web analytics
Sun. Sep 25th, 2022
dalchini ke fayde

दालचीनी के फायदे (dalchini ke fayde, Benefits of Cinnamon in hindi) – दालचीनी (Daalchini or Cinnamon) का उपयोग सभी के घरो में मसाले के रूप में किया जाता है| दालचीनी को अंग्रेजी में सिनेमन के नाम से जाना जाता है, काफी सारे इंसानो को दालचीनी के फायदे के बारे में जानकारी नहीं होती है| आयुर्वेद में दालचीनी को एक बहुत ही महत्वपूर्ण और फायदेमंद औषधि माना गया है, आयुर्वेद के अनुसार दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व कई सारी बीमारियो का इलाज (Dalchini ke fayde) करने में सहायक होते है। चलिए आज हम आपको अपने इस लेख में दालचीनी के फायदे और नुक्सान के बारे में बताने के साथ साथ दालचीनी कैसे खाएं इत्यादि की जानकारी उपलब्ध करा रहे है

Table of Contents

दालचीनी क्या है? (What is Cinnamon in Hindi?)

यह तो हम सभी जानते ही है की दालचीनी (Cinnamon in hindi) एक तरह का मसाला होता है, जिसका इस्तेमाल खाना बनाने में किया जाता है| दालचीनी भूरे रंग की पतली छाल और सुगन्धित होती है। दालचीनी के पेड़ की छाल, पत्ते और जड़ सभी का इस्तेमाल होता है, दालचीनी का तेल भी कई तरह की बीमारियो को सही करने में मददगार होता है| दालचीनी के फायदे बहुत सारे होते है जिनमे कुछ फायदे हम आपको नीचे बता रहे है|

अन्य भाषाओं में दालचीनी के नाम (Name of Dalchini in Different Languages)

दालचीनी को भारत के साथ साथ दुनिया भर में अलग अलग नामो से जाना जाता है, चलिए अब हम आपको दालचीनी के अलग अलग भाषा में नामों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

Names of Cinnamon in –

  • Cinnamon in hindi – दालचीनी और दारुचीनी
  • Dalchini in English– ट्रु सिनैमोन (True Cinnamon), सीलोन सिनामोन (Ceylon Cinnamon)
  • Cinnamon in Sanskrit or Dalchini in Sanskrit – त्वक्, दारुसिता, चोचम,  उत्कट
  • Cinnamon in Urdu or Dalchini in Urdu – दारचीनी (Darchini)
  • Cinnamon in Oriya or Dalchini in Oriya – दालोचीनी (Dalochini) और दारूचीनी (Daruchini)
  • Cinnamon in Kannada or Dalchini in Kannada – लवङ्ग चक्के (Lavanga chakke)
  • Cinnamon in Gujarati or Dalchini in Gujarati – दालचीनी (Dalchini) और तज (Taj)
  • Cinnamon in Tamil or Dalchini in Tamil – लवंग पत्तै (Lavang pattai)
  • Cinnamon in Telugu or Dalchini in Telugu – लवंगमु (Lavangamu)
  • Cinnamon in Bengali or Dalchini in Bengali – दारुचीनी (Daruchini)
  • Cinnamon in Punjabi or Dalchini in Punjabi – दाचीनी (Dachini) और किरफा (Kirfa)
  • Cinnamon in Malayalam or Dalchini in Malayalam – एरिकोलम (Erikkolam) और वरनम (Varanam)
  • Cinnamon in Marathi or Dalchini in Marathi – दालचीनी (Dalchini)
  • Cinnamon in Nepali or Dalchini in Nepali – दालचीनी (Daalchiinii) और कुखीतगी (Kukhiitagi)
  • Cinnamon in Arabic or Dalchini in Arabic – दारसीनी (Darsini) और किर्फा (Qirfah)
  • Cinnamon in Persian or Dalchini in Persian – दारचीनी (Darchini) और तालीखाहे (Talikhahe)।

dalchini ke fayde

दालचीनी के फायदे | dalchini ke fayde | Cinnamon Benefits and Uses in Hindi

दालचीनी के फायदे हमारे शरीर के लिए तो होते ही है लेकिन कया आप जानते है की दालचीनी से आप कई सारे रोग जैसे पाचनतंत्र संबंधी परेशानी,  दांत में दर्द, सिर दर्द और मासिक धर्म में होने वाली परेशानी इत्यादि में आसानी से रहत प्राप्त कर सकते है| चलिए अब हम आपको दालचीनी खाने के फायदे (Daalchini ke fayde) के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है-

