web analytics
Sun. Sep 25th, 2022
haldi se bawaseer ka ilaj in hindi

हल्दी से बवासीर (पाइल्स) का रामबाण इलाज (haldi se bawaseer ka ilaj in hindi) – हल्दी को सौ बीमारियो की एक दवा के रूप में भी जाना जाता है, बवासीर का इलाज करने में भी हल्दी बहुत ज्यादा असरदायक मानी जाती है| बवासीर की परेशानी से निजात दिलाने के लिए हल्दी काफी कारगर साबित हो सकती है, हालाँकि अधिकतर इंसान बवासीर की परेशानी को समाप्त करने के लिए घरेलू नुस्खों को अपनाना ज्यादा पसंद करते है| आज भी काफी सारे इंसान ऐसे भी है जिन्हे यह नहीं पता होता है की हल्दी से बवासीर का इलाज कैसे किया जाता है|

ऐसे में इंसान इंटरनेट पर हल्दी से बवासीर का इलाज, कया हल्दी से बवासीर का इलाज होता है?, हल्दी से बवासीर का इलाज कैसे किया जाता है? हल्दी से बवासीर का इलाज इन हिंदी, हल्दी से पाइल्स का इलाज इन हिंदी, हल्दी से बवासीर का इलाज बताओ, Benefits of turmeric for Piles in hindi, haldi se bavasir ka ilaj in hindi, haldi se bavasir ka ilaj kaise karen, haldi se piles ka ilaj in hindi, haldi se pailes ka ilaaj bataen इत्यादि लिखकर सर्च करते है|

haldi se bawaseer ka ilaj in hindi

Table of Contents

हल्दी से बवासीर का इलाज इन हिंदी – haldi se bawaseer ka ilaj in hindi

बवासीर का इलाज करने के लिए हल्दी बहुत ज्यादा लाभकारी मानी जाती है, हल्दी में मौजूद औषधीय और एंटी इन्फ्लेमेट्री गुण बवासीर के मस्सो की सूजन को करने में मददगार होते है, इसके अलावा हल्दी में एंटी-सेप्टिक तत्व होते है जो कीटाणुओं को नष्ट करने में और घाव भरने में भी सहायक होते है। हल्दी को पुरानी से पुरानी बवासीर का अचूक इलाज भी कहा जाता है, अगर आपको यह नहीं पता है की हल्दी से बवासीर का इलाज इन हिंदी कैसे किया जाता है तो परेशान ना हो आज हम आपको अपने इस लेख में हल्दी से बवासीर का इलाज कैसे कर सकते है इसके बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

हल्दी से बवासीर का इलाज इन हिंदी है हल्दी और नारियल का तेल (Haldi for Piles in Hindi)

नारियल का तेल और हल्दी आपको आसानी से मिल जाते है, नारियल का तेल और हल्दी बवासीर का इलाज करने में काफी असरदायक माना जाता है| नारियल के तेल में एंटी-सेप्टिक गुण और हल्दी में एंटी-बैक्टीरियल गुण बवासीर की परेशानी से छुटकारा दिलाने में सहयाक होते है| हल्दी से पाइल्स का इलाज करने के लिए सबसे पहले थोड़ा सा नारियल का तेल लेकर उसमे थोड़ी सी हल्दी डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट को रुई या उंगलियो की मदद से बवासीर के मस्से या गुदा पर लेप की तरह लगा लें, नियमित रूप से इस उपाए को करने से जल्द आराम मिलता है|

हल्दी और प्याज से करें बवासीर का इलाज – peaaj or haldi se bawaseer ka ilaj in hindi

प्याज का इस्तेमाल लगभग सभी घरो में किया जाता है, लेकिन काफी कम इंसान जानते है की प्याज बवासीर की परेशानी को दूर करने में भी असरदायक होती है| प्याज और हल्दी का इस्तेमाल साथ में करने से जल्द बवासीर की परेशानी में आराम प्राप्त होता है| हल्दी से बवासीर का इलाज इन हिंदी करने के लिए सबसे पहले एक प्याज को चील लें, फिर प्याज के छोटे छोटे टुकड़ें करके ग्राइंडर की मदद से महीन पीस लें, फिर पीसी हुई प्याज को छान लें, निकले हुए प्याज के रस में से आधा चम्मच प्याज का रस, एक चम्मच सरसों का तेल और थोड़ी सी हल्दी लेकर तीनो को अच्छी तरह से मिलकर लेप बना लें|

फिर इस पेस्ट को बवासीर के मस्सो पर अच्छी तरह से लगा लें, इस उपाए को रोजाना करने से जल्द आराम मिलता है| प्रभावित हिस्से पर लगा दें। इस नुस्खे को हल्दी से बवासीर का रामबाण इलाज या हल्दी से पाइल्स का इलाज भी कह सकते है| अगर आपको लेप लगाने में समस्या है या आप बवासीर की समस्या से जल्दी आराम पाना चाहते है तो एक चम्मच प्याज के रस में चुटकी भर हल्दी डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पीने से लाभ मिलता है।

एलोवेरा हल्दी से बवासीर का इलाज – Aloevera Aur haldi se bawaseer ka ilaj in hindi

बादी बवासीर के मस्सो से पीड़ित इंसान अपनी परेशानी से जल्द से जल्द छुटकारा पाना चाहता है इसे में एलोवेरा और हल्दी आपके लिए लाभकारी हो सकती है| एलोवेरा और हल्दी में मौजूद औषधीय गुण बवासीर की परेशानी को समाप्त करने में सहायक होते है, बवासीर की परेशानी अंदरूनी या बाहरी दोनों हो सकती है| एलोवेरा और हल्दी अंदरूनी और बाहरी बवासीर का इलाज करने में सहायक होती है, सबसे पहले एक एलोवेरा का ताजा पत्ता लेकर उसे अच्छी तरह से धोकर छील लें फिर एलोवेरा का गुद्दा निकाल लें, अगर आपके पास एलोवेरा का पत्ता नहीं है तो आप बाजार से किसी अच्छी कंपनी का एलोवेरा जेल खरीद कर इस्तेमाल कर सकते है| बवासीर का इलाज करने के लिए सबसे पहले आधा चम्मच एलोवेरा जेल और एक चम्मच पिसी हल्दी लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट बना लें, फिर नियमित रूप से रात को सोने से पहले मलद्वार के अंदरूनी और बाहरी हिस्से पर अच्छी तरह से लगा लें, नियमित रूप एलोवेरा हल्दी से बवासीर का इलाज अपनाने से जल्द राहत मिलती है|

पेट्रोलियम जेली और हल्दी से करें बादी बवासीर का इलाज : Petroleum Jelly Aur Haldi Se Bawaseer Ka Ilaj in hindi

यह तो हम सभी जानते ही है की कब्ज की वजह से बवासीर की परेशानी होती है, ऐसी स्थिति में इंसान को मल त्याग्ने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है| पेट्रोलियम जेली आपकी इस परेशानी को कम कर सकती है, मलद्वार पर पेट्रोलियम जेली लगाने से मलद्वार की सतह चिकनी और मुलायम हो जाती है जिसे मल त्याग्ने में आसानी हो जाती है दूसरी तरफ हल्दी दर्द और सूजन को कम करने में साहयक होती है| एक चम्मच पेट्रोलियम जेली और एक चम्मच्च हल्दी को लेकर अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट को मल त्याग्ने से कुछ समय पहले गुदा के अंदरूनी और बाहरी हिस्सों पर अच्छी तरह से लगाने से मल आराम से पास हो जाता है और कब्ज की परेशानी भी नहीं होती है।

देसी घी और हल्दी से करें पाइल्स का इलाज : Desi Ghee Aur Haldi Se Bawaseer Ka Ilaj in hindi

हल्दी से बवासीर का इलाज कई तरीको से कर सकते है, हल्दी गुणों से भरपूर होती है| देसी घी का सेवन सभी को पसंद होता है, देसी घी शरीर के लिए भी बहुत ज्यादा लाभकारी होता है, लेकिन कया आप जानते है देसी घी बवासीर का इलाज करने में भी सहायक होता है| हल्दी से बवासीर का इलाज इन हिंदी करने के लिए सबसे पहले एक चम्मच देसी घी और आधा चम्मच हल्दी लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिला कर पेस्ट बना कर रात को सोने से पहले अपनी गुदा के अंदरूनी और बाहरी हिस्से पर पेस्ट लगा कर सो जाएं| नियमित रूप से इस घरेलू उपाय को अपनाने से जल्द बवासीर की परेशानी से राहत प्राप्त होती है, कुछ इंसान इस नुस्खे को हल्दी से बवासीर का रामबाण इलाज या हल्दी से पाइल्स का इलाज ( haldi se piles ka ilaj in hindi ) भी कहते है|

काला नमक और हल्दी से करें बवासीर का इलाज : Kale Namak Aur Haldi Se Bawaseer Ka Ilaj in hindi

काला नमक भी गैस या कब्ज की समस्या को कम करने में सहायक होता है, सबसे पहले एक गिलास गुनगुना पानी लेकर उसमे थोड़ा सा काला नमक और थोड़ी सी हल्दी डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पी लें| रोजाना इस घरेलु उपाय को करने से जल्द बवासीर की समस्या में आराम ( haldi se bawaseer ka ilaj in hindi ) मिलता है|

मूली और हल्दी से करें पाइल्स का इलाज : Mooli Aur Haldi Se Bawaseer Ka Ilaj in hindi

अगर आप बवासीर की समस्या से पीड़ित है तो आपकी इस परेशानी को दूर करने में मूली लाभकारी साबित हो सकती है| मूली का सेवन अधिकतर इंसान सलाद के रूप में करते है, मूली पेट के लिए लाभकारी मानी जाती है, नियमित रूप से मूली का सेवन करने से कब्ज और गैस जैसी समस्याओ से छुटकारा मिल जाता है| बवासीर का अचूक इलाज ( haldi se bawaseer ka ilaj in hindi ) करने के लिए सबसे पहले एक मूली लेकर उसे अच्छी तरह से धो लें, फिर उस मूली को छील कर छोटे छोटे टुकड़ो में काट लें, फिर इन कटे हुए टुकड़ो पर थोड़ी सी हल्दी छिड़क कर खा लें, नियमित रूप से हल्दी लगी मूली का सेवन दिन में दो या तीन बार करने से जल्द आराम मिलता है| इस नुस्खे को आप हल्दी से बवासीर का इलाज इन हिंदी या हल्दी से बवासीर का रामबाण इलाज के रूप में भी जान सकते है|

हल्दी से बवासीर का अचूक इलाज है गर्म पानी की सेंक – haldi se bawaseer ka ilaj in hindi

गर्म पानी की सेक भी बवासीर की परेशानी से राहत प्रदान करती है| हल्दी से बवासीर का इलाज इन हिंदी करने के लिए सबसे एक बड़ा सा तब लेकर उसमे गर्म पानी दाल लें, ख्याल रखें की पानी इतना गर्म होना चाहिए जितना आप आसानी से सहन कर सकते है| फिर इस पानी में हल्दी डालकर मिला लें, फिर इस पानी में 10 से 15 मिनट बैठे| नियमित रूप से इस उपाय को करने जल्द आराम ( haldi se bawaseer ka ilaj in hindi ) मिलता है|

कया बवासीर में हल्दी वाला दूध पीना चाहिए या नहीं ?

अधिकतर बवासीर से ग्रसित इंसानो के मन में दूध को लेकर काफी सवाल होते है जैसे बवासीर में दूध पी सकते है, बवासीर में हल्दी वाला दूध पी सकते है, बवासीर में दूध पीना चाहिए या नहीं, बवासीर में हल्दी वाला दूध फायदेमंद है या नहीं इत्यादि| अधिकतर इंसानो का मानना है की बवासीर में दूध का सेवन नहीं करना चाहिए दरसल दूध या दूध से बने उत्पादों का सेवन करने से गैस या कब्ज की समस्या हो सकती है, कब्ज बढ़ने से आपकी परेशानी बढ़ सकती है| इसीलिए अगर आप बवासीर की परेशानी से पीड़ित है तो आपको दूध या हल्दी वाला दूध नहीं पीना चाहिए|

बवासीर में हल्दी के फायदे | Benefits of turmeric for Piles in hindi

हल्दी का इस्तेमाल खाना बनाने में किया जाता है, शायद ही कोई घर हो जिसमे हल्दी का इस्तेमाल ना किया जाता हो, यह तो हम सभी जानते ही है हल्दी हमारे लिए लाभकारी होती है| हल्दी में मौजूद औषधीय, सूजन रोधी और दर्द निवारक गुण बवासीर की परेशानी को कम करने में मददगार होते है, इसीलिए बवासीर की परेशानी से पीड़ित महिला या पुरुष के लिए हल्दी किसी वरदान से कम नहीं है। अगर आपको बवासीर में हल्दी के फायदे कया है? तो परेशान ना हो अब हम आपकी परेशानी का समाधान करने की कोशिश करते है, चलिए अब हम बवासीर में हल्दी के फायदे के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

  • हल्दी बवासीर में होने वाली खुजली को दूर करती है|
  • सूजन को कम करने में मददगार|
  • बवासीर में होने वाले दर्द को कम करने में सहायक
  • हल्दी में मौजूद एंटीसेप्टिक गुण संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं।

बवासीर में हल्दी के नुक्सान

हालाँकि हल्दी के नुक्सान नहीं होते है, लेकिन अगर आप हल्दी का सेवन अधिक मात्रा में करते है तो आपको कुछ नुक्सान देखने को मिल सकते है| दरसल कुछ मामलो में इंसान अपनी परेशानी से जल्दी निजात पाने के लिए हल्दी का सेवन अधिक मात्रा में करने लगते है जिसकी वजह से उन्हें नुक्सान हो जाता है, चलिए अब हम आपको बवासीर में हल्दी के नुक्सान के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है-

  • हल्दी का सेवन अधिक मात्रा में करने से अपच या कब्ज की परेशानी हो सकती है|
  • अगर आप हल्दी से बवासीर का इलाज हिंदी में कर रहे है और आप हल्दी का सेवन सिमित या उचित मात्रा से ज्यादा करते है तो आपको पेट दर्द, पेट में ऐठन, मरोड़ और दस्त जैसी समस्या हो सकती है|
  • जी मिचलाना या उलटी की समस्या भी हो सकती है|
  • हल्दी अधिक मात्रा में खाने से पीला मल भी आ सकता है|

निष्कर्ष – हम आशा करते है की आपको हमारा लेख हल्दी से बवासीर का इलाज इन हिंदी या हल्दी से बवासीर का रामबाण इलाज पसंद आया होगा लेकिन किसी भी कारणवश आपके हमारे द्वारा दी गई जानकारी कम लग रही है या पसंद नहीं आई है तो आप गूगल या बिंग पर हल्दी से बवासीर का इलाज इन हिंदी या हल्दी से बवासीर का रामबाण इलाज लिखकर सर्च कर सकते है|

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa