web analytics
Sun. Sep 25th, 2022

अंडकोष का ढीलापन का इलाज – अगर आप अंडकोष के ढीलेपन या लटकने की समस्या का सामना कर रहे है और आप अंडकोष का ढीलापन का इलाज या अंडकोष लटकने का घरेलु इलाज सर्च कर रहे है तो हमारा यह पेज आपके लाभकारी साबित होगा| अपने इस पेज में हम आपको अंडकोष का ढीलापन या लटकने से सम्बंधित जानकारी उपलब्ध करा रहे है, जब किसी भी पुरुष के अंडकोष का आकार बढ़ने लगे या अंडकोष लटकने लगे तो ऐसे में इंसान को काफी सारी परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है|

जब कोई भी इंसान अंडकोष के ढीलेपन की समस्या से पीड़ित होता है तो इंसान अंडकोष के ढीलेपन की समस्या को दूर करने के लिए घरेलू उपाय सर्च करता है, पीड़ित इंसान इंटरनेट पर अंडकोष का ढीलापन का इलाज, अंडकोष का ढीलापन का इलाज कया है? अंडकोष का ढीलापन का इलाज कौन कौन से है? अंडकोष लटकने का घरेलू इलाज, अंडकोष लटकने का घरेलू इलाज कया है? अंडकोष में पानी सुखाने की दवा, अंडकोष में पानी सुखाने का घरेलू इलाज, andkosh ke latakne ka ilaj, andkosh ke latakne ki dawa, andkosh ka dheelapan ka ilaj, andkosh me pani sukhane ka ilaj, andkosh me paani sukhane ki dawa इत्यादि लिखकर सर्च करता है|

अंडकोष में ढीलेपन या लटकने या पानी भरने की समस्या को कभी भी हल्के में नहीं लेना चाहिए, अगर सही समय पर अंडकोष का ढीलापन का इलाज ना किया जाएं तो इंसान को घातक परेशानी का सामना करना पड़ सकता है| चलिए अब हम आपको अंडकोष का ढीलापन का इलाज करने के तरीको के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

Table of Contents

अंडकोष लटकने के कारण | अंडकोष ढीले होने के कारण | अंडकोष बढ़ने के कारण

अंडकोष के ढीलेपन का इलाज के बारे में जानने से पहले आपको यह जानना भी बहुत जरुरी है की अंडकोष लटकने के कारण कया है? बहुत से पुरुषो के मन में अंडकोष को लेकर काफी सवाल रहते है जैसे अंडकोष ढीले होने का कारण कया है? अंडकोष क्यों लटक जाते है? अंडकोष का आकार क्यों बाद रहा है? अंडकोष में पानी भरने का कारण कया है? इत्यादि| चलिए अब हम आपको अंडकोष लटकने के कारण के बारे में बताते है –

अंडकोष लटकने का कारण है बढ़ती उम्र

यह तो हम सभी जानते है की जैसे जैसे इंसान की उम्र बढ़ती है वैसे वैसे इंसान की त्वचा ढीली पड़ने लगती है| त्वचा ढीली होने का प्रमुख कारण कोलेजन में कमी होती है, अगर आपके अंडकोष 50 की उम्र के बाद लटक रहे है तो यह यह आम बात है लेकिन कम उम्र में अंडकोष लटक रहे है तो आपको इलाज की जरुरत है|

अंडकोष ढीले होने का कारण है शुक्राणु का निर्माण

अंडकोष लटकने का कारण शुक्राणु का निर्माण भी हो सकता है, दरसल अंडकोष को शुक्राणु का निर्माण करने के लिए उचित तापमान की जरुरत होती है ऐसे में अंडकोष शरीर के तापमान से कम तापमान में आने के लिए शरीर से थोड़ा नीचे हो जाते है और इस स्थिति में इंसान को अंडकोष लटके हुए महसूस होते है|

अंडकोष का ढीलापन का घरेलू इलाज | andkosh ka dheelapan ka ilaj

अगर आप अंडकोष के ढीलेपन की समस्या से परेशान है तो आप अंडकोष का ढीलापन का इलाज करने के लिए घरेलू उपाए भी अपना सकते है| सही तरीके और उचित मात्रा में घरेलू नुस्खों को आजमाया जाएं तो बिमारी से जल्द आराम प्राप्त होता है| चलिए अब हम आपको अंडकोष का ढीलापन का घरेलू इलाज के बारे में जानकारी उलब्ध करा रहे है –

एरण्ड से करें अंडकोष का ढीलापन का इलाज

एरण्ड के बारे में हम सभी भली भाँती जानते है एरण्ड के पत्तो को दर्द निवारक के रूप में ज्यादा जाना जाता है| लेकिन कया आप जानते है की एरण्ड से अंडकोष का ढीलापन का इलाज भी किया जा सकता है, एरण्ड में मौजूद औषधीय गुण और पोषक तत्व अंडकोष के ढीलेपन या लटकने की समस्या को समाप्त करने में मददगार साबित होते है| अंडकोष का ढीलापन का इलाज या अंडकोष लटकने का इलाज एरण्ड से दो प्रकार से किया जा सकता है, चलिए अब हम आपको दोनों उपायों के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है, आप अपनी परेशानी से छुटकारा पाने के लिए कोई सा भी उपाय अपना सकते है-

अगर किसी भी पुरुष के अंडकोष ढीले हो गए है या लटक गए है या अंडकोष में पानी भर गया है तो आपकी इस परेशानी को दूर करने में एरण्ड का तेल मददगार साबित हो सकता है| एरण्ड के तेल में मौजूद गुण अंडकोष को उनका सही आकार लाने में मददगार साबित होते है, अंडकोष का ढीलापन का इलाज करने के लिए सबसे पहले थोड़ा सा एरण्ड का तेल अपने हाथो में लें लें, फिर हल्के हाथो से दोनों अंडकोषों की मालिश करें| नियमित रूप से 5 से 10 मिनट मालिश करने से जल्द ही अंडकोष का पानी समाप्त हो जाता है या अंडकोष का ढीलापन समाप्त होने लगता है|

अगर आप अंडकोष लटकने का इलाज करना चाहते है तो एरण्ड के तेल का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है| अंडकोष का ढीलापन का इलाज करने के लिए सबसे पहले एक गिलास दूध लेकर उसमे दो से तीन एरण्ड के तेल की बूँद डालकर अच्छी तरह से मिलाकर पी लें| अंडकोष लटकने के घरेलू उपाय को रोजाना सुबह और शाम करने से जल्द अंडकोष के ढीलेपन की समस्या से राहत प्राप्त होती है| अंडकोष लटकने की समस्या से जल्द छुटकारा पाने के वेध या चिकित्सक की सलाह से एरण्ड के तेल का इस्तेमाल करें|

अंडकोष का ढीलापन दूर करने का घरेलू उपाय है आम के पत्ते( Mango Leaves se andkosh ka dheelapan ka ilaj )

आम खाना तो सभी को पसंद होता है और आम का पेड़ आपको आसानी से अपने घर के आस पास में मिल जाएगा, अब हम आपको अंडकोष का ढीलापन का इलाज करने के लिए बेहद आसान और सरल उपाय बताने जा रहे है| कया आप जानते है की आम के पत्तो से भी अंडकोष का ढीलापन का इलाज या अंडकोष लटकने का इलाज कर सकते है| इस नुस्खे के लिए आपको केवल आम के ताजे पत्तो की जरुरत होती है, अंडकोष में पानी भरने का इलाज करने के लिए सबसे पहले थोड़े से आम के ताजे पत्ते लेकर उन्हें अच्छी तरह से धोकर साफ़ कर लें फिर उन पत्तो को पीस लें उसके बाद थोड़ा सा नमक डाल कर दोबारा पीसकर लेप बना लें| आम के पत्तो और नमक से तैयार लेप को दोनों अंडकोष पर अच्छी तरह से लगा लें| नियमित रूप से अंडकोष लटकने के घरेलू उपाय को अपनानें से बहुत जल्द लाभ प्राप्त होता है|

भिलावा ( Anacardium se karen andkosh ka dheelapan ka ilaj )

काफी कम इंसान भिलावा ( Anacardium in hindi ) के बारे में जानते है लेकिन भिलावा काफी साड़ी बीमारियो को दूर करने में लाभकारी साबित होती है| भिलावा आपको पंसारी की दूकान पर आसानी से मिल जाती है, अगर आप अंडकोष लटकने या ढीलेपन की समस्या का सामना कर रहे है और आप इस परेशानी से निजात पाने के लिए अंडकोष का ढीलापन का इलाज या अंडकोष लटकने का इलाज सर्च कर रहे है तो भिलावा आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकती है| भिलावा में मौजूद औषधीय गुण और तत्व ढीलापन दूर करने में सहायक होते है| अंडकोष ढीलापन की दवा बनाने के लिए सबसे पहले थोड़ी सी भिलावा और थोड़ी सी हल्दी लेकर दोनों को महीन पीस कर पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट को दोनों अंडकोष पर अच्छी तरह से लगा लें, लगभग आधे एक घंटे इस लेप का लगा रहने दें फिर अंडकोष को धो दें| आप चाहे तो रात में सोने से पहले लेप लगा लें और फिर सो जाएं सुबह अंडकोष को धो लें| नियमित रूप से अंडकोष के ढीलेपन की दवा का उपयोग करने से बहुत जल्द अंडकोष अपने सही आकार में आ जाते है|

तंबाकू के पत्ते ( andkosh ka dheelapan ka ilaj hai Fresh Leaves of Tobacco )

अंडकोष का ढीलापन का इलाज तंबाकू के पत्ते से भी किया जा सकता है, तंबाकू के पत्ते में मौजूद औषधीय गुण और तत्व अंडकोष में पानी भरने या अंडकोष लटकने की समस्या से आराम दिलाने में सहायक साबित होते है| ढीलापन का इलाज करने के लिए सबसे पहले आपको तंबाकू के ताजे पत्ते लेने है, तंबाकू के ताजे पत्तो को लेकर उन्हें अच्छी तरह से साफ़ कर लें, फिर किस चोदे बर्तन में इतना सरसो का तेल लें जितने में तंबाकू के पत्ते अच्छी तरह से भीग जाएं| बर्तन में सरसो का तेल करके उसमे तंबाकू के पत्ते डाल कर भीगा रहने दें, कुछ समय बाद जब पत्ते सरसों के तेल को अच्छी तरह से सोक लें फिर इस तंबाकू के पत्ते को अंडकोष पर लगा लें, नियमित रूप से इस नुस्खे को करने से कुछ दिनों में ही अंडकोष लटकने की समस्या समाप्त हो जाती है|

कंटकरंज से करें अंडकोष का ढीलापन का इलाज (andkosh ka dheelapan ka ilaj)

प्राचीन समय से कंटकरांज को महत्वपूर्ण औषधि के रूप में माना जाता है, पुरुषो के लिए यह जड़ी बूटी काफी ज्यादा लाभकारी मानी जाती है| अगर आपके अंडकोष में पानी भर गया है या ढीलापन आ गया है और आप अंडकोष में पानी भरने का इलाज या अंडकोष लटकने का घरेलू उपाय सर्च कर रहे है तो कंटकरंज आपके लिए बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है| अंडकोष का ढीलापन की रामबाण दवा बनाने के लिए सबसे पहले आपको कंटकरंज के बीज की जरुरत होती है, कंटकरांज के बीज आपको पंसारी की दूकान से प्राप्त हो जाएंगे| सबसे पहले कंटकरंज के बीज लेकर उन्हें महीन पीस कर चूर्ण बना लें, उसके बाद एक या दो अरंड के पत्ते लेकर उनपर कंटकरंज के बीजो का पॉउडर अच्छी तरह से लगा लें| फिर जिस अंडकोष में पानी भर गया है उस पर अच्छी तरह से बाँध कर सो जाएं, सुबह उठकर पत्ते को हटा दें, अगर दोनों अंडकोषों में पानी भर गया है या दोनों अंडकोष लटक गए है तो दोनों अंडकोष पर कंटकरंज के बीजो का पॉउडर लगा अरंड का पत्ता बाँध कर सो जाएं| नियमित रूप से इस नुस्खे को करने से जल्द लाभ मिलता है|

छोटी काटेरी से करें अंडकोष लटकने का घरेलू इलाज

जब किसी भी इंसान के अंडकोष में ढीलापन आ जाता है या पानी भर जाता है तो इंसान ऐसे अंडकोष की एलौपेथिक दवा का सेवन करने की बजाय अंडकोष का ढीलापन का घरेलू इलाज अपनाना ज्यादा पसंद करता है| प्राचीन समय में छोटी काटेरी को अंडकोष का ढीलापन की दवा के रूप में जाना जाता था, अंडकोष लटकने की दवा बनाने के लिए सबसे पहले आपको लगभग

10 ग्राम छोटी काटेरी की सुखी जड़ लेनी है फिर लगभग 5 ग्राम कालीमिर्च लेकर दोनों को मिलकर महीन कूट लें, जब दोनों अच्छी तरह पीस जाएं फिर एक कप पानी में इस मिश्रण को अच्छी तरह मिला लें, फिर इस मिश्रण मिले पानी को पी लेना है| इस बात का खास ख्याल रखें की अंडकोष लटकने की दवा का सेवन सुबह टॉयलेट जाने से पहले करना है आप चाहे तो इस मिश्रण को सुबह उठते ही पी सकते है, नियमित रूप से इस नुस्खे को अपनानें से जल्द लाभ मिलता है| यह तो हम सभी भली भाँती जानते ही है की देसी दवा का असर तुरंत नहीं होता है लेकिन इन दवाओं का असर स्थाई होता है|

अंडकोष का ढीलापन का इलाज है मोरवा का फल

अब हम आपको अंडकोष लटकने का ऐसा उपाए बताने जा रहे है जिसे सुनकर आपको हैरानी हो सकती है लेकिन कुछ लोगो का मानना है की इस नुस्खे से लाभ मिलता है| हालाँकि हम इस नुस्खे के बारे में यह नहीं कह सकते है की यह नुस्खा कितना लाभकारी साबित होगा लेकिन यह है की इस घरेलू नुस्खे का उपयोग करने से नुक्सान नहीं होता है| सबसे पहले मोरवा का फल लेकर किसी कपड़ें की मदद से कमर में बाँध लें, ऐसा करने से जल्द अंडकोष अपने सही आकार में आ जाते है, इस नुस्खे के बारे में और अधिक जानकारी वेध या चिकित्सक से सलाह लें|

धतूरे का पत्ते से करें अंडकोष लटकने का इलाज

धतूरे के पत्ते के बारे में तो आप सभी भली भाँती जानते ही होंगे लेकिन काफी कम इंसान जानते है की धतूरे के पत्ते से अंडकोष लटकने का इलाज भी किया जा सकता है| अंडकोष का ढीलापन का इलाज करने के लिए सबसे पहले धतूरे के ताजे पत्ते लेकर इन्हे सरसो के तेल में अच्छी तरह से भिगो लें, जब धतूरे के पत्ते तेल को अच्छी तरह से सोक लें तो इन पतों को अंडकोष पर बांध लें| नियमित रूप से रात को सोने से पहले इस नुस्खे को करने से कुछ दिनों में ही लाभ प्राप्त होता हैं|

अंडकोष का ढीलापन दूर करने की दवा | अंडकोष लटकने की देसी दवा और इलाज

चलिए अब हम आपको अंडकोष का ढीलापन दूर करने की दवा के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है, नीचे बताए जा रहे घरेलू उपाय को अपनाने से आप जल्द ढीलापन की समस्या से छुटकारा प्राप्त क्र सकते है| चलिए अब हम आपको अंडकोष का ढीलापन की दवा या अंडकोष लटकने की दवा के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है –

संतुलित आहार

किसी भी बिमारी से छुटकारा पाने के लिए जितनी दवा जरुरी होती है उतना ही खाने पीने का ख्याल रखना भी बेहद जरुरी है| अगर आप परहेज नहीं करेंगे तो बिमारी समाप्त होने की बजाय बड़ सकती है| इसीलिए अगर आप अंडकोष में ढीलापन या अंडकोष लटकने की समस्या से पीड़ित है तो आपको अधिक मसालेदार भोजन और तली भुनी चीजों का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए|

अंडकोष का ढीलापन की दवा है किशमिश

किशमिश दिखने में छोटी होती है लेकिन औषधीय गुणों से भरपूर होती है, किशमिश का सेवन हमारे शरीर के लिए काफी ज्यादा लाभकारी होता है| लेकिन कया आप जानते है की किशमिश अंडकोष को सही आकार में लाने में भी मददगार साबित होती है| नियमित रूप से उचित मात्रा में किशमिश का सेवन करने से जल्द अंडकोष अपने पुराने आकार में आने लगते है|

अंडकोष लटकने की दवा है चने का बेसन ( Gram Flour )

बेसन का सीतेमाल लगभग सभी घरो में किया जाता है, बेसन हमारे लिए काफी ज्यादा फायदेमंद माना जाता है| अंडकोष का ढीलापन की दवा बनाने के लिए सबसे पहले आप चने लेकर उनका बेसन बनवा लें, फिर उस बेसन में से लगभग दो से तीन चम्मच बेसन और आधा चम्मच शहद और बहुत थोड़ा सा पानी लेकर तीनो को अच्छी तरह मिलाते हुए गाड़ा सा लेप बना लें, ख्याल रखें लेप पतला नहीं होना चाहिए| जब गाड़ा लेप तैयार हो जाएं तो इस लेप को दोनों अंडकोष पर अच्छी तरह से लगा लें नियमित रूप से इस नुस्खे को करने से कुछ दिनों में ही अंडकोष का ढीलापन समाप्त होने लगता है|

अंडकोष का ढीलापन का रामबाण इलाज है हल्दी

शायद ही कोई घर हो जिसमे हल्दी का इस्तेमाल नहीं होता हो, हल्दी के औषधीय गुणों की वजह से हल्दी को महत्वपूर्ण जड़ी बूटी के रूप में भी जाना जाता है| हल्दी में मौजूद औषधीय गुण अंडकोष का ढीलापन, सूजन और दर्द की समस्या को समाप्त करने में सहायक होते है, सबसे पहले थोड़ा सा हल्दी पॉउडर लेकर उसमे थोड़ा सा पानी डालकर अच्छी तरह से मिला लें, जब हल्दी अच्छी तरह मिल जाएं तो इस मिश्रण को अंडकोष के प्रभावित हिस्से पर अच्छी तरह से लगा लें, फिर कुछ समय बाद अंडकोष को धो लें| नियमित रूप से अंडकोष के ढीलेपन की दवा का इस्तेमाल करने से कुछ दिनों में ही लाभ दिखाई देने लगता है|

अंडकोष लटकने की दवा है अरहर की दाल

काफी सारे इंसानो को अरहर की दाल का सेवन बहुत ज्यादा पसंद होता है या आप यह भी कह सकते है की अधिकतर इंसानो की पसंदीदा दाल अरहर की होती है| लेकिन कया आप जानते है की अरहर की दाल से अंडकोष के ढीलेपन की समस्या को समाप्त किया जा सकता है| अरहर की दाल में मौजूद औषधीय गुण अंडकोष का ढीलापन या अंडकोष में पानी भरने की समस्या को खत्म करने में मददगार होते है|

अंडकोष का ढीलापन की दवा बनाने के लिए सबसे पहले थोड़ी से अरहर की दाल को पानी में भिगो कर रात भर के लिए रख दें, फिर अगली सुबह उठ कर अरहर की दाल को पानी में से निकाल कर ग्राइंडर की मदद से अच्छी तरह से पीस कर लेप बना लें| फिर इस लेप को किसी बर्तन में निकाल लें, अब इस लेप को उसी बर्तन में या आने किसी बर्तन में हल्का सा गर्म कर लें, जब लेप गुनगुना हो जाएं तो इस गुनगुने लेप को अंडकोष पर अच्छी तरह से लगा लें, कुछ घंटो बाद अंडकोष को धो लें| अरहर की दाल के इस नुस्खे को अंडकोष का ढीलापन की रामबाण दवा या अंडकोष लटकने की बेस्ट दवा भी कह सकते है|

निष्कर्ष – हम आशा करते है की हमारे लेख अंडकोष का ढीलापन का इलाज या अंडकोष लटकने का घरेलू इलाज में दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी लेकिन किसी भी वजह से अगर आपको हमारे द्वारा जानकारी कम लग रही है तो आप गूगल या बिंग पर अंडकोष का ढीलापन का इलाज (andkosh ka dheelapan ka ilaj) या अंडकोष लटकने का घरेलू इलाज लिखकर सर्च कर सकते है|

 

error: Content is protected by DCMA !!
टाइफाइड के लक्षण (typhoid symptoms in hindi) jaldi mote hone ki 5 best homeopathic dawa