हिचकी की परेशानी में दालचीनी के फायदे (Benefits of Dalchini for Hiccup Problem in Hindi)

हिचकी की परेशानी किसी भी इंसान को कभी भी हो सकती है, हिचकी आना आम बात होती है यह कोई गंभीर समस्या नहीं होती है| लेकिन कुछ इंसान को हमेशा हिचकी आने की परेशानी होती है या अगर आपको हिचकी लगातार आ रही है तो आपको उपचार की जरुरत है| हिचकी का घरेलू उपाय दालचीनी भी होती है दालचीनी में मौजूद जरुरी पोषक तत्व हिचकी की समस्या को समाप्त करने में मददगार होते है| हिचकी से राहत पाने के लिए लगभग 10 से 20 मिलीग्राम दालचीनी का काढ़ा पिएं, जल्द ही हिचकी की समस्या से आराम प्राप्त होता है।

भूख को बढ़ाने के लिए दालचीनी खाने के फायदे (Dalchini Benefits for Appetite Problem in Hindi)

काफी सारे इंसान ऐसे होते है जिन्हे भूख नहीं लगती है, ऐसे में इंसान भूख बढ़ाने के उपाय ढूंढ़ता है| अगर आप अपनी भूख को बढ़ाना चाहते है तो दालचीनी आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है, दालचीनी में मौजूद गुण प्राकृतिक रूप से भूख बढ़ाने में सहायक होते है| सबसे पहले शुंठी चूर्ण, इलायची और दालचीनी को बराबर मात्रा में लेकर महीन पीस कर चूर्ण बना लें, फिर इस मिश्रण में से थोड़ा सा चूर्ण सुबह और शाम खाना खाने से पहले खाने से बहुत जल्द भूख बढ़ने लगती है|

उल्टी को रोकने में दालचीनी खाने के फायदे (Uses of Dalchini to Stop Vomiting in Hindi)

लौंग और दालचीनी के फायदे उल्टी रोकने में भी देखे जा सकते है, लौंग और दालचीनी का उपयोग लगभग सभी घरो में मसाले के रूप में किया जाता है| उल्टी की समस्या होने पर सबसे पहले उल्टी होने के कारण जानने जरुरी है, अगर उल्टी आने की वजह आम है तो सबसे पहले लौंग और दालचीनी का काढ़ा बना लें, फिर उस काढ़े में से 10 से 20 मिलीग्राम काढ़ा पिलाने से उल्टी की समस्या में आराम मिलता है।

आंखों के रोग में दालचीनी के फायदे (Cinnamon Benefits in Eye Disease Treatment in Hindi)

दालचीनी के फायदे आपको आँखों के रोगो में भी देखने को मिलते है, दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व आँखों की रौशनी बढ़ाने में, आँख फड़कने इत्यादि समस्याओ को दूर करने में लाभकारी होते है| दालचीनी का सेवन करने से आँखों की रौशनी भी बढ़ती है और आँख फड़कने की समस्या होने पर थोड़ी सी दालचीनी को पानी के साथ घिस कर लेप बना लें, फिर इस लेप को पलको पर लगाने से जल्द आँख फड़कने की समस्या से आराम मिलता है|

दांत दर्द में दालचीनी के फायदे (Dental Pain : Benefits of Cinnamon in hindi)

दांत में दर्द की समस्या का सामना काफी सारे इंसान करते है अगर आपके दांतो में भी दर्द की परेशानी है तो दांत दर्द में दालचीनी खाने के फायदे (Dalchini ke fayde) देखे जा सकते हैं। दांत में दर्द होने पर दालचीनी के तेल में रूई भिगो कर दर्द वाले दांत पर लगाने से जल्द दर्द से आराम मिलता है।

सिर दर्द से छुटकारा दिलाने में दालचीनी के फायदे (Benefits of Dalchini (Cinnamon) in Relief from Headache in Hindi)

शायद ही कोई महिला या पुरुष हो जिसे सिर दर्द की परेशानी ना हुई हो, आज के समय में तो सिर दर्द की समस्या से अधिकतर इंसान पीड़ित है| हालाँकि सिर दर्द होने के कारण बहुत सारे होते है तो सबसे पहले तो सिर दर्द होने का कारण जानना बहुत जरुरी है| अगर आपके सिर में दर्द की परेशानी ठण्ड या गर्मी की वजह से हो रही है तो दालचीनी आपके लिए लाभकारी साबित होगी| सबसे पहले दालचीनी के पत्ते लेकर उन्हें धोकर पीस लें, फिर इस पेस्ट को माथे पर अच्छी तरह से लगाने से बहुत जल्द दर्द से राहत मिलती है|

जुकाम में दालचीनी लगाने के फायदे (Cold : Benefits of Cinnamon in hindi)

दालचीनी के फायदे जुकाम में भी देखे जा सकते है, जुकाम की समस्या कोई गंभीर समस्या नहीं है लेकिन जुकाम की वजह से इंसान को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है| सबसे पहले थोड़ी सी दालचीनी को पानी में घिस कर गाढ़ा लेप बना लें, फिर इस लेप को हल्का गर्म करके नाक पर लगाने से जल्द जुकाम में फायदा मिलता है।

खांसी में दालचीनी खाने के फायदे (Cough Disease : Benefits of Cinnamon in hindi)

खांसी की समस्या से राहत दिलाने में दालचीनी असरदायक होती है, दरसल दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व खांसी का इलाज करने में सहायक होते है| चौथाई चम्मच दालचीनी चूर्ण और एक चम्मच शहद लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिलाकर सेवन कर लें, सुबह और शाम इस उपाय को करने से जल्द खांसी की समस्या से आराम प्राप्त होता है|

कोलेस्ट्रॉल कम करने में दालचीनी के फायदे (Uses of Cinnamon Powder for Cholesterol in Hindi)

यह तो सभी जानते है की इंसान के शरीर ख़राब और अच्छा कोलेस्ट्रॉल मौजूद होता है लेकिन जब किसी भी इंसान के शरीर में ख़राब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बड़ जाती है तो ऐसे इंसान को घातक बिमारी होने की संभावना बहुत ज्यादा होती है| दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व ख़राब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कंट्रोल करने में मददगार होते है, नियमित रूप से दालचीनी का सेवन करने जल्द आराम मिलता है|

वजन कम करने में दालचीनी और शहद के फायदे (Cinnamon and honey for weight loss in hindi)

आज के समय में बहुत सारे पुरुष और महिला ऐसे है जो अपने बड़े हुए वजन से परेशान है, ऐसे मोठे इंसान अपने वजन को कम करने के लिए घरेलू उपाय सर्च करते है| शहद और दालचीनी भी वजन करने में असरदायक साबित हो सकते है, सबसे पहले एक कप ताजा पानी लेकर उसमे 2 चम्मच शहद और 3 चम्मच दालचीनी चूर्ण (Cinnamon and honey for weight loss in hindi) डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पी लें, रोजाना सुबह और शाम इस उपाय को करने से जल्द आपका वजन कम होने लगता है|

दस्त पर रोक लगाने में दालचीनी के फायदे (Diarrhea : Benefits of Cinnamon in hindi)

दालचीनी के फायदे दस्त की रोकथाम करने में भी देख सकते है, अगर आप दस्त की समस्या से पीड़ित है तो लगभग पांच ग्राम दालचीनी चूर्ण में एक चम्मच शहद डालकर अच्छी तरह से मिला लें, फिर इस मिश्रण के तीन बराबर भाग कर लें, पहला हिस्सा सुबह, दूसरा हिस्सा दोपहर और तीसरा हिस्सा शाम को खाने से जल्द आराम होता है| दस्त की समस्या होने पर चिकित्सक की सलाह से दालचीनी का सेवन करें, ऐसा करने से आपको दालचीनी का पूर्ण लाभ मिलता है|

चर्म रोग में दालचीनी लगाने के फायदे (Skin Disease : Benefits of Cinnamon in hindi)

अगर आप चार्म रोग जैसे खाज, खुजली और फोड़े इत्यादि से पीड़ित है तो दालचीनी आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है| प्राचीन समय में चार्म रोग का इलाज करने के लिए दालचीनी का इस्तेमाल किया जाता है, दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण त्वचा से सम्बंधित परेशानियो को दूर करने में सहायक होते है| दालचीनी पॉउडर और शहद को आपस में अच्छी तरह से मिलाकर प्रभावित त्वचा पर लगाने से जल्द आराम मिलता है|

बुखार से राहत दिलाने में दालचीनी के फायदे (Fever : Benefits of Cinnamon in hindi)

अगर आप बुखार से पीड़ित है तो बुखार को ठीक में दालचीनी के फायदे देख सकते है हालाँकि बुखार भी कई तरह के होते है| एक चम्मच शहद और पांच ग्राम दालचीनी चूर्ण लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिलाकर सुबह,  दोपहर और शाम को सेवन करने से संक्रामक बुखार बहुत जल्द ठीक हो जाता है| लेकिन हम आपको सलाह देंगे की बुखार होने पर डॉक्टर या वेध के परामर्श से ही दालचीनी का सेवन करें|

बहरेपन की समस्या में दालचीनी के तेल के फायदे (Deafness : Benefits of Cinnamon in hindi)

अगर कोई भी इंसान बहरापन का शिकार हो तो ऐसे इंसान को जिंदगी बहुत भरी लगती है, दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण और तत्व बहरेपन के इलाज में सहायक हो सकते है| नियमित रूप से दालचीनी के तेल की दो बूँद कान में डालने जल्द लाभ मिल सकता है|

रक्तस्राव को रोकने में दालचीनी के लाभ (Stop Bleeding : Benefits of Cinnamon in hindi)

अगर आपके शरीर के किसी भी अंग से रक्तस्राव हो रहा है तो अंग से होने वाले रक्तस्राव को रोकने में भी दालचीनी के फायदे देखे जा सकते है| दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण और तत्व रक्तस्राव को रोकने में मददगार साबित होते है, रक्तस्राव होने पर एक कप पानी में एक चम्मच दालचीनी चूर्ण (Dalchini powder in hindi) डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पीने से आराम मिलता है|

गठिया में दालचीनी के लाभ (Arthritis Treatment : Benefits of Cinnamon in hindi)

अगर किसी भी महिला या पुरुष के शरीर की हड्डियां कमजोर हो जाती है तो इंसान को जोड़ो में दर्द और गठिया की परेशानी होने की प्रबल संभावना होती है| कया आप जानते है की गठिया का उपचार करने में दालचीनी फायदेमंद होती है दालचीनी में मौजूद जरुरी पोषक तत्व हड्डियों को मजबूती प्रदान करते है| दस ग्राम दालचीनी चूर्ण को बीस ग्राम शहद को लेकर अच्छी तरह से मिला लें। फिर इस पेस्ट को दर्द वाले हिस्से पर लगाकर हल्के हाथ से मालिश करने जल्द दर्द से आराम मिलता है|

दालचीनी के फायदे पुरुषो के लिए (Benefits of Cinnamon for men in hindi)

ऊपर आपने दालचीनी के फायदे के बारे पढ़ा, लेकिन कया आप जानते है की दालचीनी के फायदे पुरुषो के लिए भी होते है| लेकिन दालचीनी के फायदे पुरुषो की परेशानी में भी देखने को मिलते है, चलिए अब हम आपको पुरुषो के लिए दालचीनी के फायदे के बारे में बताते है –

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन में दालचीनी के फायदे (Erectile dysfunction)

आज के समय में काफी सारे पुरूषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन या स्तंभन दोष की समस्यान देखने को मिलती है, हालाँकि इस बिमारी के बारे में पुरुष जल्दी से किसी को नहीं बताते है| इरेक्टाइल डिसफंक्शन से पीड़ित इंसान इरेक्टाइल डिसफंक्शन का घरेलू उपाय या इरेक्टाइल डिसफंक्शन की घरेलू दवा अपनाना ज्यादा पसंद करता है| दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व पुरुषो में होने वाली इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या को दूर करने में सहायक होते है| नियमित रूप एक गिलास दूध में थोड़ा सा दालचीनी चूर्ण डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पीने से जल्द आराम मिलता है| लेकिन हम आपको सलाह देंगे की इरेक्टा्इल ड‍िस्फंमक्शसन की समस्याह होने पर सबसे पहले डॉक्ट र को दिखाएं और डॉक्टर से परामर्श से दालचीनी का सेवन करें।

पुरुषो की ताकत बढ़ाने में दालचीनी के फायदे (Cinnamon increases energy in men)

जब किसी भी पुरुष की शारीरिक ताकत कम हो जाती है तो वो बहुत ज्यादा परेशान हो जाता है, ऐसे पुरुष शरीर की ताकत बढ़ाने के घरेलू उपाय सर्च करते है| लेकिन कया आप जानते है की पुरुषो की ताकत बढ़ाने में दालचीनी के फायदे भी देखे जा सकते है, दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व पुरूषों में ताकत बढ़ाने में सहायक होते है| एक गिलास दूध में चुटकी भर दालचीनी पाउडर डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पी लें, रोजाना दूध और दालचीनी चूर्ण का सेवन करने से जल्द कमजोरी दूर हो जाती है|

मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में दालचीनी के फायदे (Cinnamon increases metabolism rate)

मेटाबॉलिज्म से समन्धित समस्या का सामना पुरुष और महिला दोनों ही कर सकते है, आमतौर पर मेटाबॉलिज्म की समस्या पुरुषो में ज्यादा देखने को मिलती है| दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में सहायक होते है, नियमित रूप से एक गिलास गुनगुने दूध में थोड़ा सा दालचीनी चूर्ण डालकर अच्छी तरह से मिलकर पीने से जल्द आराम मिलता है|

इनफर्टिलिटी की समस्या दूर करने में दालचीनी के फायदे (Cinnamon cures infertility in men)

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में काफी सारे पुरूषों में इनफर्टि‍ल‍िटी की समस्याf देखने को मिलती है, अगर आप भी इनफर्टिलिटी की समस्या से पीड़ित है और कोई इनफर्टिलिटी को दूर करने का घरेलु उपाए ढूंढ रहे है तो दाल चीनी आपके लिए लाभकारी हो सकती है| दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व इनफर्टिलिटी की समस्या को दूर करने में सहायक हो सकते है| निमित रूप से सुबह और शाम हल्के गर्म पानी में दालचीनी चूर्ण डालकर पीने से जल्द आराम मिलता है| लेकिन हम आपको सलाह देंगे की इनफर्टिलिटी की समस्या होने पर चिकित्सक से परामर्श लेने के बाद ही दालचीनी का सेवन करें|

दालचीनी के फायदे महिलाओ के लिए

दालचीनी के फायदे महिलाओ के लिए भी देखने को मिलते है| अब हम आपको दालचीनी के कुछ ऐसे लाभों के बारे में बताने जा रहे है जो केवल महिलाओ में ही देखने को मिलते है| चलिए अब हम आपको दालचीनी के फायदे महिलाओ के लिए के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है-

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) में दालचीनी के फायदे

काफी सारी महिलाओ में पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम की परेशानी देखने को मिलती है, pcos की परेशानी काफी गंभीर समस्या होती है| पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम से पीड़ित महिलाओ के लिए दालचीनी के फायदे देखे जा सकते है, हालाँकि pcos होने के कारण कई सारे होते है| किसी भी महिला के शरीर में हॉर्मोनल बदलाव के कारण सिस्ट छोटी हो जाती है और ओवरी का साइज बढ़ने की वजह से यह समस्या हो जाती है| दालचीनी से पीसीओएस (पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम) का इलाज करने के लिए दालचीनी के पानी में थोड़ा सा शहद डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पीने से कुछ दिनों में ही आराम मिलता है|

पीरियड्स में दालचीनी के फायदे

पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द का सामना अधिकतर महिलाऐं और लड़कियां करती है, ऐसे में दालचीनी के फायदे पीरियड्स की परेशानी में भी देखने को मिलते है| दरसल में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व पीरियड्स में होने वाले दर्द से आराम दिलाने में सहायक होते है| पीरियड्स के दौरान रोजाना एक कप दालचीनी का पानी पीने से पीरियड्स में होने वाले दर्द से आराम मिलता है|

गर्भावस्था में दालचीनी के फायदे | प्रेग्नेंसी में दालचीनी के फायदे

दालचीनी के फायदे गर्भावस्था में भी देखने को मिलते है, जब कोई भी महिला प्रेगनेंट होती है तो उसे संतुलित आहार लेने की सलाह दी जाती है| दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण और जरुरी पोषक तत्व माँ और उसके अंदर पल रहे शिशु के विकास के लिए लाभकारी होते है| लेकिन प्रेग्नेंसी में दालचीनी के फायदे आपको तभी देखने को मिलेंगे जब आप दालचीनी का सेवन उचित मात्रा में करेंगे, अधिक मात्रा में सेवन करने से आपको दालचीनी के नुक्सान भी देखने को मिल सकते है| प्रेग्नेंसी में दालचीनी का सेवन करने से पहले महिला डॉक्टर से परामर्श जरूर लें, डॉक्टर आपके हिसाब से उचित मात्रा की जानकारी उपलब्ध कराते है|

दालचीनी के फायदे बालों के लिए

अगर आप बालो से सम्बंधित समस्याओ का सामना कर रहे है तो दालचीनी के फायदे बालो के लिए भी देख सकते है| दालचीनी में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व बालो से सम्बंधित परेशानियो को दूर करने में सहायक होते है| चलिए अब हम आपको बालो के लिए दालचीनी के फायदे के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

  • रुसी की समस्या को समाप्त करने में सहायक|
  • झड़ते बालों को रोकने में मददगार|
  • दालचीनी बालों की लंबाई बढ़ाने में भी सहायक होती है|
  • रूखे और बेजान बालों को मजबूती प्रदान करने में सहायक|

दालचीनी के पानी के फायदे कया है?

दालचीनी की तरह ही दालचीनी का पानी भी बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है, दालचीनी में मौजूद औषधीय, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण कई साड़ी बीमारियो को दूर करने में फायदेमंद होते है| दालचीनी के पानी के फायदे बताने से पहले हम आपको दालचीनी का पानी पानी कैसे बनाते है इसके बारे में जानकारी दे रहे है

दालचीनी का पानी बनाने का तरीका

दालचीनी का पानी आप बहुत ही आसानी से अपने घर पर बना सकते है, दालचीनी का पानी बनने के लिए सबसे पहले एक बर्तन लेकर उसमे एक गिलास पानी डालकर गर्म होने के लिए रख दें| फिर जब पानी उबल जाएं तो उसमे थोड़ा सा दालचीनी पाउडर डालकर अच्छी तरह पका लें अगर आपके पास दालचीनी पॉउडर नहीं है तो आप दालचीनी को अच्छी तरह से कूट कर डाल दें| जब पानी अच्छी तरह से उबल जाएं तो गैस को बंद कर दें, जब पानी ठंडा हो जाएं तो उसमे स्वादनुसार थोड़ा शहद डालकर अच्छी तरह मिला लें, बस दालचीनी का पानी तैयार है| चलिए अब हम आपको दालचीनी के पानी पीने के फायदे के बारे में आपको जानकारी उपलब्ध करा रहे है

दालचीनी के पानी के फायदे

दालचीनी का पानी पीने के फायदे काफी सारे होते है जिनमे से कुछ फायदे हम आपको बताने जा रहे है-

  • डायबिटीज को कंट्रोल रखने में सहायक|
  • दालचीनी का पानी इम्यूनिटी बढ़ाती है|
  • वजन घटने में दालचीनी के पानी के फायदे देखे जा सकते है|
  • पेट से सम्बंधित परेशानियो को दूर करने में सहायक|
  • दालचीनी का पानी दर्द दूर करने में मददगार होता है|

दालचीनी कैसे खाएं | दालचीनी का उपयोग | Uses of Dalchini in Hindi

दालचीनी कैसे खाएं या दालचीनी का सेवन कैसे करें? यह सवाल काफी सारे इंसानो के कम में रहता है| अधिकतर घरो में दालचीनी का सेवन मसाले के रूप में किया जाता है, चलिए अब हम आपको बताते है की दालचीनी कैसे खाएं –

  • लगभग सभी घरो में दालचीनी का इस्तेमाल खाने में मसाले के रूप में किया जाता है।
  • सिनेमन पाउडर या दालचीनी चूर्ण का सेवन आप दूध के साथ भी किया जा सकता हैं।
  • दालचीनी का सेवन आप गुनगुने पानी में मिलाकर भी कर सकते हैं।
  • दालचीनी का उपयोग आप शहद के साथ भी कर सकते है|
  • दालचीनी का सेवन हर्बल टी में डालकर भी किया जा सकता है|
  • दालचीनी का इस्तेमाल काढ़ा बनाने में किया जाता है|
  • दालचीनी का पानी भी लाभकारी होता है|

दालचीनी के नुकसान – Side Effects of Cinnamon in Hindi

ऊपर आपने दालचीनी खाने के फायदे के बारे में जानकारी प्राप्त की है, लेकिन कया आप जानते है की दालचीनी के फायदे और नुक्सान दोनों होते है| दालचीनी का सेवन सिमित मात्रा में किया जाएं तो इसके लाभ ही देखने को मिलते है लेकिन अधिक मात्रा में सेवन करने से एलर्जी या बिमारी के साथ दालचीनी का सेवन करने से आपको नुक्सान भी देखने को मिल सकते है| दालचीनी के नुक्सान निम्न प्रकार है

  • दालचीनी से दांत से सम्बंधित परेशानी जैसे प्लाक इत्यादि हो सकती है|
  • दालचीनी की तासीर गर्म होती है जिसकी वजह से पेट से सम्बंधित परेशानी भी हो सकती है|
  • कुछ मामलो में दालचीनी का सेवन करने से एलर्जी की परेशानी भी हो सकती है।
  • दालचीनी का सेवन करने से लिवर संबंधी समस्या का सामना भी करना पड़ सकता है।
  • दालचीनी ग्लूकोज लेवल को भी कम कर सकता है|

निष्कर्ष  – हम आशा करते है की आपको हमारे लेख दालचीनी के फायदे और नुक्सान में दी गई जानकारी पसंद आई होगी, ख्याल रखें की दालचीनी का सेवन उचित मात्रा में ही करना चाहिए| अगर आप दालचीनी के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप गूगल या बिंग पर दालचीनी के फायदे और नुक्सान लिखकर सर्च कर सकते है|

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa