web analytics
Sun. Sep 25th, 2022

BAMS Full Form in Hindi –  अगर आप BAMS Full Form in Hindi या BAMS के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो हमारा यह पेज आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है| आज हम अपने इस पेज में bams की फुल फॉर्म के साथ साथ bams कया होता है या कैसे किया जाता है इत्यादि जानकारी उपलब्ध कराएंगे| आज के समय में डॉक्टर बनने की चाहत अधिकतर बच्चो को होती है, डॉक्टर को बेस्ट प्रोफेशन में से एक माना जाता है| डॉक्टर बनना गर्व की बात होती है क्योंकि अधिकतर इंसान डॉक्टर को भगवान का दूसरा रूप मानते है और देखा जाए तो सही भी है क्योंकि डॉक्टर ही इंसान को मरने से बचाता है| वर्तमान समय में किसी भी इंसान के पास अपनी बिमारी या परेशानी को दूर करने के लिए होम्योपैथिक, एलोपेथिक या आयुर्वेदिक दवा का सेवन करना पड़ता है|

ऐसे छात्र जो डॉक्टर बनना चाहते है लेकिन उन्हें यह जानकारी नहीं होती है की डॉक्टर कैसे बनते है| ऐसे छात्र अपने घर दोस्तों या परिवार वालो से BAMS के बारे में जानकारी प्राप्त करते है| आज का जमाना इंटरनेट का है तो अधिकतर छात्र इंटरनेट पर BAMS Full Form in Hindi, BAMS की Full Form क्या हैं, BAMS की फुल फॉर्म कया होती है, बीएएमएस की फुल फॉर्म क्या है, what is Full Form of BAMS in Hindi, BAMS full form in Medical, bams full form in medical in hindi, bams course details in hindi, bams private college fees, bams course fees, BAMS Form in Hindi, BAMS का पूरा नाम क्या है, BAMS Ka arth Kya Hai, BAMS Kya Hota Hai, BAMS कैसे किया जाता है, भारत में BAMS के टॉप कॉलेजेस कौन कौन से है? इत्यादि लिखकर सर्च करते है| चलिए अब हम आपको BAMS ki full form in hindi or BAMS full form in medical in hindi के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

BAMS Full Form in Hindi | बीएएमएस की फुल फॉर्म कया होती है? | what is full form in medical in hindi

BAMS ki full form hai Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery और बीएएमएस की फुल फॉर्म इन हिंदी होती है बैचलर ऑफ़ आयुर्वेदिक मेडिसिन एंड सर्जरी| हालाँकि आप फुल फॉर्म से ही समझ गए होंगे की इसमें दवा और सर्जरी की जाती है, BAMS एक डिग्री होती है और यह डिग्री मेडिकल क्षेत्र में दी जाती है| ऐसे छात्र जो BAMS की डिग्री प्राप्त कर लेते है उन्हें डॉक्टर की उपाधि मिल जाती है| हम आपको जानकारी दें दें की BAMS की डिग्री लेने के बाद आप जब तक डॉक्टर नहीं बन सकते है जब तक आप एक साल की इंटर्नशिप नहीं कर लेते है| इंटर्नशिप करने के बाद आप अपने नाम के आगे डॉक्टर लिख सकते है और अपना क्लिनिक भी खोल सकते है या किसी हॉस्पिटल को भी ज्वाइन कर सकते है| चलिए अब हम आपको BAMS से सम्बंधित आने महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध करते है

BAMS course ke lie Eligibility | बीएएमएस में प्रवेश लेने के कया योग्यता होनी चाहिए?

अगर आप BAMS में प्रवेश लेने के बारे में सोच रहे है या प्रवेश लेना चाहते है तो आपको यह पता होना चाहिए की bams करने के लिए जरुरी पात्रता कया है? अगर आप bams में प्रवेश लेने लिए जो Eligibility चाहिए वो पूरी नहीं करते है तो आपको bams में प्रवेश नहीं मिलेगा| चलिए अब हम आपको बताते है की BAMS करने के लिए कया योग्यता होनी चाहिए

  • जो भी छात्र bams करना चाहता है वो इंटर (12th class) साइंस के साथ पास होना चाहिए और 12th में छात्र के पास रसायन विज्ञान (chemistry), जीव विज्ञान (biology), भौतिक विज्ञान (physics) विषय होना अनिवार्य है|
  • BAMS कोर्स को करने के लिए छात्र के 12th class में 50% या उससे अधिक अंक के साथ पास होना चाहिए|
  • BAMS में प्रवेश लेने के लिए छात्र की उम्र 17 साल से कम नहीं होनी चाहिए, अगर आपकी उम्र 17 साल से कम है तो आप bams में प्रवेश नहीं ले सकते है|
  • NEET का एक्साम पास करना भी जरुरी है|

बीएएमएस में प्रवेश कैसे लें ? बीएएमएस कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया – BAMS Full Form in Hindi

अगर आप बीएमएस कोर्स में प्रवेश लेना चाहते है तो आपको यह जानना भी जरुरी है की BAMS में प्रवेश कैसे लिया जाता है| कोई भी छात्र जो BAMS कोर्स में प्रवेश लेना चाहते है तो सबसे पहले कोर्स की जरुरी पात्रता को पूरा करना होता है, जिसके बारे में हमने आपको ऊपर बता दिया है| BAMS कोर्स में प्रवेश पाने के लिए आप एक एक्साम पास करना बहुत जरुरी है जिसका नाम है नीट अर्थात नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट| जो छात्र नीट की परीक्षा पास करते है उन्हें ही bams कोर्स में प्रवेश मिलता है, नीट एग्जाम में रैंकिंग के हिसाब से कॉलेज दिए जाते है| जब कोई भी छात्र नीट की परीक्षा पास कर लेता है तो काउन्सलिंग आयोजित की जाती है, उसमे आपको अपनी पसंद के कॉलेज चुनने होते है| अगर आपके द्वारा चुने गए कॉलेज आपकी रैंकिंग के हिसाब से मिल सकते है तो आपको उस कॉलेज में प्रवेश दे दिया जाता है| आप कॉलेज में जाकर सभी निर्देशों और जरुरी डाक्यूमेंट्स को जमा करके एडमिशन ले सकते है|

क्या बीएएमएस कोर्स में एडमिशन के लिए नीट (NEET) का एग्जाम पास करना जरूरी है?

बहुत से छात्रों के मन में यह सवाल होता है की बीएएमएस कोर्स में एडमिशन के लिए नीट की परीक्षा पास करना जरूरी है। तो हम आपको बता दें की अगर आप बीएएमएस कोर्स (BAMS Full Form in Hindi) करना चाहते है तो आपको नीट एग्जाम की परीक्षा पास करना जरुरी है|

बीएएमएस करने के लिए 12th में कितने प्रतिशत नंबर होने चाहिए ?

हालाँकि BAMS कोर्स में एडमिशन नीट एग्जाम के मार्क्स और मेरिट लिस्ट पर निर्भर करता है| अगर आप सामान्य जाती के है तो आपके इंटर में 50% मार्क्स होने चाहिए लेकिन अगर आप पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाती या अनुसूचित जनजाति में आते है तो आपके इंटर में 45% मार्क्स होने चाहिए|

BAMS में शामिल कोर्स – BAMS Full Form in Hindi

यह तो हम सभी जानते ही है की BAMS चिकित्सा के क्षेत्र में स्नातक की डिग्री होती है, BAMS कोर्स साढ़े पांच साल का होता है, हालाँकि BAMS का कोर्स साढ़े चार साल का होता है और एक साल इंटर्नशिप होती है| ऐसे छात्र जो कोर्स और इंटर्नशिप को पूरा लेते है वो अपने नाम के आगे डॉक्टर लिख सकते है या कह लीजिए वो डॉक्टर बन जाते है| BAMS कोर्स साढ़े चार साल का होता है जिसे पढाई के अनुसार तीन भागो में विभाजित किया गया है, चलिए अब हम आपके BAMS में पढ़ाएं जाने वाले सब्जेक्ट या कोर्स के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है| BAMS में निम्न कोर्स पढ़ाएं जाते है –

  • शारीरीक रचना विज्ञान के बारे में (Physical Anatomy)
  • शल्यक्रिया के सिद्धांत (Principal of Surgery)
  • आँख की चिकित्सा (Ophthalmology)
  • रोगों से बचाव तथा सामाजिक चिकित्सा
  • शारीरीक क्रिया विज्ञान (Physiology)
  • चिकित्सा के सिद्धान्त (Principal of Therapy)
  • फोरेंसिक चिकित्सा (Forensic Medical)
  • विषविज्ञान (Toxicology)
  • कान नाक गले की चिकित्सा
  • त्वचा की चिकित्सा

बीएएमएस कोर्स के बाद आप कया कर सकते है ? बीएएमएस के बाद कैरियर

आज के समय डॉक्टर की नौकरी को सबसे बेहतरीन जॉब में से एक माना जाता है| ऐसे छात्र जो BAMS का कोर्स पूर्ण कर लेते है उनके पास कैरियर के लिए काफी सारे ऑप्शन होते है| बीएएमएस (BAMS Full Form in Hindi) का कोर्स पूरा करने के बाद आप सरकारी अस्पताल, प्राइवेट अस्पताल या आयुर्वेद अस्पताल को ज्वाइन कर सकते है, अस्पताल ज्वाइन करने से आपके अनुभव भी जल्दी प्राप्त होता है| प्राइवेट अस्पताल वाले आपके शुरुआत में ही काफी अच्छी सेलेरी दे देते है| बीएएमएस करने के बाद आपको प्राइवेट अस्पताल लगभग चार से पांच लाख रूपए सालाना सेलेरी दे देते है| अगर आप चाहे तो अपना खुद का क्लीनिक भी खोल सकते है लेकिन अपना क्लिनिक खोलने के लिए आपके पास पैसा होने भी जरुरी है इसीलिए अधिकतर बीएएमएस पास छात्र पहले किसी अस्पताल में ज्वाइन करते है फिर कुछ सालो बाद अपना क्लिनिक खोलते है| आप चाहे तो BAMS के बाद MBBS या MS की पढाई भी कर सकते है|

BAMS के लिए प्रमुख कॉलेज

भारत के प्रत्येक राज्य के लगभग सभी जिलों में आपको BAMS करने के लिए कॉलेज मिल जाएंगे| आप अपनी सहूलियत के हिसाब से कॉलेज का चयन कर सकते है चलिए अब हम आपको बीएएमएस (BAMS Full Form in Hindi) के कुछ प्रमुख कॉलेजो के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

1 – राजीव गांधी स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय (बेंगलुरु) – अगर हम पुराने कॉलेज की बात करें तो राजीव गाँधी  स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय भी काफी पुराना कॉलेज है| इस विश्वविद्यालय की स्थापना वर्ष 1996 में हुई थी और इस विश्वविद्यालय का निर्माण कर्नाटक सरकार के द्वारा किया गया है| इस कॉलेज में आप बीएएमएस (BAMS Full Form in Hindi), MS, MBBS और MD इत्यादि कोर्स को कर सकते है| अगर आप राजीव गांधी स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय में एडमिशन लेना चाहते है या जानकारी प्राप्त करना चाहते तो आप ऑफिसियल वेबसाइट – http://www.rguhs.ac.in/ पर जाकर प्राप्त कर सकते है|

2 – जे बी रॉय राजकीय आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज (कोलकाता) – जे बी रॉय राजकीय आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज को भारत में सबसे पुराने आयुर्वेदिक कॉलेजों में से एक माना जाता है, जे बी रॉय आयुर्वेदिक कॉलेज पश्चिम बंगाल स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय से affilated है।

3 – आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज (कोल्हापुर) – आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज कोल्हापुर में स्थित है और आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज महाराष्ट्र यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस नासिक से affilated है| आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज की स्थापना वर्ष 1989 में हुई थी आप इस कॉलेज से बीएएमएस (BAMS Full Form in Hindi), MBBS और MS इत्यादि कोर्स कराता है|

4 – श्री आयुर्वेद महाविद्यालय (नागपुर) – श्री आयुर्वेद महाविद्यालय नागपुर में स्थित है और इस कॉलेज की स्थापना वर्ष 1954 में हुई थी। यह कॉलेज भी काफी ज्यादा प्रचलित है इस कॉलेज से आप बीएएमएस (BAMS Full Form in Hindi), MBBS, MS और MD इत्यादि कोर्स को कर सकते है|

5 – दयानंद आयुर्वैदिक कॉलेज (जालन्धर) –  दयानंद आयुर्वैदिक कॉलेज को अमृतसर के प्रसिद्ध कॉलेजो में से एक माना जाता है| इस कॉलेज की स्थापना महात्मा हंस के द्वारा वर्ष 1989 में की थी| इस कॉलेज से आप बी फार्मा, BAMS, MBBS, MS इत्यादि कोर्स कर सकते है|

6 – राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान (जयपुर) – राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान की स्थापना स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा वर्ष 1976 में की गई थी| यह कॉलेज टीचिंग, ट्रेनिंग और रिसर्च के लिए काफी ज्यादा प्रसिद्ध है|

7 – भारती विद्यापीठ (पुणे) – भारती विद्यापीठ पुणे में स्थित है या कॉलेज राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध है यहां पर आपको भारत के साथ साथ देश विदेश के छात्र दिखेंगे| इस कॉलेज में छात्रों को सभी प्रकार की आधुनिक सुविधा मिलती है, यह कॉलेज भारत के प्रसिद्ध कॉलेजो में से एक है| इस कॉलेज से आप चिकित्सक से सम्बंधित सभी कोर्सो को कर सकते है| अगर आप इस कॉलेज में एडमीशन लेना चाहते है तो आप गूगल पर इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते है|

8 – राजीव गांधी सरकारी आयुर्वेदिक कॉलेज (कांगड़ा) – राजीव गांधी सरकारी आयुर्वेदिक कॉलेज की स्थापना वर्ष 1966 में हुई थी, यह एक सरकारी कॉलेज है और इस कॉलेज से आप बीएएमएस (BAMS Full Form in Hindi), MBBS और MD इत्यादि कोर्स को कर सकते है| सरकारी होने की वजह से इस कॉलेज की फीस प्राइवेट कॉलेजो से काफी कम है|

9 – गुजरात आयुर्वेद विश्वविद्यालय (जामनगर) – गुजरात आयुर्वेद विश्वविद्यालय का निर्माण गुजरात सरकार के द्वारा किया गया है| इस कॉलेज में आप बीएएमएस (BAMS Full Form in Hindi), MBBS और MD इत्यादि कोर्स के साथ साथ औषधीय पौधों में पीएचडी बीएएमएस,  डी फार्मा, बी फार्मा और पीजी डिप्लोमा कोर्सेज भी कर सकते हैं।

10 – राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज (लखनऊ) – राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज उत्तर प्रदेश के प्रमुख कॉलेजो में से एक है| इस कॉलेज में आपको कॉलेज और अस्पताल दोनों ही मिलते है और यह कॉलेज लखनऊ विश्वविद्यालय से affilated है। इस कॉलेज से आप बीएएमएस (BAMS Full Form in Hindi), MBBS, MS और MD इत्यादि कोर्स को कर सकते है|

BAMS की अन्य फुल फॉर्म

चलिए अब हम आपको BAMS की कुछ अन्य फुल फॉर्म के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

Broad area maritime surveillance

Bloggers and music sites

Bank associates merchant services

Baron advanced meteorological system

Bernice ayer middle school

Bay area media services

Branding and marketing services

Breakpoint annotation model smoothing

Babb absence management services

Berlin applied micro seminar

Benefits agency medical service

Binary angular measurement system

हम आशा करते है की आपको हमारा लेख BAMS Full Form in Hindi या BAMS ki full form फॉर्म में दी गई जानकारी पसंद आई होगी लेकिन किसी भी कारणवश अगर आपको हमारे दी गई जानकारी पसंद नहीं आई है तो आप गूगल या बिंग पर BAMS Full Form in Hindi या BAMS ki full form लिखकर सर्च कर सकते है|

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa