web analytics
Sun. Sep 25th, 2022

Benefits of Sesame Seeds in hindi : Sesame Seeds को हिंदी में तिल के नाम से जाना जाता है| कुछ इंसान Sesame Seeds को तिल के बीज भी कहते है| हालाँकि तिल का इस्तेमाल लगभग सभी घरो में होता है खासतौर पर सर्दी के मौसम में तिल के लड्डू, तिल के मोदक इत्यादि का सेवन सभी इंसान बहुत ज्यादा शोक से करते है| लेकिन आज भी बहुत सारे ऐसे लोग मौजूद है जो तिल का सेवन तो करते है लेकिन वो तिल के फायदों से अनजान है| अगर आप तिल के फायदों के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो यह पेज आपके लिए लाभकारी है क्योंकि आज हम अपने इस पेज तिल के फायदे (Benefits of Sesame Seeds in hindi) और नुक्सान के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है-  

Table of Contents

तिल के बीज का पौधा

तिल का नाम तो आपने सुना ही होगा लेकिन तिल के पौधे के बारे में बहुत कम लोग जानते है| बहुत सारे इंसान इंटरनेट पर सर्च करते है की तिल का पेड़ कैसा होता है? तिल का पेड़ होता है या बेल ? तिल का पेड़ कितना बड़ा या ऊँचा होता है ? इत्यादि| चलिए हम आपको तिल के पौधे के बारे में बताते है तिल के पौधे की ऊंचाई लगभग एक मीटर होती है। तिल के पौधे पर आने वाली पत्तियां की लम्बाई 4 से 8 इंच और चौड़ाई 3 से 4 इंच होती हैं। तिल के पौधे का  तना रोम वाला होता है, तिल के पौधे पर आने वाली पत्तियां पतली और कोमल होती है| इस पेड़ पर बैंगनी रंग या सफेद बैंगनी रंग के फूल आते है,  तिल के पेड़ पर फूल और फल आने का समय अगस्त से लेकर अक्टूबर तक का होता है।

तिल क्या है? (What is Sesame Seeds in hindi?)

तिल का आकर छोटा,  चपटा अंडाकार होता है, तिल में प्रोटीन,  कार्बोहाइड्रेट,  फाइबर,  कैल्शियम,  आयरन,  मैग्नीशियम,  फास्फोरस,  पोटैशियम,  जिंक,  कॉपर,  मैंगनीज,  थायमिन,  राइबोफ्लेविन,  नियासिन,  फोलेट,  फैटी एसिड्स,  टोटल सैचुरेटेड,  फैटी एसिड्स इत्यादि प्रचुर मात्रा में पाए जाते है| तिल में मौजूद गुण और पोषक तत्व हमारे शरीर के लिए बहुत ऐडा लाभकारी होते है|

तिल के प्रकार -Types of Sesame Seeds In Hindi

भारत में सफेद और काले तिल की खेती ज्यादा होती है वैसे तिल तीन प्रकार के पाए जाते है, चलिए अब हम आपको तिल के प्रकार के बारे में बताते है

  1. सफ़ेद तिल – White Sesame Seeds in Hindi
  2. काले तिल  – Black Sesame Seeds in Hindi
  3. लाल तिल – Red Sesame Seeds in Hindi

ऊपर बताए तीनो प्रकार के तिलो में से सबसे ज्यादा गुणों से भरपूर काले तिल होते है,  काले तिल से थोड़े कम गुण सफेद तिल में होते है|

तिल के फायदे,  Benefits of Sesame Seeds in Hindi, Sesame Seeds Benefits :

तिल के फायदे काफी सारे होते है, तिल हमारे शरीर के साथ साथ कई साड़ी परेशानियो को दूर करने में मददगार साबित होते है, चलिए अब हम आपको तिल फायदे (Benefits of Sesame Seeds in hindi) के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

इम्युनिटी पावर बढ़ाने में तिल के फायदे (benifits sesame for imuniti power)

किसी भी महिला या पुरुष के शरीर की इम्युनिटी पावर मजबूत होना बहुत जरुरी होता है, अगर आपके शरीर की इम्युनिटी पावर मजबूत होती है तो आपका शरीर संक्रमण और बीमारियों से बच सकता है, किसी भी इंसान के शरीर की इम्युनिटी पावर कमजोर होती है तो उसे संक्रमण और बीमारी होने की संभावना प्रबल होती है| अगर आप भी इम्युनिटी बढ़ाने की घरेलू दवा सर्च कर रहे है तो तिल आपके लिए लाभकारी साबित हो सकते है, तिल में मौजूद गुण और पोषक तत्व शरीर की इम्युनिटी पावर बढ़ाने में सहायक होते है| नियमित रूप से तिल का सेवन करने से जल्द ही लाभ प्राप्त होता है|

Benefits of Sesame Seeds for Hair : बाल के लिए तिल के फायदे

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में अधिकतर महिला या पुरुष बालो की समस्या जैसे बालो का झड़ना, बालो की जड़ो का कमजोर होना, बालो का सफ़ेद होना इत्यादि का सामना कर रहे है| हालाँकि शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने की वजह से बालो की समस्या का उत्पन्न होती है, अगर आप भी बालो की समस्या का सामना कर रहे है तो तिल आपके लिए लाभकारी हो सकते है| तिल में मौजूद विटामिन बी,  आयरन और अन्य पोषक तत्व बालो की समस्या जैसे बालों का झड़ना, असमय बालो का सफ़ेद होना इत्यादि परेशानी को समाप्त करने में सहायक होते है| नियमित रूप से तिल के बीज (Sesame Seeds in hindi) का सेवन करने से बहुत जल्द बालो की जड़े मजबूत होने लगती है और आपको बाल झड़ने की समस्या से राहत प्राप्त होती है।

Benefits of Sesame Seeds for Diabetes : डायबिटीज का इलाज करने में तिल के फायदे

किसी भी महिला या पुरुष के शरीर में मौजूद रक्त में शुगर की मात्रा बड़ जाती है तो ऐसे में उस इंसान को मधुमेह से पीड़ित माना जाता है| ब्लड में ग्लूकोस की मात्रा बढ़ने पर शुगर की परेशानी होती है, हमारे शरीर में मौजूद इन्सुलिन शुगर को कंट्रोल करने में मदद करती है, काले तिल में मौजूद गुण और तत्व ब्लड में शर्करा के स्तर को कम करने में मददगार साबित होते है| तिल के बीज (sesame seeds in hindi ) शुगर की मात्रा को कम करने में सहायक होते है लेकिन अगर आपके शरीर में मौजूद ब्लड में शुगर की मात्रा कम है तो तिल का सेवन बिलकुल ना करें|

Benefits of Sesame Seeds for Skin : त्वचा के लिए तिल के फायदे

आज के समय में बहुत सारे इंसान त्वचा से सम्बंधित परेशानियो का सामना कर रहे है, त्वचा की सम्बंधित परेशानी होने का कारण असंतुलित खानपान और दूषित वातावरण इत्यादि होते है| तिल में मौजूद विटामिन ई और अन्य पोषक तत्व त्वचा के लिए लाभकारी साबित होते है, नियमित रूप से तिल का सेवन करने से त्वचा में निखार आने के साथ साथ त्वचा स्वस्थ बनती है|

Benefits of Sesame Seeds for Heart : दिल को स्वस्थ्य रखने में तिल के फायदे 

किसी भी महिला या पुरुष के शरीर में अगर ख़राब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बड़ जाती है तो इंसान को कई घातक परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है| इसीलिए शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल क मात्रा का संतुलित होना बहुत जरूरी होता है, तिल में मौजूद गुण और तत्व खराब कोलस्ट्रोल की मात्रा को कम करने और अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाने में मददगार होते है| नियमित रूप से तिल का सेवन करने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा संतुलित रहती है और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा संतुलित रहने से हृदय भी स्वस्थ रहता है|

Benefits of Sesame Seeds for Blood Pressure : ब्लड प्रेशर को सामान्य करने में तिल के फायदे

आज के समय काफी सारे महिला या पुरुष ब्लड प्रेशर की समस्या का सामना कर रहे है ऐसे में पीड़ित इंसान ब्लड प्रेशर की समस्या से छुटकारा पाने का घरेलू इलाज भी सर्च करता है| अगर आप भी ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित है तो तिल आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकते है, तिल में मौजूद मैग्नीशियम और अन्य पोषक तत्व हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को कम करने में सहायक होते है| नियमित रूप से तिल (Sesame Seeds in hindi) का सेवन करने से आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से राहत मिलती है लेकिन अगर आप लो ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित है तो काले तिल का सेवन करने से बचें या चिकित्सक से परामर्श लेने के बाद ही तिल का सेवन करें|

हड्डियों को मजबूत बनाने में तिल के फायदे – Benefits of Sesame Seeds in hindi

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में अनियमित दिनचर्या और असंतुलित भोजन की वजह से हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने लगती है, बहुत से इंसानो में पोषक तत्वों की कमी होने से उनके शरीर में मौजूद हड्डिया कमजोर हो जाती है, हड्डियां कमजोर होने पर इंसान अधिक काम नहीं कर पाता है और उसके शरीर या जोड़ो में दर्द की परेशानी भी हो जाती है| अगर आप हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए परेशां है तो तिल आपके लिए वरदान से कम नहीं है, तिल के बीज में मौजूद कैल्शियम और अन्य पोषक तत्व हड्डियों को मजबूत बनाने में मददगार होते है| किसी भी महिला या पुरुष की के शरीर की हड्डियाँ मजबूत होती है तो वो अधिक देर तक मेहनत का काम कर सकते है और उनका शरीर भी काफी फुर्तीला रहता है| नियमित रूप से तिल (Sesame Seeds in hindi) का सेवन करने से जल्द ही हड्डियों को मजबूती प्राप्त होती है|

एनीमिया का इलाज करने में तिल के फायदे – Benefits of Sesame Seeds in hindi

किसी भी महिला या पुरुष के शरीर में मौजूद ब्लड में अगर हीमोग्लोबिन या रेड ब्लड सेल्स की मात्रा कम हो जाती है तो ऐसे इंसान को एनीमिया की बिमारी से पीड़ित माना जाता है| एनीमिया की परेशानी बच्चो,  युवा और बुजुर्ग में से किसी को कभी भी हो सकती है, ऐसे में बहुत सारे पुरुष और महिलाओ के मन में यह सवाल आता है की पुरुषो के शरीर में हीमोग्लोबीन की मात्रा कितनी होनी चाहिए? या महिलाओ के शरीर में हीमोग्लोबीन की मात्रा कितनी होनी चाहिए? तो हम आपको बता दें पुरुषों के शरीर में मौजूद ब्लड में हीमोग्लोबिन की मात्रा 13.5 ग्राम होनी चाहिए और महिलाओं के शरीर में हीमोग्लोबीन की मात्रा 12 ग्राम होनी चाहिए| अगर आपके शरीर में हीमोग्लोबीन की मात्रा सामान्य स्तर से कम हो जाती है तो आपके लिए परेशानी की बात है, आपकी इस परेशानी को दूर करने में तिल काफी उपयोगी साबित हो सकते है| तिल में मौजूद आयरन और अन्य पोषक तत्व ब्लड में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढाने में मददगार होते है| नियमित रूप से तिल के बीज का सेवन करने से जल्द ही आपको एनीमिया की परेशानी से छुटकारा प्राप्त हो जाता है|

दांत को मजबूत और स्वस्थ बनाने में तिल के फायदे – Benefits of Sesame Seeds in hindi

शायद ही कोई इंसान हो जिसकी चाहत स्वस्थ और चमकदार दांत की ना हो, अगर आपके दांत सफ़ेद, चमकदार और मजबूत होते है तो इससे आपके चेहरे की सुंदरता भी बढ़ती है| आजकल की खराब जीवनशैली और ख़राब खाने की वजह से दांत और मसूड़े कमजोर होने लगते है या दांत से सम्बंधित बिमारी का सामना करना पड़ सकता है| अगर आप भी अपने दांतो को चमकदार और मजबूत बनाना चाहते है तो तिल आपके लिए लाभकारी हो सकते है| तिल (Sesame Seeds in hindi) में मौजूद गुण और पोषक तत्व दांतों और मसूड़ों को स्वस्थ रखने में सहायक होते है, नियमित रूप से लगभग 20 ग्राम तिलों को अच्छी तरह से चबा चबाकर खाने से जल्द ही आपके दांत और मसूड़े मजबूत हो जाते है|

आँखों के लिए करें तिल का सेवन – Benefits of Sesame Seeds in hindi

जैसे जैसे किसी भी इंसान की उम्र बढ़ती है वैसे वैसे उसकी आँखों की रौशनी कम होने लगती है, बढ़ती उम्र के साथ आँखों की रोशनी कम होना आम बात होती है| लेकिन अगर किसी भी इंसान की कम उम्र में आँखों की रौशनी कम हो जाती है तो यह चिंता का विषय होता है| कम उम्र में आँखों की रौशनी कम होने का प्रमुख कारण शरीर में पोषक तत्वों की कमी को माना जाता है, आँख हमारे शरीर का मुख्य अंग होता है इसलिए आँखों का खास ख्याल रखना भी बेहद जरुरी है| नियमित रूप से तिल का सेवन करने से आँखों को जरुरी पोषक तत्व प्राप्त होते है और आँखे स्वस्थ रहने में मदद मिलती है, नेत्र से सम्बंधित परेशानियो से छुटकारा पाने के लिए तिल के बीज (sesame seeds in hindi) के काढ़े से आँखों को धोने से आराम मिलता है|

कैंसर से बचाव करने में तिल के फायदे – Benefits of Sesame Seeds in hindi

कैसर के बारे में हम सब भली भाँती जानते है की यह कितनी घातक या जानलेवा बीमारी होती है, अधिकतर इंसान कैंसर का नाम सुनते ही घबरा जाते है| प्राचीन समय में कैंसर का इलाज संभव हालाँकि आज कैंसर का इलाज संभव है लेकिन कैंसर का इलाज तभी हो सकता है अगर आपको इसका पता शुरूआती डोर में ही चल जाएं| लेकिन कया आप जानते है की अगर आप अपनी जीवनशैली और खान पान का ख्याल रखें तो आप अपने आपको कैंसर से बचा सकते है| तिल में मौजूद फाईटेट,  विटामिन्स और एंटीऑक्सीडेंट तत्व कैंसर से बचाव करने में सहायक होते है, इसीलिए अगर आप अपने आपको कैंसर से बचाना चाहते है तो नियमित रूप से अपनी डाइट में तिल (Sesame Seeds in hindi) को शामिल जरूर करें|

खांसी का इलाज करने में तिल के फायदे –  Benefits of Sesame Seeds in hindi

खांसी की परेशानी बच्चों,  युवा और बुजुर्गों में कभी भी किसी को भी हो सकती है, खांसी की परेशानी बहुत ही आम परेशानी होती है| खांसी की समस्या होने पर हमे खांसी होने के करने के बारे में जानना चाहिए अगर मौसम में बदलाव की वजह से खांसी आ रही हो,  अनियमित खान पान की वजह से खांसी होना इत्यादि| कई बार खांसी की समस्या ज्यादा होने की वजह से खांसते-खांसते इंसान के सीने में दर्द की परेशानी भी हो जाती है इसीलिए खांसी का इलाज जल्दी करना बहुत जरुरी होता है, खांसी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप sesame seeds भी मददगार होते है|

पुरुषत्व बढ़ाने में तिल के फायदे (Benefits of Til in Virility in Hindi)-

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में मानसिक तनाव, असंतुलित भोजन और खराब जीवनशैली का असर पुरुषो के पुरुषत्व पर भी पड़ता है, अगर आप भी कम पुरुषत्व का सामना कर रहे है तो तिल आपके लिए लाभकारी साबित हो सकते है| तिल में मौजूद गुण और जरुरी पोषक तत्व पुरुषत्व बढ़ाने में फायदेमंद होते है| पुरुषत्व बढ़ाने के लिए तिल (Sesame Seeds in hindi) और अलसी का काढ़ा बनाकर नियमित रूप से सुबह और शाम भोजन से पहले लगभग 30 ml काढ़ा पीने से जल्द ही पुरुषत्व में वृद्धि प्राप्त होती है।

मूत्र में जलन में तिल के फायदे (Benefits of Sesame Seeds for Urinary Diseases in Hindi)-

आज के समय में बहुत सारे इंसान मूत्र में जलन की समस्या का सामना कर रहे है तो आपकी इस परेशानी को दूर करने में तिल (sesame seeds) फायदेमंद साबित हो सकते है| तिल में मौजूद पोषक तत्व और गुण पेशाब में जलन की समस्या को समाप्त करने में सहायक होते है, पेशाब में जलन की समस्या को दूर करने के लिए सबसे पहले तिल के ताजे पत्ते लेकर सबसे पहले उन्हें लगभग 12 घंटे के लिए पानी में भिगोकर रख दें, उसके बाद पत्तो को पानी में से निकाल दें और बचे  हुए पानी का सेवन कर लें, ऐसा करने से जल्द ही पेशाब में जलन की समस्या समाप्त हो जाती है|

गर्भाशय से सम्बंधित परेशानी में तिल के फायदे ( Benefits of Sesame Seeds for Ovary Inflammation in Hindi)-

अगर आप गर्भाशय से सम्बंधित परेशानी का सामना कर रहे है तो तिल आपकी परेशानी को दूर करने में सहायक होती है| तिल में मौजूद गुण और पोषक तत्व गर्भाशय से सम्बंधित परेशानी जैसे ओवरी में सूजन इत्यादि को कम करने सहायक होते है| गर्भाशय से सम्बंधित परेशानियो को दूर करने के लिए नियमित रूप से सुबह,  दोपहर और शाम को तिल (sesame seeds) का सेवन करना चाहिए| लेकिन हम आपको सलाह देंगे की गर्भाशय से सम्बंधित परेशानी होने पर तिल (Sesame Seeds in hindi) का सेवन लेडीज चिकित्सक से परामर्श लेने के बाद ही करें|

बवासीर या पाइल्स का इलाज करने में तिल के फायदे ( Benefits of Sesame Seeds for Piles in Hindi)

आज के समय में बवासीर की परेशानी से पीड़ित इंसानो की संख्या काफी ज्यादा है, अगर आप भी बवासीर की परेशानी से ग्रसित है तो sesame seeds आपके लिए फायदेमंद है| बवासीर की परेशानी होने पर अगर आप अपने खाने पीने का ख्याल नहीं रखते है तो आपकी परेशानी या बिमारी बड़ जाती है, बवासीर की परेशानी बढ़ने पर आपको ज्यादा तकलीफ का सामना करना पड़ेगा| तिल में मौजूद गुण और पोषक तत्व बवासीर की परेशानी को कम करने में सहायक होते है| बवासीर की परेशानी में राहत प्राप्त करने के लिए सबसे पहले थोड़े से तिल को जल के साथ अच्छी तरह से पीसकर पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट में थोड़ा सा मक्खन डालकर दिन में सुबह,  दोपहर और शाम को भोजन से लगभग 1 घण्टा पहले सेवन करने से आपको जल्द लाभ प्राप्त होता है|

काले तिल के फायदे,  काले तिल खाने से क्या फायदा होता है?, Benefits of black Sesame Seeds in hindi

तिल कोई सा भी हो फायदेमंद होता है लेकिन काले तिल को ज्यादा फायदेमंद होते है, चलिए अब हम आपको काले तिल के फायदों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  • रक्त चाप,  हृदय रोग,  अस्थमा और माइग्रेन जैसी परेशानी को दूर करने में सहायक|
  • काले तिल का सेवन करने से सुखी खांसी,  कफ,  बलगम में लाभ प्राप्त होता है |
  • काले तिल (sesame seeds) का सेवन करने से भूख भी बढ़ती है|
  • महिलाओं के पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से निजात दिलाने में सहायक|
  • काले तिल का सेवन करने से बहुमूत्र की परेशानी दूर होती है |
  • काले तिल का सेवन करने से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है|
  • कोलन कैंसर से बचाने में काले तिल लाभकारी होते है|
  • काले तिल रक्तचाप की परेशानी को कम करने में सहायक|
  • काले तिल का सेवन करने से शरीर में कैल्शियम की कमी दूर होती है |
  • कब्ज की परेशानी को दूर करने में लाभदायक |
  • काले तिल (black sesame seeds in hindi) का सेवन करने से दांत और मसूडे को मजबूत मिलती है|

सफेद तिल खाने के क्या फायदे हैं?

काले तिल की तरह सफेद तिल के अपने अलग फायदे होते है, चलिए अब हम आपको सफेद तिल के फायदों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है-

  • मर्दाना कमजोरी को दूर करने में सफ़ेद तिल लाभकारी होते है |
  • सफेद तिल का सेवन करने से आपको फोड़े फुंसी,  मुंहासे और शुष्क त्वचा की परेशानी से छुटकारा मिल जाता है |
  • अगर आप अनिद्रा की परेशानी का सामना कर रहे है तो सफेद तिल (sesame seeds in hindi) का सेवन करने से अनिद्रा की परेशानी जल्द दूर हो जाती है।
  • सफेद तिल का सेवन करने से हड्डियों को मजबूती प्राप्त होती है |
  • सफेद तिल (sesame seeds in hindi) का सेवन करने से इंसान की पाचन शक्ती में सुधार या मजबूती मिलती है|
  • शरीर को बल देने में सफेद तिल काफी लाभकारी होते है| 

सफेद & काले तिल के उपयोग ? (Uses of Black Sesame Seeds in Hindi)

ऊपर आपने तिल के फायदों के बारे में जानकारी प्राप्त कर ली है, तिल के उपयोग भी काफी सारे है| चलिए अब हम आपको तिल के उपयोग के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  • अगर आपकी त्वचा जल गई है और उसमे जलन की परेशानी हो रही है तो थोड़े से तिल (Sesame Seeds in hindi) को अच्छी तरह से पीसकर पेस्ट बना लें, इस पेस्ट को जले हुए स्थान पर लेप के रूप में लगाने से जल्द जलन और दर्द में राहत मिलती है|
  • अगर आपके सिर में दर्द की परेशानी हो रही है तो थोड़े से तिल के पत्तों को लेकर उन्हें अच्छी तरह से धोकर उन्हें सिरके या पानी के साथ महीन पीसकर पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट को सिर पर लगाने से जल्द ही सिरदर्द में आराम मिलता है|
  • sesame seeds घाव को भरने में भी सहायक होते है, घाव होने पर तिल का लेप करने से घाव जल्दी भर जाता हैं।
  • सफेद & काले तिल का उपयोग लड्डू का बनाने में होता है|
  • sesame seeds का इस्तेमाल बिस्कुट बनाने में भी होता है, आज के समय में आपको बार तिल के अलग अलग प्रकार बिस्कुट मिल सकते है|
  • काले तिल का इस्तेमाल आप सलाद में भी कर सकते है, आप सलाद के ऊपर थोड़े से काले तिल चड़क कर सेवन कर सकते है|
  • नान में भी काले तिल का इस्तेमाल किया जाता हैं।
  • कुछ इंसान या घरो में तिल के बीज (Sesame Seeds) का उपयोग चटनी बनाने में भी होता है।
  • तिल (sesame seeds ) का उपयोग गुड़ की गजक में भी किया जाता है|
  • Sesame Seeds का उपयोग ब्रेड में भी होता है,  तिल (sesame seeds in hindi ) का इस्तेमाल बंद (डबल रोटी या पाव) बनाने में भी किया जाता है|

काले तिल के नुकसान ? (What are the Side-Effects of Black Sesame Seeds in Hindi)

तिल के फायदे तो बहुत सारे है लेकिन तिल के कुछ nuksaan भी है, चलिए अब हम आपको तिल के नुकसान के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  • अगर आपको तिल (sesame seeds in hindi) का सेवन करने से किसी प्रकार की परेशानी या एलर्जी हो रही है तो तिल का सेवन बिलकुल भी ना करें|
  • गर्भवती स्त्री के लिए तिल हानिकारक हो सकते है इसीलिए sesame seeds in hindi का सेवन करने से बचें और अगर सेवन करना है तो पहले स्त्री डॉक्टर से परामर्श जरूर लें|
  • स्तनपान करने वाली महिलाओं को sesame seeds का सेवन करने से पहले स्त्री चिकिस्तक से परामर्श जरूर करना चाहिए,  बिना चिकित्सक की सलाह के तिल का सेवन करने से बचें|
  • अगर आप किसी भी बीमारी की वजह से कोई विशेष तरह की दवा का सेवन कर रहे है तो काले तिल का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें|
  • मधुमेह से ग्रसित इंसान को काले तिल (sesame seeds in hindi ) का सेवन करने से बचना चाहिए।

अन्य भाषाओं में तिल के नाम ((Name of Til in Different Languages)

तिल को अलग अलग जगह पर अलग अलग नामो से पुकारा जाता है| तिल के बीज का  वानस्पतिक नाम Sesamum indicum होता है। तिल को अंग्रेजी में सीसेम जिनजली कहा जाता है, चलिए अब हम आपको भारत के विभिन्न प्रांतों में भिन्न-भिन्न भाषाओ में तिल के नामो के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

Sesame seeds in Sanskrit –  तिल,  स्नेहफल;

sesame seeds in Hindi –  तिल,  तील,  तिली;

Sesame seeds in Urdu –  Til

Sesame seeds in Oriya – Khasu,  Rasi

Sesame seeds in Kannada – Ellu,  Yellu

Sesame seeds in Gujrati – Tal til

Sesame seeds in Telugu – Nuwulu

Sesame seeds in Tamil – Eblu nuvulu

Sesame seeds in Bengali – Tilgach til

Sesame seeds in Nepali – Til

Sesame seeds in Punjabi – Til,  Tili

Sesame seeds in Malayalam – Ellu,  Karuyellu

Sesame seeds in Marathi – Teel til

Sesame seeds in English – Teel oil,  Tilseed;

Sesame seeds in Arbi – Simsim,  Simasim,  Shiraj

Sesame seeds in Persian – Kunjad,  Kunjed,  Roghane-shirin

हम आशा करते है की आपको हमारे लेख तिल के फायदे, Benefits of Sesame Seeds in Hindi में दी गई जानकारी पसंद आई होगी| ऊपर आपने तिल के फायदे,नुक्सान और उपयोग के बारे में पढ़ा,अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कम लग रही है और आप और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो गूगल या बिंग पर तिल के फायदे, Benefits of Sesame Seeds in Hindi लिख कर सर्छ कर सकते है|

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa