो घर के काम करते समय अगर किसी महिला अपने शरीर को गलत तरीके से मूव कर लेती है तो गलत मूव की वजह से मांसपेशियों में मोच या खिचाव आने की प्रबल सम्भावना होती है, मांसपेशियो में मोच आने की वजह से दर्द और कुछ मामलो में दर्द के साथ सूजन की समस्या भी हो सकती है|

प्रेग्नेंसी की वजह से भी होता है महिलाओं में कमर दर्द (Causes of Back Pain in Females in hindi)

किसी भी महिला के लिए प्रेग्नेंसी का समय बहुत ही महत्वपूर्ण होता है, प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर में काफी बदलाव आते है, जैसे जैसे प्रेग्नेंसी का समय बढ़ता है वैसे वैसे कमर पर भी दबाव बढ़ता है, गर्भावस्था में चौथे, पांचवे, छठे, सातवे, आंठवे और नौवे महीने में कमर दर्द की परेशानी ज्यादा होती है, गर्भावस्था में महिलाओ को अपनी देखभाल ज्यादा करनी चाहिए|

महिलाओं में कमर दर्द के कारण है स्पाइनल ऑस्टियोआर्थराइटिस

जब किसी भी महिला की कमर में दर्द की परेशानी होती है तो उसे यह समझ में नहीं आता है है आखिर दर्द किस वजह से हो रहा है| महिलाओ के शरीर में रीढ़ की हड्डी के जोड़ को जोड़े रखने वाला जॉइंट जब घिस जाता है तो इस स्थिति को स्पाइनल ऑस्टियोआर्थराइटिस के नाम से जाना जाता है, स्पाइनल ऑस्टियोआर्थराइटिस की वजह से भी कमर में दर्द की शिकायत हो सकती ही इस प्रकार के दर्द से छुटकारा पाने के लिए आपको स्पाइनल ऑस्टियोआर्थराइटिस की दवा का सेवन करना चाहिए।

बेड पॉश्चर की वजह से भी होता है महिलाओ में कमर दर्द की परेशानी

जब कोई भी महिला गलत तरह से बैठ जाती है, गलत तरह से सो जाती है, झटके से खड़ा हो जाना, किसी कारणवश आगे की तरफ गलत तरीके से झुकने की वजह से कमर दर्द की परेशानी हो सकती है| ऐसी महिलाऐं जो जिम जाती है या एक्सरसाइज़ करती है तो कई बार ज्यादा वजन उठाने से या गलत तरीके से एक्सरसाइज करने की वजह से भी कमर दर्द की परेशानी हो जाती है। महिलाओं में कमर दर्द के कारण है प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम मासिक धर्म हर लड़की और महिला को हर महीना आता है, लेकिन कुछ महिलाओ और लड़कियो को पीरियड्स से कुछ दिन पहले प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम या पीएमएस की परेशानी हो जाती है, प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम या पीएमएस के लक्षण सिर दर्द, बिना कारण थकान महसूस होना, पेट फूलना और कमर में दर्द होना इत्यादि होते है| इसलिए प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम को महिलाओ में कमर दर्द का कारण माना जाता है|

महिलाओं में कमर दर्द के कारण है डिस्मेनोरिया (Causes of Back Pain in Females in hindi)

प्रत्येक लड़की या महिला को पीरियड्स में सामान्य दर्द का सामना करना पड़ता है लेकिन अगर किसी लड़की या महिला को पीरियड्स के समय सामान्य से ज्यादा दर्द हो रहा है तो अधिक दर्द होने की वजह डिस्मेनोरिया भी हो सकती है, डिस्मेनोरिया की वजह से पेट के निचले हिस्से में दर्द, पीठ के निचले हिस्से में दर्द और कमर में दर्द की परेशानी हो सकती है|

प्रीमेंस्ट्रुअल डिस्मॉर्फिक डिसऑर्डर के कारण भी होता है कमर में दर्द

प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम परेशानी का गंभीर रूप प्रीमेंस्ट्रुुअल डिस्मॉर्फिक डिसऑर्डर होता है, अगर कोई भी महिला आया लड़की इस समस्या से पीड़ित होती है तो उस महिला को पीरियड शुरू होने से लगभग एक हफ्ता पहले कमर में तेज दर्द की समस्या का सामना करना पड़ सकता है|  हालाँकि इस प्रकार का दर्द पीरियड्स समाप्त होने के बाद अपने आप खत्म भी हो जाता है, कुछ इंसानो का मानना है की अगर आपके परिवार में कोई सदस्य डिप्रेशन की समस्या से पीड़ित है तो आपको यह परेशानी हो सकती है क्योंकि यह बिमारी आनुवंशिकता के अनुसार भी होती है|

महिलाओ में कमर दर्द का कारण है बिस्तर (Causes of Back Pain in Females in hindi)

आज कल की जिंदगी में अधिकतर घरो में बेड पर मोठे और नरम गद्दे बिछे हुए मिलते है, इन गद्दों पर इंसान को आराम महसूस होता है| लेकिन कया आप जानते है की कमर दर्द का एक कारण बिस्तर भी होता है, दरसल जब हम किसी नरम और मोटे गद्दे पर सोते है तो कमर या रीढ़ की हड्डी सीधी रहने की बजाय मुड़ जाती है जिसकी वजह से इंसान की कमर में दर्द की शिकायत हो सकती है दूसरी तरफ जमीन पर सोने वाले या कठोर गद्दों पर सोने वाले इंसानो की कमर सीधी रहती है और उनमे कमर दर्द की परेशानी बहुत कम देखने को मिलती है| इसीलिए अगर आप भी कमर दर्द की परेशानी से बचना चाहते है तो सख्त गद्दों पर सोएं|

बिमारी की वजह से भी होता है कमर में दर्द (Causes of Back Pain in Females in hindi)

महिलाओ के शरीर की बनावट पुरुषो के मुकाबले काफी अलग होती है, कुछ मामलो में गंभीर बिमारी की वजह से भी कमर में दर्द की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है| बीमारी जैसे पैंक्रियाटाइटिस, अल्सर, किडनी इन्फेक्शन या रीढ़ की हड्डी में इन्फेक्शन इत्यादि की वजह से भी कमर में दर्द की परेशानी हो सकती है|

महिलाओं की पीठ में दर्द का कारण है कमजोर हड्डियां

पुरुषो की तुलना में महिलाओ के शरीर में मौजूद हड्डियां मुलायम होती है, बढ़ती उम्र के साथ हड्डियां कमजोर होना आम बात है, लेकिन अगर कम उम्र में हड्डियां कमजोर हो जाती है तो जोड़ो में दर्द और कमर में दर्द की परेशानी हो सकती है| अगर आपकी कमर में दर्द का कारण कमजोर हड्डियां है तो आपको अपने आहार पोषक तत्वों से भरपूर चीजों को शामिल करना चाहिए, आप चाहे तो महिला डॉक्टर से परामर्श लेकर हड्डियों को मजबूत बनाने वाला पॉउडर या टेबलेट का सेवन भी कर सकते है|

महिलाओ में पीठ दर्द होने का कारण है मोटापा (Causes of Back Pain in Females in hindi)

महिलाओ में कमर दर्द होने का कारण मोटापा भी होता है, ऐसी महिला या लड़की जो मोती होती है उनमे कमर दर्द की परेशानी ज्यादा देखने को मिलती है| जब किसी भी महिला या लड़की का वजन ज्यादा होता है तो उसे बैठने या उठने में भी परेशानी होती है, मोटापे का असर कमर के निचले हिस्से पर भी पड़ता है जिसकी वजह से दर्द की परेशानी होती है| इसीलिए अगर आप कमर दर्द की परेशानी से बचना चाहते है तो वजन पर नियंत्रण करें, संतुलित आहार लें और एक्सरसाइज़ भी करते रहे|

home remedies for back pain in women

महिलाओं में कमर दर्द के घरेलू उपाय & उपचार – home remedies for back pain in women in hindi

अगर आप कमर दर्द से परेशान है तो कमर दर्द का उपचार आप घरेलु नुस्खों से भी कर सकते है| चलिए अब हम आपको महिलाओं में कमर दर्द के घरेलू उपाय या महिलाओं में कमर दर्द की दवा के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

महिलाओं में कमर दर्द का घरेलू इलाज है हीटिंग पैड (home remedies for back pain in women in hindi)

जब किसी भी महिला की कमर में दर्द होता है तो वो कमर दर्द की दवा नहीं लाती है, अधिकतर महिलाऐं कमर दर्द का घरेलू उपचार सर्च करती है| अगर आप भी कमर दर्द से परेशान है तो हीटिंग पेड या सिकाई आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है, दरसल कई बार कमर में दर्द की परेशानी मांसपेशियो में दबाव की वजह से हो जाता है ऐसे में जब महिला हीटिंग पेड से सिकाई करती है तो हीटिंग पेड की गर्माहट से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है, ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होने से पोषक तत्व और ऑक्सीजन कमर की मांसपेशियों तक आसानी से पहुंचने लगते है जिसकी वजह से दर्द में आराम प्राप्त होता है|

महिलाओं में पीठ दर्द का घरेलू उपाय है गर्म पानी (home remedies for back pain in women in hindi)

गर्म पानी से नहाना काफी सारी महिलाओं को अच्छा लगता है क्योंकि जब इंसान शरीर पर गर्म पानी डालता है तो पानी की गर्माहट पूरे शरीर पर होती है जिसकी वजह से पूरे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर हो जाता है| अगर आपकी पीठ में दर्द की परेशानी हो रही है और आप महिलाओं में कमर दर्द के घरेलू उपाय या महिलाओ में पीठ दर्द का घरेलू उपचार ढूंढ रही है तो गर्म पानी आपके लिए लाभकारी विकल्प साबित हो सकती है| पीठ या कमर दर्द होने पर गर्म पानी से नहाएं और गर्म पानी को कमर पर ज्यादा डालने से जल्द मांसपेशियों में दर्द और जकड़न की समस्या से आराम मिलता है|

महिलाओं में कमर दर्द से छुटकारा दिलाने में सहायक है एक्सरसाइज (home remedies for back pain in women in hindi)

कुछ मामलो में कमर दर्द की परेशानी मांसपेशियां खींचने की वजह से भी हो जाती है, ऐसे दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप एक्सरसाइज़ का सहारा भी ले सकती है| नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करने से शरीर बेहतर रहता है, ब्लड सर्कुलेशन बेहतर रहता है और मांसपेशियां भी मजबूत और बेहतर होती है और मांसपेशियों में खिंचाव की स्थिति से भी आराम प्राप्त होता है|

महिलाओं में कमर दर्द की घरेलू दवा है आइस पैक (home remedies for back pain in women in hindi)

जब किसी भी महिला की कमर पर किसी तरह की चोट या मांसपेशियों में तनाव के कारण कमर में दर्द की परेशानी महसूस हो रही है तो आप इस परेशानी को दूर करने के लिए आइस पैक भी फायदेमंद साबित हो सकती है| आइस पैक से सिकाई करने पर सूजन, जलन और दर्द जैसी परेशानियो में लाभ प्राप्त होता है, लेकिन हम आपको सलाह देंगे की आइस पैक से सिकाई करने से पहले एक बार चिकित्सक से परामर्श जरूर लें क्योंकि कुछ मामलो में आइस पैक की सिकाई नुक्सान भी दे सकती है या आपकी परेशानी को बड़ा सकती है इसीलिए कभी भी अपनी मर्जी से आइस पैक से सिकाई ना करें|

महिलाओं में कमर दर्द की आयुर्वेदिक दवा है हर्बल बाम (home remedies for back pain in women in hindi)

अधिकतर महिलाऐं कमर दर्द की परेशानी से छुटकारा पाने के लिए घरेलू और प्राकृतिक उपाय अपनाना पसंद करती है, चलिए आज हम आपको कमर दर्द से छुटकारा दिलाने के लिए एक ऐसा हर्बल बाम के बारे में बता रहे है जिसे आप बहुत ही आसानी से घर पर बना सकते है और यह कमर दर्द से आराम दिलाने में लाभकारी साबित होता है और इस बाम को कोई भी दुष्प्रभाव नहीं है| कमर दर्द की दवा बनाने के लिए सबसे पहले एक कड़ाई या बर्तन लेकर उसे गैस पर रख कर उसमे एक कटोरी पिपरमिंट का तेल डालकर गर्म होने दें, फिर तेल में एक चम्मच अजवाइन डालकर अच्छी तरह से पका लें, फिर इसमें थोड़ा सा कपूर डालकर अच्छी तरह से मिला लें और तेल को पकने दें| मिश्रण को तब तक पकाएं जब तक मिश्रण पूरी तरह से गाढ़ा हो जाए, जब मिश्रण गाढ़ा हो जाएं तब गैस को बंद कर दें| जब मिश्रण हल्का गर्म रह जाएं तो किसी डिब्बे में करके रख लें, बस कमर दर्द की आयुर्वेदिक दवा बनकर तैयार है जब भी कमर में दर्द की परेशानी हो डिब्बे में से थोड़ा सा हर्बल बाम निकाल कर कमर में लगा कर हल्के हाथो से मालिश कर लें, बहुत जल्द आपको दर्द से छुटकारा मिल जाता है|

महिलाओं में कमर दर्द का रामबाण उपाय है हल्दी और चूना (home remedies for back pain in women in hindi)

प्राचीन समय से हल्दी को दर्द निवारक के रूप में जाना जाता है, हल्दी में मौजूद एंटी-इंफ्लामेटरी, एंटी-ऑक्सीडेंट और औषधीय गुण दर्द को कम करने में सहायक होते है| अगर आपकी कमर में दर्द है और आप महिलाओ में कमर दर्द के घरेलू उपाय या महिलाओ में पीठ दर्द की दवा सर्च कर रही है तो हल्दी और चूना लाभकारी साबित हो सकता है| चूने में मौजूद कैल्शियम कार्बोनेट हड्डियों को मजबूती प्रदान करने में सहायक होते है, कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए सबसे पहले थोड़ी सी हल्दी और थोड़ा सा चूना लेकर दोनों को थोड़े से पानी के साथ अच्छी तरह से मिला कर लेप बना लें, फिर इस लेप को को कमर में अच्छी तरह से लगा लें, जल्द ही आपको कमर दर्द की परेशानी से आराम प्राप्त होता है|

महिलाओं में पीठ दर्द की रामबाण दवा है यूकेलिप्टस ऑयल (home remedies for back pain in women in hindi)

अगर आपकी कमर में दर्द की परेशानी हो रही है तो आपकी इस परेशानी को दूर करने में यूकेलिप्टस ऑयल फायदेमंद साबित हो सकता है| कमर में दर्द होने कारण नसों और मांसपेशियों में खिचाव है तो यूकेलिप्टस ऑयल के औषधीय गुण खिचाव को कम करके दर्द से आराम दिलाने में मददगार साबित होते है| नियमित रूप से गुनगुने पानी से भरी बाल्टी में यूकेलिप्टस एसेंशियल ऑयल की कुछ बूंदें डालकर अच्छी तरह से मिला लें, फिर इस पानी से नहाएं और कमर पर पानी ज्यादा डालने से कमर दर्द की परेशानी से आराम मिलता है|

महिलाओं में कमर दर्द का घरेलू उपचार है अदरक (home remedies for back pain in women in hindi)

अदरक आपको आसानी से लगभग सभी घरो में मिल जाता है, लेकिन कया आप जानते है की अदरक महिलाओं में कमर दर्द का इलाज करने में भी सहायक होता है| दरसल अदरक में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व कमर दर्द से छुटकारा दिलाने में सहायक होते है, सबसे पहले थोड़ा सा अदरक लेकर उसे अच्छी तरह से धो लें, फिर उस टुकड़े को महीन पीस कर पेस्ट बना लें, अदरक के पेस्ट में थोड़ा सा नीलगिरि तेल की बूंदे डालकर अच्छी तरह से मिला लें| मिश्रण को कमर में दर्द वाली जगह पर लगा लें, जल्द ही आपको कमर दर्द (kamar dard ka ilaj) की समस्या से आराम मिलता है| अदरक को महिलाओं में कमर दर्द के घरेलू उपाय या महिलाओ में पीठ दर्द की दवा भी कह सकते है|

हम आशा करते है की आपको हमारा लेख महिलाओं में कमर दर्द के कारण या महिलाओं में कमर दर्द के घरेलू उपाय में दी गई जानकारी पसंद आई होगी, लेकिन अगर आप हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद नहीं आई है तो आप गूगल या बिंग पर महिलाओं में कमर दर्द के कारण या महिलाओं में कमर दर्द के घरेलू उपाय लिखकर सर्च कर सकते है|

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa