web analytics
Sun. Sep 25th, 2022

benefits of Flax seeds in Hindi : शायद ही कोई इंसान हो जिसने अलसी (flax seeds) का नाम ना सुना हो, अलसी के बीज का उपयोग लगभग सभी घरो में होता है| असली के बीज दिखने में बहुत ही छोटे-छोटे होते हैं लेकिन इसमें मौजूद औषधीय गुणों के बारे में जानकार आप हैरान रह जाएंगे| अधिकतर इंसान अलसी के बीज का सेवन तो करते है लेकिन उन्हें यह नहीं पता होता है की अलसी के बीज काफी सारे रोगो को दूर करने में भी मददगार होते है| अगर आपको अलसी के फायदे और अलसी के बारे में जानकारी कम है तो यह पेज आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है, इस पेज में हम अलसी कया है? अलसी के फायदे कया है ? अलसी के नुकसान इत्यादि के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

Table of Contents

तीसी या अलसी क्या है? (What is Alsi or flax seeds in Hindi?)

अलसी को तीसी के नाम से भी जाना जाता है, प्राचीन समय से अलसी को एक जड़ी-बूटी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है| अलग अलग स्थान पर अलग अलग रंग की अलसी पाई जाती है भारत में अलसी के बीज सफ़ेद, पीले, लाल और हल्के काले रंग के पाए जाते हैं। आमतौर पर गर्म प्रदेशों में उगने वाली अलसी को सबसे बेहतर माना जाता है, अलसी का उपयोग अलसी के बीज और तेल के रूप में किया जाता है|

अलसी के फायदे, benefits of Flax seeds in Hindi, benefits of Linseed in Hindi

तीसी या अलसी के फायदे काफी ज्यादा है, चलिए अब हम आपको अलसी के फायदों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

1 – वजन घटाने में flax seeds या अलसी के बीज के फायदे (alsi ke beej for weight loss in hindi)

अगर आप मोटापे या बड़े हुए वजन से परेशान है और आप बिना एलोपेथिक या होम्योपैथिक दवा का सेवन किए वजन को कम करना चाहते है तो बढ़े हुए वजन को कम करने में अलसी के बीज फायदेमंद(flax seeds | alsi for weight loss in hindi) हो सकते है अलसी के बीज में मौजूद फाइबर और अन्य पोषक तत्व वजन को कम करने में सहायक होते है, सुबह नाश्ते में अलसी के बीज (flax seeds in hindi) का सेवन करने से आपको जल्दी से भूख नहीं लगती है और आपका पेट लम्बे समय तक भरा रहता है, भूख कम होने इंसान का वजन धीरे धीरे कम होने लगता है| पेट की चर्बी कम करने में अलसी के बीज के फायदे (alsi seeds benifits ) देखे जा सकते है|

2 – नींद ना आने की परेशानी को दूर करने में अलसी के फायदे (Alsi Seeds Benefits to Treat Insomnia in Hindi)

नींद ना आने की परेशानी का सामना आज के समय में बहुत सारे पुरुष और महिला कर रही है, अगर आप भी नींद ना आने से परेशान है तो आपकी इस परेशानी को दूर करने में अलसी के बीज के फायदे (benefits of flax seeds in hindi ) देखे जा सकते है| flax seeds in hindi या अलसी के बीज में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व मानसिक तनाव से मुक्ति दिलाकर नींद लाने में मददगार होते है| एक कांसे के बर्तन में थोड़े से अलसी के बीज और एरंड का तेल लेकर अच्छी तरह से महीन पीस कर पेस्ट बना लें, अब इस पेस्ट को आंखों में काजल की तरह रात को सोने से पहले लगाने से जल्द नींद ना आने की परेशानी जल्द दूर हो जाती है|

3 – आंखों के रोग को दूर करने में अलसी के बीज के फायदे (Alsi Seed Benefits in Eye Disease Treatment in Hindi)

आँख से सम्बंधित परेशानियो को दूर करने में अलसी के बीज फायदेमंद (benefits of flax seeds in hindi ) होते है, अलसी में मौजूद औषधीय गुण और तत्व आंखों की परेशानी जैसे – आंख आना, आँख लाल होना, आँखों में जलन होना इत्यादि को समाप्त करने में मददगार साबित होते है| एक गिलास पानी में अलसी के बीज या flax seeds in hindi को रात भर के लिए भिगो कर रख दें, फिर सुबह पानी में से अलसी के बीज निकाल लें, इस पानी से आँखे धोने से आंख आने की परेशानी इत्यादि में आराम प्राप्त होता है।

4 – सूजन की समस्या को समाप्त करने में अलसी के फायदे (Benefits of Alsi Seeds to Treat Inflammation in Hindi)

flax seeds in hindi और अलसी के बीज में मौजूद औषधीय गुण सूजन आने की समस्या को दूर करने में लाभदायक होते है| सूजन की समस्या किसी भी महिला या पुरुष के शरीर के किसी भी भी अंग में हो सकती है, एक चम्मच अलसी के बीजो का चूर्ण और चार चम्मच उबलता हुआ पानी लेकर दोनों को अच्छी तरह से मिलाकर सूजन वाली जगह पर लगाने से जल्द आराम मिलता है|

5 – कान की सूजन को ठीक करने में अलसी के बीज के फायदे (Flax Seeds Benefits in Reducing Ear Inflammation in Hindi)

अगर आपके कान में सूजन आ रही है तो आपकी इस परेशानी को दूर करने में अलसी लाभकारी साबित हो सकती है| flax seeds in hindi या अलसी के बीज में मौजूद औषधीय गुण कान की सूजन को समाप्त करने में सहायक साबित हो सकते है| सबसे पहले थोड़ा सा प्याज का रस लेकर उसमे अलसी डालकर पकने रख दें, अच्छी तरह से पकने के बाद मिश्रण को गैस से उतार कर छान लें, फिर इस छने हुए मिश्रण में से एक या दो बूँद कान में डालने से जल्द कान की सूजन से आराम प्राप्त होता है|

6 – सिर दर्द को समाप्त करने में अलसी के फायदे (Uses of Alsi in Relief from Headache in Hindi)

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में सिर दर्द की परेशानी बहुत ही आम हो गई है और अधिकतर महिला या पुरुष इस समस्या का सामना कर रहे है| अगर आप सिर दर्द की परेशानी का सामना कर रहे है तो अलसी आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकता है, अलसी में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व सिरदर्द की समस्या से आराम दिलाने में सहायक होते है| थोड़े से अलसी के बीज को थोड़े से पानी के साथ पीस कर पेस्ट बना लें फिर उस पेस्ट को सिर पर लगा लें, लेप लगाने से जल्द ही सिर दर्द की परेशानी से आराम मिलता है|

7 – जुकाम की परेशानी को दूर करने में अलसी के फायदे (Benefits of Alsi for Common Cold in Hindi)

जुकाम की परेशानी किसी भी महिला, पुरुष या बच्चो के साथ कभी भी हो सकती है, हालाँकि जुकाम की परेशानी बहुत ही आम होती है लेकिन कई बार जुकाम बढ़ने पर इंसान परेशान हो जाता है| थोड़े से अलसी के बीज (flax seeds in hindi ) को गैस की धीमी आंच पर तवे पर भुने, जब अलसी के बीज अच्छी तरह भून जाएं तब गैस बंद करके अलसी के बीजो महीन पीस कर चूर्ण बना लें, फिर पिसा हुआ अलसी का चूर्ण मिश्री दोनों को बराबर मात्रा में लेकर अच्छी तरह से मिला लें, सुबह और शाम मिश्रण में से लगभग 5 ग्राम मिश्रण गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से जल्द जुकाम की परेशानी में आराम मिलता है।

8 – खांसी की समस्या से छुटकारा दिलाने में अलसी के फायदे (Benefits of Flax seeds in Fighting with Cough and Asthma in Hindi)

अक्सर मौसम के बदलाव की वजह से इंसान को खांसी की परेशानी हो जाती है, खांसी की समस्या किसी भी इंसान को कभी भी हो सकती है अगर आपको खांसी की समस्या हो रही हैं तो flax seeds in hindi या अलसी के बीज आपके फायदेमंद साबित हो सकते है| अलसी के बीजो में मौजूद औषधीय गुण खांसी को समाप्त करने में सहायक होते है| अगर आपको जाड़ों के मौसम में खांसी की समस्या हो रही है तो सबसे पहले अलसी के बीजो का काढ़ा बना लें फिर उसमे थोड़ा शहद मिलाकर सुबह और शाम सेवन करने से जल्द खांसी की परेशानी से छुटकारा प्राप्त होता है और गर्मी के मौसम में खांसी हो रही है तो flax seeds in hindi या अलसी के बीजो के काढ़े में थोड़ी सी मिश्री डालकर पीने से राहत प्राप्त होती है| अलसी के फायदे (alsi ke beej ke fayde) का पूर्ण लाभ लेने के लिए वैध से परामर्श लें|

9 – कामोत्तेजना बढ़ाने में अलसी के फायदे (Flax Seeds Benefits for Stamina in Hindi)

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में बहुत सारे पुरुष कम कामोत्तेजना की समस्या से पीड़ित है, ऐसे में इंसान बाजार से कामोत्तेजना बढ़ाने की दवा खरीद कर खाना शुरू कर देता है जिसकी वजह से उन्हें लाभ की बजाए कई बार नुकसान उठाना पद जाता है| अगर आप भी कामोत्तेजना को बढ़ाना चाहते है तो flax seeds in hindi या अलसी के बीज आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकते है| अलसी के बीजो में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व मर्दाना ताकत को बढ़ाने में सहायक होते है, अलसी के बीजो का चूर्ण, काली मिर्च पॉउडर और शहद तीनो को मिलाकर सेवन करने से जल्द लाभ प्राप्त होता है।

10 – पेशाब संबंधित रोग को दूर करने में अलसी के फायदे (Benefits of Linseed to Treat Urinary Disease in Hindi)

flax seeds in hindi या अलसी के बीज के फायदे पेशाब से संबंधित परेशानियो को सही करने में भी देखे जा सकते है| अलसी के बीजो में मौजूद औषधीय गुण यूरिन से सम्बंधित परेशानी जैसे पेशाब करने में दिक्कत, पेशाब की जलन, पेशाब में खून आना, बार बार पेशाब आना और पेशाब खुल का ना आना इत्यादि को दूर करने में मददगार साबित होते है| मिटटी के बर्तन में पानी डालकर उबलने रख दें, फिर इसमें अलसी के बीज और मुलेठी को कूट कर पानी में डाल दें, पानी जब चौथाई रह जाएं तब बर्तन को गैस से उतार दें फिर इस मिश्रण को छान कर थोड़ा सा कलमी शोरा मिलाकर 2 से 3 घंटे के अंतराल पर थोड़ा थोड़ा मिश्रण पीने से पेशाब से सम्बंधित परेशानियो से आराम मिलता हैं।

11 – बवासीर का इलाज करने में अलसी के फायदे (Alsi Benefits in Piles Treatment in Hindi)

अगर आप बवासीर की परेशानी से पीड़ित है तो flax seeds in hindi या अलसी के बीज आपके लिए लाभदायक साबित हो सकते है अलसी में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व बवासीर की परेशानी में आराम दिलाने में सहायक होते है, नियमित रूप से अलसी के बीजो के तेल का सेवन लगभग पांच मिलीग्राम तेल का सेवन करने से कब्ज और बवासीर की परेशानी में आराम प्राप्त होता है।

12 – टीबी की परेशानी में अलसी के फायदे (Flax Seeds Benefits for TB Disease in Hindi)

आज के समय में बहुत सारे पुरुष और महिला टीबी की परेशानी का सामना कर रहे है तो अलसी के बीज आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकते है| flax seeds in hindi या अलसी के बीज में मौजूद औषधीय गुण टीबी की परेशानी को कम करने में सहायक होते है, लगभग 20 ग्राम अलसी के बीज लेकर उन्हें महीन पीस लें, पीसे हुए अलसी के बीजो को एक गिलास पानी में रात भर के लिए भिगो कर रख दें, सुबह उठकर पानी को हल्का गर्म करें और इसमें थोड़ा सा नींबू का रस मिलाकर पीने से टीबी के रोग मे आराम मिलता है।

13 – जोड़ों के दर्द से मुक्ति दिलाने में अलसी के बीज के फायदे (Linseed Benefits for Arthritis in Hindi)

प्राचीन समय से flax seeds in hindi या अलसी के बीज का इस्तेमाल दर्द निवारक के रूप में होता हुआ आया है| अलसी के बीजो में मौजूद औषधीय गुण और तत्व जोड़ों के दर्द या गठिया की परेशानी में आराम दिलाने में सहायक होते है, अलसी के बीजो को पीसकर चूर्ण बना लें, फिर इस चूर्ण को इसबगोल में मिलाकर दर्द वाली जगह लगाने से लाभ प्राप्त होता है|

14 – ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में अलसी के फायदे (benefits of Linseed in Hindi)

अगर आप बढ़े हुए ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित है तो आपके लिए अलसी के बीज उपयोगी साबित हो सकते हैं। flax seeds in hindi या अलसी के बीज में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड, लिग्नैंस और एंटीहाइपरटेंसिव गुण हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को नियंत्रित करने में साहयक साबित होते है| नियमित रूप से अलसी के बीजो का सेवन करने जल्द लाभ प्राप्त होता हैं, अलसी के फायदे का पूर्ण लाभ लेने के लिए चिकित्सक या वैध के परामर्श के बाद ही अलसी के बीज का सेवन करें|

15 – डायबिटीज की परेशानी में flax seeds या अलसी के बीज के फायदे – benefits of Linseed in Hindi

अलसी के बीजो में मौजूद फाइबर, म्यूसिलेज और आने पोषक तत्व शरीर में इन्सुलिन की मात्रा को नियंत्रित करने में मददगार साबित होते है| अगर आप मधुमेह के रोग से ग्रसित है तो अलसी के बीज (flax seeds in hindi) लाभकारी साबित हो सकती है, नियमित रूप से अलसी के बीजो का सेवन करने से जल्द लाभ मिलता है।

16 – कोलेस्ट्रॉल की परेशानी में अलसी के फायदे – benefits of Linseed in Hindi

flax seeds in hindi या अलसी में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व शरीर में बड़े हुए कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने में सहायक साबित हो सकते है| नियमित रूप से अलसी के बीजो का सेवन करने से शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा संतुलित होने लगती है अगर किसी भी इंसान के शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बाद जाती है तो इंसान को कई घातक परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है|

17 – गर्भावस्था में अलसी के फायदे – benefits of Linseed in Hindi

गर्भावस्था में महिला को ऐसी चीजों का सेवन करने की सलाह दी जाती है जो महिला और उसके शिशु के लिए लाभदायक होती है| अलसी में मौजूद ओमेगा-3 और अन्य पोषक तत्व गर्भवती महिला और उसके शिशु के लिए फायदेमंद साबित होते है, नियमित रूप से उचित मात्रा में अलसी के बीजो का सेवन करने से लाभ मिलता है| लेकिन गर्भवती महिलाओ को अलसी के बीजो का सेवन स्त्री चिकित्सक की सलाह से करना चाहिए|

18 – लिवर के लिए अलसी के फायदे – benefits of Linseed in Hindi

अगर आप अपने लिवर को स्वस्थ रखना चाहते है या लिवर से सम्बंधित परेशानियो को दूर करने में अलसी के बीज के फायदे देखे जा सकते है| flax seeds in hindi या अलसी के बीज में मौजूद अल्फा लिनोलेनिक और लिनोलेनिक एसिड लिवर को स्वस्थ बनाए रखने में मददगार साबित होते है, नियमित रूप से अलसी के बीजो का सेवन करने से जल्द लाभ मिलता है| अलसी के बीज के फायदे का पूर्ण लाभ लेने के लिए उचित मात्रा में सेवन करना जरुरी है |

19 – अस्थमा की परेशानी को दूर करने में अलसी के फायदे – benefits of Linseed in Hindi

आज के समय में बहुत सारे पुरुष और महिला अस्थमा की परेशानी का सामना कर रहे है, अगर आप अस्थमा की परेशानी से पीड़ित है तो आपके लिए flax seeds in hindi या अलसी के बीज लाभकारी साबित हो सकते है| अलसी के बीजो को एक कप पानी में लगभग 30 से 40 मिनट के लिए भिगोकर रख दें, फिर बीजो को पानी में से निकाल लें, बचे हुए पानी को गर्म करके चाय की तरह सिप सिप करके पी लें, नियमित रूप से इस उपाए को करने से जल्द अस्थमा की परेशानी में राहत प्राप्त होती है|

20 – दांत दर्द में अलसी के फायदे – benefits of Linseed in Hindi

अगर आपके दांतो में दर्द या मसूड़ों में सूजन की समस्या हो रही है तो आपकी इस परेशानी को दूर करने में अलसी के फायदे देखे जा सकते है| flax seeds in hindi या अलसी में मौजूद औषधीय गुण दांतो में होने वाले दर्द और मसूड़ों में सूजन की परेशानी को कम करने में मददगार साबित होते है| मसूड़ों में सूजन या दांतो में दर्द होने पर अलसी के तेल का इस्तेमाल करने जल्द दर्द से आराम मिलता है|

अलसी का उपयोग – खाने का सही समय और सही तरीका

ऊपर आपने अलसी के फायदों के बारे में जानकारी प्राप्त की है, लेकिन अगर आपको अलसी का सेवन करने का सही तरीका और समय की जानकारी नहीं है तो परेशान ना हो अब हम आपको अलसी खाने का सही तरीका और सही समय की जानकारी दे रहे है| अगर आप अलसी के बीजो का सेवन सीधे तोर पर करते है और अगर आप उन्हें अच्छी तरह से चबाकर नहीं खाते है तो अलसी के बीज (flax seeds in hindi ) बिना पचे ही आपके शरीर से बाहर निकल जाते है| इसलिए इसलिए अलसी खाने के फायदे का पूर्ण लाभ लेने के लिए अलसी के बीजो का चूर्ण खाने की सलाह दी जाती है, चलिए अब हम आपको अलसी का सेवन करने का सही समय और सही तरीका बताने जा रहे हैं।

  • flax seeds in hindi या अलसी के बीजो का सेवन सीडी तोर पर करने की जगह अलसी के बीजो का चूर्ण के रूप में करना ज्यादा फायदेमंद होता है|
  • अगर आप अलसी के बीजों का सेवन करना चाहते है तो अलसी के बीजो को गर्म पानी में 15 से 20 मिनट के लिए भिगो कर रखने के बाद सेवन करें और अगर ठंडे पानी में भिगो रहे है तो तीन से चार घंटे भिगोने के बाद सेवन करें।
  • एक बात का खास ध्यान रखना जरुरी है कि अगर आप अलसी के बीज का सेवन कर रहे है तो आपको पानी अधिक मात्रा में पीना है, कम पानी पीने से आपको परेशानी हो सकती है|
  • flax seeds in hindi या अलसी का सेवन आप लड्डू बना कर भी कर सकते हैं।
  • flax seeds in hindi या अलसी के बीजो के चूर्ण को आप सलाद, दही, छाछ और दलिये इत्यादि में डालकर सेवन कर सकते हैं।
  • अलसी के बीजो का सेवन करने का सबसे उपयुक्त समय सुबह का होता है, सुबह ब्रेकफास्ट में अलसी के बीजो का सेवन करने करने से अधिक लाभ प्राप्त होता है|

अलसी या तीसी की तासीर कैसी होती है ?

अलसी के बारे में तो सभी जानते ही है, लेकिन इसकी तासीर के बारे में अधिकतर लोग नहीं जानते है तो हम आपको बता दें की अलसी की तासीर गर्म होती है|

अलसी के नुकसान – Side Effects of Flax Seeds in Hindi

आमतौर पर अलसी के फायदे ही ज्यादा देखने को मिलते है लेकिन अधिक मात्रा में या गलत इस्तेमाल की वजह से अलसी के कुछ नुकसान भी देखने को मिलते है| चलिए अब हम आपको flax seeds in hindi या अलसी के बीज के नुकसान के बारे मे जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

  • flax seeds in hindi या अलसी के बीज कब्ज की समस्या में आराम दिलाने में सहायक साबित होते है, लेकिन अधिक मात्रा में अलसी का सेवन करने से गंभीर कब्ज का भी सामना करना पड़ सकता है।
  • मासिक धर्म केसमै पर महिलाओ को अलसी का सेवन करने से बचना चाहिए, कई बार अलसी का सेवन करने से अधिक ब्लीडिंग की परेशानी हो सकती है।
  • flax seeds in hindi या अलसी का सेवन अधिक मात्रा में करने से आपको दस्त या डायरिया की परेशानी भी हो सकती है|
  • मधुमेह से पीड़ित इंसान को अलसी का सेवन चिकित्सक के परामर्श लेने के बाद ही करना चाहिए, अधिक मात्रा मे सेवन करना मधुमेह से पीड़ित इंसान के लिए नुक्सानदायक हो सकता है|
  • गर्भवती महिलाओ को अलसी का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें, अपनी मर्जी से अलसी का सेवन गर्भवती महिलाओ के लिए घातक हो सकता है|
  • अगर लो ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित है तो आपको अलसी का सेवन करने से बचना चाहिए और यदि flax seeds in hindi या अलसी के बीजो का सेवन करना है तो डॉक्टर की सलाह से ही करें वर्ण आपको हानिकारक प्रभाव देखने को मिल सकते है|
  • flax seeds in hindi या अलसी के बीजो का सेवन लो ब्लड शुगर वाले इंसानो को नहीं करना चाहिए, ऐसे इंसान अगर अलसी का सेवन करते है तो उन्हें दिक्कत हो सकती है|

अन्य भाषाओं में अलसी के नाम (Name of Flax Seeds in Different Languages)

flax seeds in hindi या अलसी का वानस्पतिक नाम लाइनम यूसीटैटीसिमम (Linum usitatissimum ) होते है, दुनिया भर में अलसी या तीसी को अलग अलग नामों से पुकारा जाता है चलिए अब हम आपको अलसी के अलग अलग भाषाओ में अलग अलग नाम की जानकारी उपलब्ध करा रहे है –
Flax seeds in –

  • Flax seeds in Hindi or Linseed in Hindi – तीसी, अलसी

  • Flax seeds in Urdu or Linseed in Urdu or Alsi in Urdu – अलसी (Alasi)

  • Alsi in English – Linseed, Flax plant, Common flax

  • Flax seeds in Sanskrit or Linseed in Sanskrit or Alsi in Sanskrit – अतसी, नीलपुष्पिका, मसरीना, क्षौमी

  • Flax seeds in Oriya or Linseed in Oriya or Alsi in Oriya – Pesu

  • Flax seeds in Uttarakhand or Linseed in Uttarakhand or Alsi in Uttarakhand – Alsi

  • Flax seeds in Kannada or Linseed in Kannada or Alsi in Kannada – Agasebeej, Alashi

  • Flax seeds in Konkani or Linseed in Konkani or Alsi in Konkani – Sonnbiam

  • Flax seeds in Gujarati or Linseed in Gujarati or Alsi in Gujarati – Alshi

  • Flax seeds in Tamil or Linseed in Tamil or Alsi in Tamil – Alivirai, Alshivirai

  • Flax seeds in Telugu or Linseed in Telugu or Alsi in Telugu – Avisi, Ullusulu), Madanginjalu

  • Flax seeds in Bengali or Linseed in Bengali or Alsi in Bengali – Tisi, Masina, Asina

  • Flax seeds in Punjabi or Linseed in Punjabi or Alsi in Punjabi – Alish, Alasi, Atashi

  • Flax seeds in Marathi or Linseed in Marathi or Alsi in Marathi – Javas, Alashi

  • Flax seeds in Malayalam or Linseed in Malayalam or Alsi in Malayalam – Agashi, Charm, Cherucana, Akasi

  • Flax seeds in Nepali or Linseed in Nepali or Alsi in Nepali – Alasi

  • Flax seeds in Arabic or Linseed in Arabic or Alsi in Arabic – Kettan, Bazrulkattan

  • Flax seeds in Persian or Linseed in Persian or Alsi in Persian –Tukhm-e-kattan

हम आशा करते है आपको हमारा लेख तीसी या अलसी के फायदे (Flax seeds in Hindi or Linseed in Hindi) में दी गई जानकारी पसंद आई होगी लेकिन अगर आप तीसी या अलसी के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो गूगल या बिंग पर तीसी या अलसी के फायदे (Flax seeds in Hindi or Linseed in Hindi) के बारे में और ज्यादा जानकारी प्राप्त कर सकते है|

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa